न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अमेरिका : एरिया 51 एक रहस्यमय सैन्‍य इलाका, जो दुनिया के नक्शे में भी नहीं 

79

Washington : अमेरिका में एरिया 51 एक ऐसा शब्द है, जो पूरी दुनिया के लिए तो रहस्य है ही, अमेरिकियों के लिए भी यह रहस्य है. यह एक ऐसी जगह हैजिसके बारे में पूरी दुनिया को किसी भी तरह की जानकारी नहीं है. अमेरिकी नागरिक इसे एलियंस से जोड़कर देखते हैं. एरिया 51 एक सैन्य मिलिटरी इलाका हैजो अमेरिकी शहर लास वेगास से 80 मील उत्तर-पश्चिम में स्थित है.  यह इलाका अक्सर चर्चा का केंद्र बना रहता है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि यहां दूसरे ग्रहों से आये एलियनों के ऊपर शोध कार्य किया जाता है,  कई लोगों ने तो यहां तक दावा किया है कि उन्होंने कई बार अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट (यूएफओ) को वहां उड़ते देखा है.  

eidbanner

इसे भी पढ़ें: क्या आकाश देव कहलाने वाले एलियंस 10,000 साल पहले धरती पर उतरे थे

एलियन चार फुट का थाअनगढ़ मानव जैसा दिखता था

1947 में किये गये एक दावे के अनुसार  इस जगह पर एक यूएफओ दुर्घटनाग्रस्त हुआ था.  जिसमें से एक एलियन का शव भी बरामद हुआ था. ये एलियन चार फुट का था और अनगढ़ मानव जैसा दिखता था,  कहा जाता है कि एरिया 51 के किसी हिस्से में अब भी उस पर शोध चल रहा है. इस जगह के बारे में इतनी गोपनीयता बरती गयी है कि अमेरिकी सरकार के किसी नक्शे तक में इसकी कोई जानकारी नहीं है.  कई साल पहले जब एक नक्शे में इसे दिखाया गया थातो तुरंत उस नक्शे को बदलकर दूसरा नक्शा लाया गया था.

 

ोोोो

 

इसे भी पढ़ें: जब 1968 में लद्दाख, सिक्किम, भूटान और नेपाल में छह बार उड़न तश्तरी आकाश में मंडरायी

अमेरिकी सरकार नहीं चाहती कि एरिया 51 के बारे में कोई जाने

अमेरिकी सरकार कभी नहीं चाहती कि एरिया 51 के बारे में किसी को पता चले. कुछ लोगों का दावा है कि नासा के वैज्ञानिक भी यहां काम करते हैं.  वो लगातार एलियंस से संपर्क साधने की कोशिश कर रहे हैं.  उनके विमानों पर शोध कर रहे हैं और एलियंस का दिमाग पढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. एरिया 51 एक ऐसा स्थान है जो जहां आम आदमियों के जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंधित है.  इस इलाके के चारों ओर बाड़ लगायी गयी है,  ताकि कोई जानवर और इंसान गलती से या धोखे से अंदर नहीं घुस सके. बाड़ के चारों ओर अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षाकर्मी घूमते रहते हैं.  इस जगह पर ग्रूम नाम की एक झील है,  जिसके बारे में गूगल मैप तक पर भी जानकारी उपलब्ध नहीं है.  इस झील से सटा हुए एक रन वे बना हुआ हैं.

 

्ुिुु

 

इसे भी पढ़ें: नासा की खोज : अंतरिक्ष में एक साल रहे, तो शक्ल-सूरत बदल जायेगी 

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

यहां सात रन-वे हैंजिससे खुफिया विमान उड़ान भरते रहते हैं 

यहां कुल सात रन-वे हैं.  जिससे खुफिया विमान उड़ान भरते रहते हैं.  खबरों के अनुसार 1950 के शुरुआती दौर में कुछ उड़तस्तरियों को अमेरिकी आसमान में उड़ते पाया गया था, जिसके बाद इसके लिए एक अलग खुफिया प्रोजेक्ट शुरू किया गया था.  इस नये प्रोजेक्ट को प्रोजेक्ट ब्लू बुक और कई अन्य नामों से जाना जाता हैजिसे सीआईए के निर्देशों के बाद शुरू किया गया था.  यह इतना खुफिया प्रोजेक्ट था कि इसकी जानकारी बेहद की खास लोगों और इससे जुड़े अधिकारियों को ही थी.  जब एरिया 51 को परीक्षण क्षेत्र के तौर पर चुना गया तो एक 8,500 फीट लंबे रनवे के निर्माण की जरूरत हुई.  इस निर्माण की ओर किसी ध्यान न जाये इसलिए इसका निर्माण कार्य केवल रात के अंधेरे में किया जाता था.  कुछ खबरों के अनुसार  यहां एलियनों की इजीनियरिंग पर शोध किया जाता है. 

 

ि्ेिे्ि

 

इसे भी पढ़ें: अप्रैल में धरती पर गिरने वाला है चीन का 8000 किलो वजनी स्पेस स्टेशन,  जद में भारत भी आयेगा

कैद करके रखा गया है यहां एलियनों को

कुछ तथ्यों के अनुसार एरिया 51 में कई एलियनों को कैद करके रखा गया हैजिन पर शोध किया जाता है. माना जाता है कि इस जगह पर परमाणु बमों के धमाके भी किये गये हैंजो परीक्षण स्वरूप थे. अमेरिका में हुए एक शोध के अनुसार लगभग 57 फीसदी लोग एलियन और उड़नतस्तरियों के वजूद को सच मानते हैं. इस इलाके के ऊपर से किसी विमान को उड़ने की इजाजत नहीं है. अगर कोई ऐसा करता भी है तो एयर ट्रैफिक कंट्रोल उसे तुरंत चेतावनी देकर तुरंत अपना रास्ता बदलने को कहता है. अगर फिर भी ऐसा नहीं होता तो अमेरिकी वायुसेना उस पर कार्रवाई करती है.

े्ोे्ोे्

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: