Uncategorized

‘आप’ के 16% प्रत्याशी आपराधिक पृष्ठभूमि के, लेकिन गंभीर आरोप भाजपा उम्मीदवार पर

नई दिल्ली: अपराध, भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन के बूते पैदा हुई आम आदमी पार्टी का चुनावी दौड़ में आते ही पोल खुलने लगी है। लोकसभा चुनाव में खड़े उसके कुल उम्मीदवारों में 16 फीसदी पर आपराधिक मामले हैं। उसके उम्मीदवारों में 43 फीसदी करोड़पति हैं। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफ़ॉर्म्स (एडीआर) ने अपनी एक रिपोर्ट में दी है।

Advt

हालांकि, गंभीर आरोपों वाले उम्मीदवार BJP में सबसे ज्यादा
रिपोर्ट के मुताबिक, गंभीर आपराधिक मामलों में बीजेपी के उम्मीदवार सबसे आगे हैं। उसके 36 उम्मीदवारों पर रेप और हत्या जैसे गंभीर मुकदमे दर्ज हैं, जबकि कांग्रेस के 21 और बीएसपी के 22 उम्मीदवारों पर ऐसे मामले चल रहे हैं। कुल उम्मीदवारों में से 10 प्रतिशत यानी 328 ने अपने हलफनामे में माना है कि उन पर गंभीर आपराधिक मामले हैं।

संस्था की रिपोर्ट के मुताबिक, आम आदमी पार्टी के 200 उम्मीदवारों के पास औसतन 3।09 करोड़ रुपए की संपत्ति है। पार्टी के बेंगलुरू ईस्ट से उम्मीदवार बालाकृष्णन जो पहले इंफोसिस डायरेक्टर थे, सबसे अमीर उम्मीदवारों में से एक हैं। उनके पास 189 करोड़ रुपए की संपत्ति है।

अशिक्षित उम्मीदवारों का बोलबाला
इस रिपोर्ट में कई और दिलचस्प बातें भी हैं। लोक सभा चुनाव में खड़े सभी पार्टियों के 3,305 उम्मीदवारों में से आधे भी स्नातक नहीं हैं। मेल टुडे ने उम्मीदवारों की जानकारी प्राप्त की और पाया कि कई तो अशिक्षित हैं या स्कूल में ही पढ़ाई छोड़ चुके हैं। आंकड़ों के मुताबिक 50 प्रतिशत ग्रेजुएट हैं, 45 प्रतिशत 12वीं पास या उससे कम पढ़े हैं और एक प्रतिशत तो बिल्कुल अशिक्षित हैं।

AAP उम्मीदवारों की औसत संपत्ति सबसे कम
कांग्रेस के 193 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 54।38 करोड़ रुपए है। बीजेपी के 202 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 8।55 करोड़ रुपए है जबकि आम आदमी पार्टी के 200 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3।09 करोड़ रुपए है। बीएसपी के 207 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 4।54 करोड़ रुपए है। चुनाव में खड़े सबसे अमीर उम्मीदवार नंदन निलेकणि हैं। उनके पास 7,710 करोड़ की संपत्ति है। एडीआर के मुताबिक 54 प्रतिशत उम्मीदवारों ने अपने इनकम टैक्स का विवरण नहीं दिया है। 28 प्रतिशत ने तो अपने पैन नंबर भी नहीं दिए हैं।

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button