पंजाब: बाबा साहेब की जयंती पर भड़की हिंसा, फगवाड़ा में दो की मौत, 6 घायल

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/14/2018 - 16:18

NewDelhi: भारतीय संविधान के जनक बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की आज 127वीं जयंती के मौके पर देश भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं. इस दौरान पंजाब के फगवाड़ा में हिंसा की ख़बर सामने आई है. जहां दो गुटों में हुई गोलीबारी में दो की मौत हो गयी जबकि 6 लोग घायल हैं. उधर, गुजरात में एक बीजेपी सांसद को बाबासाहब अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने से रोक दिया गया. जिसके बाद दलित नेता जिग्नेश मेवानी के कुछ समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जबकि वडोदरा में केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और अन्य बीजेपी नेताओं ने अंबेडकर की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि देने के बाद दलित समुदाय के कुछ लोगों ने अंबेडकर की प्रतिमा को दूध और पानी से साफ किया. एक दलित नेता ने कहा कि बीजेपी नेताओं की उपस्थिति ने अंबेडकर की प्रतिमा और पूरे वातावरण को प्रदूषित कर दिया था.

इसे भी पढ़ें:बाबा साहेब आंबेडकर द्वारा 25 नवम्बर 1949 को संविधान सभा का काम पूरा होने पर दिये गये भाषण का अंश

फगवाड़ा में दो की मौत

पंजाब के कपूरथला जिले के फगवाड़ा में पेपर चौक पर संविधान स्थल पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति लगी है. शुक्रवार देर रात यहां किसी ने अफवाह फैला दी कि कुछ लोग वहां तोड़फोड़ कर रहे हैं. ये अफवाह आग की तरह फैल गई और भारी संख्या में दलित समुदाय के लोग जमा हो गए. वही दूसरी तरफ से कुछ हिंदूवादी संगठनों के लोग भी आ गए. इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच अचानक पत्थरबाजी शुरू हो गई. जो बाद में गोलीबारी में बदल गई. दोनों तरफ से फायरिंग हुई, जिसमें दो लोगों को गोली लग गई. जबकि 6 अन्य लोग घायल हो गए. इस दौरान कई वाहनों में भी तोड़-फोड़ की गई. इधर, शनिवार की सुबह कुछ बीजेपी के कुछ नेताओं ने संविधान स्थल की तरफ जाने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया. पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद हालात को काबू में किया. इलाके में अब कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं.

गुजरात में भी हंगामा

िसलु

बाबा साहेब की जयंती पर अक्सर राजनीतिक दल अपना दलित प्रेम दिखाने की कोशिश करते हैं. वही दूसरी ओर इस मौके पर दलित समुदाय मोदी सरकार के खिलाफ अपना विरोध जाहिर करने से नहीं चूका. मामला गुजरात का है. एक बीजेपी सांसद को बाबासाहब अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने से रोक दिया गया. जिसके बाद जिग्नेश के कुछ समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. इधर साथ अहमदाबाद में बाबासाहब अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे बीजेपी नेताओं को विरोध का सामना करना पड़ा.

इसे भी पढ़ेंपलामू: 127वीं जयंती पर याद किए गए बाबा साहेब

प्रतिमा का दूध से स्नान

rnjkm,

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी और  बीजेपी के कुछ नेताओं ने वडोदरा में बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया था. उनके चले जाने के बाद दलित नेताओं ने प्रतिमा को पानी और दूध से शुद्ध किया. मेनका के साथ बीजेपी सांसद रंजन बेन भट्ट और विधायक योगेश पटेल भी श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे. जीईबी सर्कल इलाके में दलित समुदाय ने बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी भी की. दूध से स्नान कराने पर दलित नेताओं ने कहा कि वो अंबेडकर की प्रतिमा को शुद्ध कर रहे हैं.

गृह मंत्रालय ने किया था अलर्ट

अंबेडकर जयंती के अवसर पर सभी राजनीतिक दल दलितों को रिझाने की कोशिश में लगे हैं. इसी के चलते गृह मंत्रालय इस मौके पर किसी भी तरह के जातीय और सियासी बवाल को रोकने के लिए अलर्ट जारी किया है. जहां भी जयंती पर आयोजन किए जा रहे हैं, वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किए जाने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही सभी राज्य सरकारों को गृह मंत्रालय की तरफ से सर्तक रहने को भी कहा गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
loading...
Loading...