न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अपनी घोषणाओं का पलान करे सरकार नहीं तो बंद हो जायेगी डिग्री कालेजों की पढ़ाई : डिग्री महाविद्यालय महासंघ

42

NEWSWING

Ranchi, 13 December : सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ संबंध डिग्री महाविद्यालय महासंघ ने बिरसा चौक पर बुधवार को धरना प्रदर्शन किया. महासंघ ने सरकार को चेतवानी दी कि सरकार अपने वादे को पूरा करे, नहीं तो फरवरी से डिग्री कालेजों में पढ़ाई बंद कर दी जायेगी. सरकार ने पिछले विधानसभा चुनाव में अपने घोषणापत्र में वित्त रहित शिक्षा नीति समाप्त करने का आश्वासन दिया था. साथ ही भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी ने भी इस संबंध में डिग्री कॉलेज को अंगीभूत करने की घोषणा की थी, जो कि आज तक पूरी नहीं की जा सकी. 23 दिसंबर 2011 को विधान सभा में भी सरकार ने घोषणा की थी कि वित्तीय वर्ष 2012-13 से सभी स्थायी संबंध डिग्री कॉलेजों को अंगीभूत किया जायेगा, साथ ही घाटानुदान किया जायेगा जो आज तक पूरा नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें : बाराबंकी में जमीन पर कब्जा हटाने गईं आईएएस से भिड़ीं सांसद, कहा- जीना मुश्किल कर दूंगी

भाजपा थमा रही आश्वासन का झुनझुना

उच्च शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने पिछले एक वर्ष से अनेकों बार महासंघ के प्रतिनिधि के समक्ष कहा था कि वर्ष 2017-18 से स्थाई संबद्धता डिग्री कॉलेज को अंगीभूत या घाटा अनुदान करेंगे. लेकिन अभी तक इस काम के लिए संचिका को पूर्ण नहीं किया जा सका है. सरकार इस विषय को सिर्फ टालने का काम कर रही है. वहीं भाजपा आश्वासन का झुनझुना थमाने का काम कर रही है.

सरकार पर से उठ गया महासंघ का भरोसा

बिरसा चौक में आयोजित धरना में महासंघ के पदाधिकारीयों ने भाजपा सरकार के वादाखिलाफी पर जम कर भड़ास निकाला. धरना में राज्य के पांच विश्वविद्यालयों के 58 डिग्री कालेज के प्रतिनिधी शामिल थे. धरना में शामिल लोगों ने कहा कि महांसघ का सरकार पर से अब भरोसा उठ गया है. फरवरी 2018 से सभी संबंध डिग्री कॉलेजों में पठन-पाठन अनिश्चित कालीन तक बंद करेगी. अपनी मांग और ओदोलन को जारी रखते हुये दिल्ली भाजपा के राष्ट्रीय कार्यालय एवं लोकसभा के समक्ष धरना प्रदर्शन करेगी. ताकि देश भर में भाजपा और इनके सरकार द्वारा की जा रही वादाखिलाफी को सामने लाया जा सके.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: