Skip to content Skip to navigation

निशाने पर महुआ: मामला महिला आयोग की गरिमा पर संकट का

रांची: झारखंड महिला आयोग की अध्यक्ष महुआ माजी इन दिनों झारखंड सरकार के निशाने पर है। महुआ पर आरोप है कि वह अपनी राजनीति चमकाने में लगी हुई है जिससे महिला आयोग की गरिमा पर दाग लग रहा है। न्यूज विंग का यह अंक इसी प्रसंग पर केंद्रीत है। साथ में कई और खबरें और स्थायी स्तंभ।

भ्रष्‍टाचार पर कितनी गंभीर सरकार

रांची: न्‍यूज विंग का नया अंक बुक स्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक का कवर स्‍टोरी है भ्रष्‍टाचार। झारखंड की रघुवर सरकार ने भ्रष्‍टाचार मिटाने की घोषणाएं की हैं, जनसभाओं से लेकर पार्टी घोषणापत्र तक में। अब तक क्‍या कर पायी है, हमारे विशेष संवाददाता ने झारखंड के लोकायुक्‍त और विजिलेंस एडीजी से बातची

'निगम' के प्रोमोशन में हड़बड़ी हुई?

न्यूज विंग का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। यह अंक वन विभाग के पीसीसीएफ बी सी निगम की प्रोन्नति के विवादों को फोकस करते हुए हालात समझने की चेष्टा है। साथ में अन्य स्थायी स्तंभ भी।

इस अंक का ईपेपर देखने के लिए नीचे/रिफ्रेश करें:

मोदी क्‍या हैं, क्‍या होगा मोदी का.. बता रहे हैं अम्‍बुजी

रांची: न्‍यूज विंग (साप्‍ताहिक समाचारपत्र) का नया अंक बुक स्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक में देश के वरिष्‍ठ पत्रकार और राजनीतिक समीक्षा श्री अम्बिकानंद सहाय (अम्‍बुजी) का लंबा साक्षात्‍कार प्रकाशित किया गया है। श्री सहाय ने मोदी और मोदी शासन की गहरी समीक्षा की है। इसके अलावा अन्‍य खबरें व स्‍थाय

मोदी क्‍या हैं, क्‍या होगा मोदी का.. बता रहे हैं अम्‍बुजी

रांची: न्‍यूज विंग (साप्‍ताहिक समाचारपत्र) का नया अंक बुक स्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक में देश के वरिष्‍ठ पत्रकार और राजनीतिक समीक्षा श्री अम्बिकानंद सहाय (अम्‍बुजी) का लंबा साक्षात्‍कार प्रकाशित किया गया है। श्री सहाय ने मोदी और मोदी शासन की गहरी समीक्षा की है। इसके अलावा अन्‍य खबरें व स्‍थाय

झारखंड से मानव तस्‍करी जारी है

रांची: न्‍यूज विंग (साप्‍ताहिक समाचारपत्र) का नया अंक (20-26 फरबरी 2015) बुकस्‍टॉल पर पहुंच चुका है।
इस अंक का ईपेपर नीचे देखें..

बाबुलाल ने भाजपा व संघ को कोसा, लड़ेंगे लड़ाई

रांची: न्‍यूज विंग (साप्‍ताहिक समाचारपत्र) का नया अंक बुकस्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक में मुख्‍य आलेख है बाबुलाल मरांडी से न्‍यूज विंग की खास बातचीत। साथ में अन्‍य खबरें, आलेख व स्‍थायी स्‍तंभ।
इस अंक को ईपेपर में पढ़ने के लिए नीचे क्लिक करें..

पहचान लीजिए मानव तस्करों के चेहरे!

रांची: न्यूज विंग का नया अंक बुक स्टॉल पर पहुंच चुका है। पिछले अंक से हम झारखंड से मानव तस्करी की घटनाओं पर एक श्रंृख्ला चला रहे हैं। इस अंक की कवर स्टोरी भी मानव तस्करी पर केंद्रीत है। इसके अलावा अन्य स्थायी स्तंभ और खबरें भी हैं। पूरा अंक ईपेपर में देखने के लिए नीचे ईपेपर खोलें।

कम नहीं हो रही झारखंड में मानव तस्‍करी

रांची: न्‍यूज विंग साप्‍ताहिक समाचारपत्र का नया अंक (अंक 04/वर्ष 04) बुक स्‍टॉल पर पहुंच चुका है। इस अंक की कवर स्‍टोरी है, झारखंड के ग्रामीण इलाकों से युवतियों की तस्‍करी पर दर्दनाक कथा। झारखंड में व्‍याप्‍त मानव तस्‍करी पर न्‍यूज विंग ने एक श्रृंखला शुरू की है। यह उसका पहला अंक है।

Pages

loading...

Comment Box