न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आचार संहिता में उज्ज्वला योजना का मुफ्त सिलेंडर बंटवा रहे डिप्टी मेयर प्रत्याशी संजीव विजयवर्गीय

54

Subhash Shekhar

Ranchi: रांची नगर निगम के लिए डिप्‍टी मेयर पद के लिए भाजपा से पर्चा भरते ही संजीव विजयवर्गीय रेस हो गये हैं. इसी दौरान वह 23 मार्च 2018 को शाम के 4 बजे अपने आवासीय कार्यालय के पास स्थित अदिति गैस एजेंसी में उज्‍जवला योजना के तहत मुफ्त गैस वितरण समारोह में देखे गए. डिप्‍टी मेयर संजीव विजयवर्गीय नगर निगम चुनाव में भाजपा के टिकट से उपमहापौर के प्रत्‍याशी हैं. अभी नगर निकाय चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लागू है. हैरानी कि बात है कि जब तक यहां पर संजीव विजयवर्गीय नहीं पहुंचे थे, तब तक  उज्‍जवला योजना के दर्जनों लाभुक महिलाओं को उनका इंतजार कराया गया. इस दौरान गैस एजेंसी की ओर से लाभुकों और मौजूद लोगों के लिए चाय नाश्ते का भी इंतजाम था.

इसे भी देखें- रांची: लातेहार विधायक प्रकाश राम जेवीएम से निलंबित, राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग को लेकर कार्रवाई

रर

उज्ज्वला योजना के लाभुकों से मिले विजयवर्गीय

यहां उपमहापौर पद के प्रत्‍याशी संजीव वर्गीय सबसे पहले गैस एजेंसी के संचालक के चैंबर में जाकर मिले. यहां पर वह करीब 5 मिनट तक रहे. वहां से वह दोनों उन लाभुक महिलाओं के बीच पहुंचे जिन्‍हें उज्‍जवला योजना के तहत मुफ्त गैस वितरण किया जाना था. वहां पहुंचकर संजीव विजयवर्गीय ने लाभुक महिलाओं से हाथ जोड़कर बातें की. इसी दौरान उन्‍हें न्‍यूज विंग की टीम की मौजूदगी का एहसास जैसे हुआ वे फौरन उल्‍टे पांव वह वहां से खिसक गए.

इसे भी देखें- वार्ड 37 : बदहाल सड़क और नालियों से हरमू हाउसिंग कॉलोनी के लोग परेशान

विजयवर्गीय के जाते ही गैस वितरण का काम शुरू हुआ

इधर जैसे ही संजीव विजयवर्गीय वहां से चले गए गैस एजेंसी वालों ने गैस वितरण का काम शुरू कर दिया. इस क्रम में महिला लाभुकों ने बताया कि डिप्‍टी मेयर संजीव विजयवर्गीय वहां आए और हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया, बातें की और चले गये. वहीं, गैस एजेंसी के संचालक ने बताया कि संजीव विजयवर्गीय निजी कामों से वहां पहुंचे थे.

इसे भी देखें- वार्ड 38 : आवास योजना के नाम पर पार्षद और ठेकेदार ने लाभुकों से ठगे लाखों रुपये, पानी व सड़क की है बड़ी समस्या

rr

इसे भी देखें-  पलामू: तीसरे बच्चे ने रद्द करवाया प्रत्याशियों का नामांकन, 13 नोमिनेशन कैंसल

क्‍या कहती है आदर्श आचार संहिता ?

आदर्श आचार संहिता में यह स्‍पष्‍ट कहा गया है कि धमकी, वित्‍तीय या कोई प्रलोभन मतदाता को नहीं दिया जाय. साथ ही उम्मीदवारों को किसी सरकारी योजना के तहत आयोजित कार्यक्रमों से दूर रहना चाहिए, खास तौर पर ऐसे कार्यक्रमों से जिसमें लोगों को योजना का लाभ दिया जाता हो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: