JharkhandLead NewsRanchi

अनलॉक झारखंडः स्कूलों में कम पहुंचे बच्चे, बंद रहे सिनेमाघर, पार्क व स्विमिंग पूल

Ranchi : झारखंड में लॉकडाउन के दौरान बंद रहे स्कूल पार्क, सिनेमाघर और स्विमिंग पूल को कुछ शर्तों के साथ सोमवार से खोलने की अनुमति दी गयी थी.

लेकिन व्यवस्था दुरुस्त नहीं रहने के कारण कई चीजें पहले दिन ही प्रभावित रहीं. आठवीं, 9वीं और 11वीं की कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल और कॉलेज तो खुल गये, लेकिन पहले दिन उपस्थिति काफी कम रही.

आंकड़ों को देखें तो करीब 35% से भी कम छात्र स्कूल पहुंचे. इसके साथ साथ खिलाड़ियों के लिए स्विमिंग पूल भी नहीं खुल पाये. अधिकतर सिनेमाघरों और निगम के पार्कों को भी खोलने की तैयारी थी, पर यह तैयारी भी धरी की धरी रह गयी. सिनेमाघरों में सिर्फ सुजाता थिएटर ही खुल पाया जहां दूसरे पहर से फिल्में दिखायी जानी लगीं.

शहर के कई पार्क इसलिए भी नहीं खुल सके क्योंकि प्रशासन की तरफ से उन्हें कोई लिखित निर्देश नहीं दिया गया था. जबकि सभी प्रबंधकों ने 2 दिन पहले से ही साफ-सफाई करनी शुरू कर दी थी और सोमवार से पार्क खोलने को लेकर पूरी तरह से तैयार थे.

दूसरी ओर मल्टीप्लेक्स इसलिए भी नहीं खोले गये क्योंकि अभी कोई नयी फिल्म रिलीज नहीं हुई है. आईलेक्स के प्रोपराइटर अजीत चौधरी ने बताया कि कभी कोई मूवी नहीं है जिसे चलायी जा सके. हालांकि उन्होंने कहा 5 मार्च या 11 मार्च को खोलने की तैयारी है.

इस वक्त उम्मीद जतायी जा रही है कि कोई अच्छी फिल्म चलायी जायेगी ताकि दर्शकों को वह पसंद आये. बहरहाल मल्टीप्लेक्स प्रबंधन की ओर से कोविड-19 गाइडलाइन का पालन कर साफ-सफाई की व्यवस्था पूरी कर ली गयी है. यही स्थिति शहर के विभिन्न मल्टीप्लेक्स व अन्य थियेटरों का भी है जो अगले सप्ताह से ही चालू करने का दावा कर रहे हैं.

इसे पढ़ें :गढ़वा: झामुमो छात्र संघ के जिला अध्यक्ष के घर फायरिंग, पिस्टल लहरा कर दी गयी जान से मारने की धमकी

नहीं चलीं निजी स्कूल की 8वीं 9वीं व 11वीं की कक्षाएं

निजी स्कूलों में आठवीं, नौवीं और 11वीं की वार्षिक ऑनलाइन परीक्षा चल रही है या तो कई स्कूलों में समाप्त भी हो चुकी है. इस वजह से निजी स्कूल अब अगले सत्र से ही खोले जायेंगे.

जबकि सरकारी स्कूल इन कक्षाओं के लिए सोमवार से कोविड गाइडलाइन इनके अनुसार खोल दिये गये हैं. बच्चे अभिभावकों से सहमति पत्र लेकर पहुंचे और उन्हें कक्षाओं में भी सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार बैठाया गया. स्कूलों में थर्मल स्कैनिंग के बाद ही बच्चों को प्रवेश दिया गया. वहीं, कुछ स्कूलों में छात्र नहीं आये.

स्कूलों के साथ-साथ सोमवार से आइटीआइ, कौशल विकास केंद्र और कोचिंग भी शुरू हो गयी. इन संस्थानों को कंटेनमेंट जोन के बाहर ही खोला गया. बता दें कि राज्य में 10वीं और 12वीं के स्कूल 21 दिसंबर को ही खुल गये थे.

होटवार स्थित खेलगांव में सुबह से खिलाड़ियों का प्रवेश बंद था. स्विमिंग के लिए आये खिलाड़ियों को यह कह कर लौटा दिया गया कि अभी पूल में पानी नहीं भरा गया है. पूल सूखा है, समय लग सकता है.

सब हो जाने के बाद सूचना दी जायेगी. इसके बाद क़रीब एक वर्ष से इंतज़ार कर रहे खिलाड़ियों को एक बार फिर मायूस होना पड़ा.

इसे पढ़ें :स्लम एरिया के बच्चों का बचपन संवारेंगे रिटायर्ड आइएएस राजीव कुमार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: