Skip to content Skip to navigation

आमजन की अभिव्यक्ति है ‘आप’, मगर.. - दीपांकर भट्टाचार्य

रांची: न्यूज विंग (साप्ताहिक) का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक की कवर स्टोरी भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य का इंटरव्यू। दीपांकर भट्टाचार्य मानते हैं कि आज देश की कुव्यवस्था से लोगों का जो मोहभंग हो रहा है उसकी एक अभिव्यक्ति है ‘आप’। साथ ही, वह जोड़ते हैं ‘..लेकिन,

सुशासन का सपना: झारखंड से शुरू हुआ 'सुराज मंच'

रांचीं: देश में सुशासन को लेकर जो आंधी चली है उसको लेकर कई नए नए प्रयोग भी देखे जा रहे हैं। इसी क्रम में झारखंड से शुरू हुआ है 'सुराज मंच'। मंच के संयोजक पी के सिद्धार्थ कहते हैं, सुशासन अर्थात गुड गवर्नेन्स की शुरूआत के राजनीति से करने की जरूरत है। इसी नजरिये से उनका सुराज मंच आनेवाले चुनावों मे

न्‍यूज विंग का झारखंड वर्षगांठ 'विशेषांक' बुकस्टॉल पर

रांची: 'न्यूज विंग' साप्ताहिक का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। यह अंक झारखंड के 14वें स्थापना दिवस पर एक विशेषांक है। गणमान्य बुद्धिजीवी, पत्रकारों ने झारखंड के 13 साल बीतने पर अपने विचार आलेखों के रूप में पेश किया है।..

न्यूज विंग का नया अंक बुक स्टॉल पर..

न्यूज विंग साप्ताहिक समाचार पत्र का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच गया है। झारखंड की टेट परीक्षा में भोजपुरी व मगही भाषा के माध्यम से पास हुए परीक्षाथियों की नियुक्ति को लेकर शिक्षा मंत्री ने जांच का सवाल उठा दिया। दरअसल, मंत्री का मानना है कि जब भोजपुर और मगही को राज्य सरकार ने भाषा के रूप में मान्य

न्यूज विंग का नया अंक बुक स्टॉल पर

रांची: न्यूज विंग का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक में, झारखंड के प्रथम मुख्यमंत्री बाबुलाल मरांडी से खास बातचीत एवं अन्य स्थाहयी स्तंभ.. ईपेपर पर पढ़ने के लिए नीचे क्लिक करें। विजेट दिखाई न दें तो पेज को एक बार रिफ्रेश कर लें..

न्यूज विंग का नया अंक : पशुपालन घोटाला का पर्दाफाश '96 में नहीं 1992 में ही हो चुका था

न्यूज विंग साप्ताहिक समाचारपत्र का नया अंक (2-39-40) बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक का मुख्य‍ आलेख पशुपालन घोटाला के एक और आयाम को उजागर कर रहा है। एक संस्मरण : पशुपालन घोटाला का पर्दाफाश 1996 में नहीं, 1992 में ही हो चुका था। .. साथ् में अन्य खबरें व स्थायी स्तंभ।

झारखंड के लोकायुक्त् ‍ की व्यंथा..

'न्यू़ज विंग' साप्ताहिक समाचारपत्र का नया अंक (2/38) बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक की आमुख रपट है: 'नख-दंत विहीन है झारखंड का लोकायुक्त'। यह हम नहीं, स्वयं यहां के वर्तमान लोकायुक्त अमरेश्वर सहाय बता रहे हैं अपनी व्यथा। उन्होने इस बाबत न्यूज विंग संपादक किसलय से लंबी बातचीत की। आप भी पढि़ये.

न्यूज विंग साप्ताहिक का 37 वां (वर्ष 2) अंक बुक स्टॉल पर

न्यूज विंग साप्ताहिक का 37 वां (वर्ष 2) अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। झारखंड राजद के अध्यनक्ष गिरिनाथ सिंह ने एक विशेष भेंट में न्यूफज विंग से बातचीत में कहा कि 'झारखंड में माफिया सरकार बनाते और बिगाड़ते हैं'। पढि़ये पूरा इंटरव्यू ईपेपर में (नीचे)..

'बढता साइबर क्राइम.. क्या तैयार हैं हम!' न्यूज विंग साप्ताहिक की कवर स्टोरी

रांची: न्यूज विंग साप्ताहिक के इस अंक की कवर स्टोरी है, बढता साइबर क्राइम.. क्या तैयार हैं हम! इसके अलावा व्यू फाइंडर में इस बार 'रांची एक्सप्रेस' अखबार समूह के एमडी विजय मारू की राय झारखंड की हेमंत सरकार पर!.. बाबुलाल मरांडी ने एक बार फिर चुनाव के लिए कम कसी.. अन्य स्थायी स्तंभ!

झारखंड के 'डि फैक्‍टो' चीफ मिनिस्‍टर के नाम पैगाम!

रांची: न्‍यूज विंग साप्‍ताहिक समाचार पत्र का 30वां (वर्ष 2) अंक बुक स्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक में एक खास स्‍तंभ शुरू किया गया है, 'व्‍यू फाइंडर'। इस स्‍तंभ की पहली कड़ी पढि़ये: एक संदेश 'डि फैक्‍टो' चीफ मिनिस्‍टर के नाम!' लिखा है झारखंड के जानेमाने उद्योगपति महेश पोद्दार ने। इसके अलावा..

Pages

Comment Box