न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अरुण शौरी ने चेताया, नरेंद्र मोदी का सत्ता पर कमजोर हो रहा नियंत्रण-शाह का मजबूत, देश को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी

31

NEWS WING DESK: अरुण शौरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सत्ता पर नियंत्रण कमजोर पड़ रहा है. और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की पकड़ मजबूत होती जा रही है. अगर सरकार पर नियंत्रण प्रधानमंत्री के हाथ से निकल कर अमित शाह के हाथ में चला जाता है, तो यह देश के नुकसानदेह होगा. देश को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी. पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद अरुण शौरी ने मीडिया से बात करते हुए इस तरह की बातें कहीं. उनके साथ भाजपा के नेता व पूर्व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा, सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी ममता बनर्जी से मुलाकात की. 

eidbanner

संघीय मोर्चे का बनना देशहित में जरुरी

एक सवाल के जवाब में अरुण शौरी ने पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस को संघीय मोर्चे के साथ आना चाहिए. इसमें सभी की भलाई है. अभी भाजपा जिस मोमेंटम में है, अगर उसे नहीं तोड़ा गया, तो कांग्रेस समेत देश की अन्य कई छोटी पार्टियां खत्म हो जायेंगी. अरुण शौरी ने बिहार में गठबंधन के साथ होने के राहुल के फैसले का स्वागत किया और कहा कि वन-टू-वन फॉर्मूले पर चल कर ही संघीय मोर्चा बनाया जा सकता है और इसी पर चल कर मोदी सरकार को पराजित किया जा सकता है. अगर विपक्षी पार्टियां एकजुट हो जाये, तो उन्हें 69 प्रतिशत वोट मिलेंगे और भाजपा को सिर्फ 31 प्रतिशत.

इसे भी पढ़ें: ममता मिलीं सोनिया से, कहा- देश से भाजपा को जाना चाहिए, वन टू वन मुकाबला हो  

देशहित में ममता को समर्थनः शत्रुघ्न सिन्हा

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

मीडिया से बात करते हुए भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ममता बनर्जी देशहित में बढ़िया काम कर रही है. हम भाजपा का विरोध नहीं कर रहे हैं, बल्कि देश हित में मतता बनर्जी का समर्थन कर रहे हैं और उनसे मिलने आये हैं. 

सोनिया गांधी से मिली ममता बनर्जी, संघीय मोर्चा में आने का न्योता दिया

 उल्लेखनीय है कि बुधवार को ममता बनर्जी ने सोनिया गांधी से मुलाकात कर वर्ष 2019 के चुनाव में संघीय मोर्चे के साथ आने का आग्रह किया. ताकि वन-टू-वन फॉर्मूले पर भाजपा का मुकाबला किया जाये. इसके तहत कांग्रेस क्षेत्रीय पार्टियों को मदद करे और जिसकी जहां मजबूत पकड़ है, वहां उसके नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाये. ममता बनर्जी ने दावा किया  कि अगर इस फॉर्मूले पर विपक्षी पार्टियां चुनावी मैदान में उतरती है, तो भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ेगा. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: