न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अमेरिका द्वारा यरूशलम को इस्राइल की राजधानी की मान्यता देने पर रूस खफा, पुतिन ने कहा : शांति को खतरा

11

News Wing

eidbanner

Moscow, 08 December : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यरूशलम को इस्राइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले से ‘‘बहुत चिंतित’’ हैं. क्रेमलिन ने आज यह बयान जारी किया है. तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयब आर्दोआन के साथ फोन पर हुई बातचीत में पुतिन ने फलस्तीन और इस्राइल के लोगों से धीरज रखने और वार्ता फिर से शुरू करने को कहा.

पश्चिम एशिया में शांति के संभावित रास्ते अवरूद्ध होंगे : क्रेमलिन

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के इस कदम पर क्रेमलिन का कहना है, ‘‘इस तरह के कदमों से पश्चिम एशिया में शांति के संभावित रास्ते अवरूद्ध होंगे.’’ ट्रंप की इस घोषणा ने पवित्र शहर के दर्जे पर अमेरिका की सात दशक पुरानी अस्पष्टता को खत्म कर दिया है.

यह भी पढ़ें: चीनी सेना का दावा: उसके वायुक्षेत्र में घुसा भारतीय ड्रोन

यरूशलम पर अपना दावा करते हैं इस्राइल और फलस्तीन

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

mi banner add

गौरतलब है कि इस्राइल और फलस्तीन दोनों ही यरूशलम पर अपना दावा करते हैं. इससे पहले रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि यरूशलम को इस्राइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने का ट्रंप का फैसला इस्राइल-फलस्तीन के तनावपूर्ण संबंधों को और खराब स्थिति में ले जाएगा तथा सुरक्षा के लिए और खतरा बढ़ेगा. मंत्रालय ने एक बयान में कहा था ‘‘वाशिंगटन में घोषित फैसले को मास्को गंभीर चिंता के साथ देखता है.’’ बयान में आगे कहा गया है कि मास्को सभी पक्षों से संयम बरतने तथा ऐसी किसी भी कार्रवाई से बचने का आह्वान करता है जिसके खतरनाक और ऐसे नतीजे हों जिन्हें नियंत्रित नहीं किया जा सके.

यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र राजदूत ने की उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री से मुलाकात

यरूशलम पर ट्रंप के फैसले का फलस्तीनियों ने किया विरोध

यरूशलम को इस्राइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विवादित फैसले के बीच, सैकड़ों फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों की आज पश्चिमी तट में इस्राइली जवानों से झड़पें हुईं जबकि गाजा में कार्यकर्ताओं ने ट्रंप के पोस्टर जलाए. गाजा का प्रशासन चला रहे उग्रवादी संगठन हमास के नेता ने बड़े पैमाने पर गुस्से का इजहार करने के लिए नये सैन्य आंदोलन का आह्वान किया. प्रदर्शनकारियों ने अमेरिकी और इस्राइली झंडे भी जलाए. पश्चिमी तट में प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने टायरों में आग लगा दी और इस्राइली जवानों पर पथराव किया. बेथलहम में जवानों ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले छोड़े.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: