Jharkhand Vidhansabha ElectionMain Slider

#Jharkhand_election जानिये पहले चरण की 13 सीटों पर किस पार्टी और किस उम्मीदवार की क्या है स्थिति

Kumar Gaurav

Jharkhand Rai

Ranchi:  झारखंड विधानसभा के लिए पहले चरण का चुनाव 30 नवंबर को होगा. प्रत्याशियों की अंतिम सूची भी तैयार हो चुकी है. प्रत्याशी अब दमखम के साथ अपने चुनावी प्रचार में जुटे हैं. सभी पार्टियों के दिग्गज भी चुनावी अभियान में जुट गये हैं.

पहले चरण में कुल 13 विधानसभा सीटों पर 30 नवंबर को मतदान होना है. इन 13 सीटों में कुल 190 उम्मीदवार मैदान में हैं और 28 दिग्ग्जों की किस्मत दावं पर है. आइये जानते हैं, किस सीट पर किस उम्मीदवार की क्या है स्थितिः

चतरा

चतरा सीट में सबसे कम 9 उम्मीदवार मैदान में हैं. भाजपा ने इस बार जर्नादन पासवान को टिकट दिया है. पार्टी ने वर्तमान विधायक जयप्रकाश सिंह भोक्ता का टिकट काट कर मैदान में चतरा के पूर्व विधायक जर्नादन पासवान को टिकट दिया है.

Samford

इनका मुकाबला महागठबंधन के राजद उम्मीदवार सत्यानंद भोक्ता से है. जेवीएम के तिलेश्वर राम भी इन दोनों को कड़ी टक्कर देंगे. पिछली बार सत्यानंद भोक्ता को 49169 वोट मिले थे. वहीं जर्नादन पासवान 2009 में राजद की टिकट पर विधायक बने थे. इसके अलावा पिछली बार भाजपा को चतरा सीट पर कुल 69744 वोट पड़े थे.

दोनों समीकरण को देखा जाये तो जर्नादन पासवान के पक्ष में स्थितियां तो हैं, पर सत्यानंद भोक्ता और जेवीएम के तिलेश्वर राम से इन्हें कड़ी टक्कर देंगे.

इसे भी पढ़ेंः #JharkhandElection: भाजपा प्रत्याशी सत्येंद्र तिवारी के नाम पर स्वीकृत बोलेरो से 29.98 लाख रुपये बरामद

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा जर्नादन पासवान
जेवीएम तिलेश्वर राम
राजद सत्यानंद भोक्ता

 

हुसैनाबाद

भाजपा ने इस सीट पर उम्मीदवार नहीं उतारा है. लेकिन निर्दलीय उम्मीदवार बिनोद कुमार सिंह को समर्थन दिया है. वहीं वर्तमान विधायक शिवपूजन कुशवाहा मेहता अपनी पुरानी पार्टी छोड़कर आजसू से चुनावी मैदान में हैं. एनसीपी के दिग्गज नेता कमलेश कुमार सिंह और राजद के संजय यादव भी मैदान में हैं.

इस सीट पर कहना बहुत मुश्किल है कि जीत किसकी होगी. शिवपूजन ने क्षेत्र में काफी मेहनत की है. कमलेश सिंह और महागठबंध के संजय यादव उनको जोरदार टक्कर देंगे. वहीं भाजपा के समर्थन से ख़ड़े बिनोद कुमार सिंह ने भी मुकाबले को चतुष्कोणिय बना दिया है.

इसे भी पढ़ेंः #Maharashtra: महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर सोनिया गांधी ने भी साधी चुप्पी, कहा- नो कमेंट्स

पार्टी उम्मीदवार
निदर्लीय विनोद कुमार सिंह
आजसू शिवपूजन कुशवाहा
एनसीपी कमलेश सिंह
राजद संजय यादव

 

छत्तरपुर

छत्तरपूर इस बार भाजपा के लिए प्रतिष्ठा वाली सीट साबित हो रही है. वर्तमान विधायक राधाकृष्ण के स्थान पर पुष्पा देवी को टिकट दिया है. जिसके बाद राधाकृष्ण किशोर ने आजसू के टिकट पर नामांकन किया है. पुष्पा देवी और राधाकृष्ण किशोर के अलावा इस सीट से राजद उम्मीदवार विजय कुमार भी दंभ भर रहे हैं. इस सीट पर त्रिकोणिय संघर्ष देखा जा सकता है.

पिछले चुनाव में राधाकृष्ण किशोर को कुल मतों के 30.62 फीसदी वोट मिले थे. राधाकृष्ण पिछले तीस सालों से इस सीट पर सक्रिय हैं. वहीं पहली बार चुनाव लड़ रही पुष्पा देवी को भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ने से सीट पर रोमांच बढ़ गया है.

वहीं महागठबंधन के राजद उम्मीदवार विजय कुमार ने मुकाबले को बेहद कड़ा बना दिया है. जेवीएम के धर्मेंद्र बादल को कम आंकना भी बड़ी भूल हो सकती है.

पार्टी उम्मीदवार
आजसू राधाकृष्ण किशोर
भाजपा पुष्पा देवी
राजद विजय कुमार
जेवीएम धर्मेंद्र बादल

 

लोहरदगा

भाजपा, आजसू और कांग्रेस के बीच त्रिकोणिय संघर्ष देखने को मिल सकता है. पिछले दो विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और आजसू के बीच बेहद कड़ी टक्कर देखने को मिली है. यह आमतौर पर आजसू की सीट मानी जाती है और कांग्रेस भी इस सीट पर मजबूत ही रही है.

पिछले दो चुनावों में जीत का अंतर 1000 से भी कम का रहा है. पर कांग्रेस के उम्मीदवार सुखदेव भगत ने पाला बदल लिया है. और अब भाजपा के टिकट से चुनावी मैदान में हैं. वहीं सुखदेव भगत को कांग्रेस से मिलने वाला वोट अगर रामेश्वर उरांव की तरफ जाता है तो मुकाबला त्रिकोणिय हो सकता है.

हालांकि कमल किशोर भगत के उपचुनाव के दौरान फील्ड में नहीं होने का फायदा सुखदेव भगत को मिला था. पर इसबार कमल किशोर भगत क्षेत्र में हैं और अपनी पत्नी के लिए जमकर प्रचार कर रहे हैं. लोहरदगा के 2009 के चुनाव में दोनों उम्मीदवारों का 35 हजार के करीब और 2014 में 56 हजार के आसपास वोट पड़े थे जीत का अंतर बहुत ही कम था.

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा सुखदेव भगत
आजसू नीरु शांती भगत
कांग्रेस रामेश्वर उरांव

 

भवनाथपूर

इस विधानसभा चुनाव में इस सीट की चर्चा बहुत हुई है. वजह भाजपा ने भ्रष्टाचार के आरोपी और वर्तमान विधायक भानूप्रताप शाही हो टिकट दिया है. इससे पहले भानू नौजवान संघर्ष मोर्चा के विधायक थे. हाल ही में उन्होंने पार्टी ज्वाइन की है.

वहीं बगावत कर निर्दलीय चुनावी मैदान में अनंत प्रताप देव और कांग्रेस के केपी यादव ने मुकाबले को त्रिकोणिय बना दिया है. भानू प्रताप और अनंत प्रताप देव के बीच पिछले चुनाव में महज 2661 वोटों का अंतर था. और अनंत प्रताप देव इस बार भी मुकाबले को कड़ा करेंगे.

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा भानूप्रताप शाही
कांग्रेस केपी यादव
निर्दलीय अनंत प्रताप देव
जेवीएम विजय केशरी

 

गढ़वा

गढ़वा विधानसभा क्षेत्र में सीधा मुकाबला देखने को मिल सकता है. पिछले दो बार के भाजपा विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी इस बार भी चुनावी मैदान में है. वहीं जेएमएम के मिथलेश ठाकुर को महागठबंधन के उम्मीदवार होने का फायदा मिल सकता है. यहां के नतीजे बहुत अधिक हैरान करने वाले नहीं होंगे.

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा सत्येंद्र तिवारी
जेएमएम मिथलेश ठाकुर
जेवीएम सुरज गुप्ता

 

इन सीटों पर होगा सीधा मुकाबला

 विश्रामपुर

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा रामचंद्र चंद्रवंशी
जेवीएम अंजू सिंह
कंग्रेस ददई दुबे

 

डालटनगंज

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा आलोक चैरसिया
कंग्रेस केएन त्रिपाठी
जेवीएम राहुल अग्रवाल

 

पांकी

भाजपा शशिभूषण मेहता
कांग्रेस बिट्टू सिंह
जेवीएम रुद्र शुक्ला

 

मणिका

भाजपा रघुपाल सिंह मुंडा
कांग्रेस रामचंद्र सिंह
जेवीएम राजपाल सिंह

 

गुमला

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा मिशिर कुजूर
जेएमएम भूषण तिर्की

 

बिशुनपूर

पार्टी उम्मीदवार
भाजपा अशोक उरांव
जेएमएम चमरा लिंडा
जेवीएम महात्मा उरांव

 

इसे भी पढ़ेंः #Ranchi: बुंडू में पुलिस ने फॉर्च्यूनर गाड़ी से दो लाख रुपये बरामद किये, मामले की जांच जारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: