न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अमेरिका बना रहा है 12, 348 किमी प्रति घंटे की गति से उड़नेवाला एक्सएस-1 स्पेस प्लेन

15

Washington : ध्वनि की रफ्तार से उड़ने वाले सुपरसोनिक विमानों का जमाना अब लद रहा है. खबर है कि अमेरिकी वायु सेना ने ध्वनि की तुलना में पांच से दस गुना तेज उड़ान भरने वाले हाइपरसोनिक विमान एक्सएस-1 स्पेस प्लेन का निर्माण शुरू कर दिया है. इसकी गति 12, 348  किलोमीटर प्रति घंटे तक होगी.  यह तीन घंटे में दुनिया के किसी भी हिस्से में पहुंचने में सक्षम  होगा. यह 2019 तक बनकर तैयार हो जायेगा. इसके बाद  2020 में 12 -15 बार एक्सएस-1  के फ्लाइट टेस्ट होंगे. अमेरिकी हाइपरसोनिक विमानों की हाइपरसोनिक विमान एक्सएस-1 स्पेसप्लेन के निर्माण की इजाजत अमेरिका की डिफेंस एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी (डारपा) ने बोइंग को दे दी है. एक्सएस-1  को इस तरह डिजाइन किया जा रहा है कि यह जल्द से जल्द सैटेलाइटों को अंतरिक्ष में पहुंचा सके.  यह विमान पारंपरिक और अत्याधुनिक विमान का मिश्रण होगा.

इसे भी पढ़ें – भारत की चिंता दूर करेंगे मार्क जकरबर्ग, फेसबुक से चुनाव प्रभावित नहीं कर पायेगा कोई

इस विमान को फैंटम एक्सप्रेस भी कहा जा रहा है 

इसे फैंटम एक्सप्रेस का भी नाम दिया गया है.  इसमें एआर-22 इंजन,  जो नासा के स्पेस शटल में लगता है, लगाया जायेगा. वैज्ञानिकों के अनुसार   एक्सएस-1 अंतरिक्ष यान  1360 किलोग्राम वजन वाले सैटेलाइट को जल्द से जल्द अंतरिक्ष में पहुंचाने में सक्षम होगा.  डारपा के इन अंतरिक्ष यान की तकनीक पेंटागन के लिए तेजी से उड़ान भरने वाले युद्ध विमान बनाने में मदद करेगी.  रक्षा कंपनी लॉकहीड ध्वनि से छह गुना तेज उड़ने वाला एसआर-72 ब्लैक बर्ड विमान बना रही है.  यह अमेरिका के सेवानिवृत्त हो चुके विमान एसआर-71 की अगली पीढ़ी का विमान होगा.  इससे पूर्व ध्वनि से तीन गुना तेज उड़ान भरने वाले एसआर-71 ने 1990 के दशक में रिटायर होने से पहले रफ्तार के कई रिकार्ड तोड़े थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: