Skip to content Skip to navigation

Sci & Tech

Articles on Science & Technology

आकाशगंगा में नए तारे की पहचान हुई

लंदन: खगोलविदों के एक दल ने आकाश गंगा में एक नए तारे की पहचान की है, जो धरती से 11,000 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है। इससे हमें यह समझने में मदद मिलेगी कि अंतरिक्ष में ज्यादातर विशाल तारे किस प्रकार बने। इस युवा तारे का द्रव्यमान पहले से ही हमारे सूर्य का करीब 30 गुणा है और इसका आकार बढ़ता जा रहा है।

स्मार्टफोन सेंसर बताएगा दीवार के अंदर क्या है

जेरूसलम: इजरायल की एक थ्री-डी सेंसर इमेजिंग कंपनी ने एक ऐसे उपकरण का निर्माण किया है, जो आपके घर की दीवारों के अंदर छिपी चीजों के बारे में बता सकता है। वेबसाइट 'पॉपुलर मैकेनिज्म डॉट कॉम' की रपट के अनुसार, एक नया उपकरण और एप 'वालाबोट डीआईवाई' के जरिए आप दीवारों के अंदर के तार, पाइप, प्लास्टिक की व

भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 2020 तक 73 करोड़

नई दिल्ली: भारत में 2020 तक 73 करोड़ लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे होंगे। इसका इस्तेमाल अतिथि सत्कार, ई-कॉमर्स, और वित्तीय प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में बढ़ जाएगा। एक नई रपट में बुधवार को इसका खुलासा किया गया। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की शीर्ष संस्था नैसकॉम और नेटवर्क सेवा सामग्री प्रदाता अक

चीन ने समुद्र पर निगरानी के लिए गाओफेन-3 उपग्रह लॉन्च किया

बीजिंग: चीन ने बुधवार को एक नए हाई रिजोल्यूशन सिंथेटिक एपर्चर राडार (एसएआर) इमैजिंग उपग्रह को उत्तरी शांक्सी प्रांत से लॉन्च किया। चीन ने दक्षिण चीन सागर विवाद को लेकर समुद्री अधिकारों के संरक्षण के लिए यह उपग्रह लॉन्च किया है।

NASA ने रॉकेट बूस्टर परीक्षण का वीडियो जारी किया

न्यूयार्क: अमेरिका की अंतरिक्ष एंजेसी नासा ने एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली है। नासा ने एक नए कैमरे की मदद से अत्यधिक धीमी रफ्तार में रॉकेट मोटर परीक्षण करता हुआ एक वीडिया जारी किया है। वेबसाइट 'स्पेस डॉट कॉम' की रविवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इस वीडियो में अमेरिकी कंपनी ऑर्बिटल एटीके द्वार

शोधकर्ताओं ने मिर्गी रोकने में मददगार नई दवा बनायी

न्यूयॉर्क: शोधकर्ताओं के एक दल ने एक ऐसे न्यूरोप्रोटेक्टिव कंपाउड को विकसित करने में सफलता हासिल कर ली है जिसकी मदद से मनुष्यों में मिर्गी को पनपने से रोका जा सकेगा। मिर्गी की बीमारी में मस्तिष्क के नर्व सेल की कार्यप्रणाली ध्वस्त हो जाती है जिससे दौरे पड़ने लगते हैं।

जीन को निष्क्रिय कर रोका जा सकेगा दमा का खतरा

लंदन: दमा से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। वैज्ञानिकों ने एक ऐसे जीन का पता लगाया है, जो दमा रोग के लिए जिम्मेदार है और उसे निष्क्रिय कर फेफड़े की इस गंभीर बीमारी को रोका जा सकता है। एक शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने एडीएएम33 जीन के प्रभाव का विश्लेषण किया, जो दमा के विकास से जुड़ा है।

Pages

Subscribe to RSS - Sci & Tech

लॉस एंजेलिस: सोशलाइट पेरिस हिल्टन फिलहाल टीवी शो 'द लेफ्टलवर्स' के अभिनेता क्रिस जिल्का के साथ रू...

लंदन: मॉडल ऐबी क्लेंसी का कहना है कि जवां त्वचा के लिए वह सांप का जहर इस्तेमाल करती हैं।

...

चंडीगढ़: पंजाब सरकार नवजोत सिंह सिद्धू के अमरिदर सरकार में मंत्री बनने के बाद टीवी कॉमेडी शो में...

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मान्यता प्राप्त प्रशिक्षकों को अत्याधुनिक प...

Comment Box