Skip to content Skip to navigation

Interview

Interviews of Different Personalities

पार्टी ने कहा तो तैयार है पीएम पद की उम्मीदवारी के लिए: राहुल गांधी

नई दिल्ली: राहुल गांधी ने परोक्ष रूप से कह दिया है कि यदि उन्हें कांग्रेस पार्टी प्रधानमंत्री पद की जिम्मेदारी देती है, तो वह इसका निर्वहन करने के लिए तैयार हैं। इसी के साथ उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि उनकी बहन प्रियंका वाड्रा के चुनावी राजनीति में उतरने की कोई संभावना नहीं है।

Share

अब देश को चाहिए नई चुनाव प्रणाली, जनता ही चुने पीएम सीएमः बाबूलाल मरांडी

झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी मानते हैं कि जनता हमेशा बेहतर विकल्प के इंतजार में रही है। अच्छे लोग उसकी समस्याओं के लिए सड़क पर आयें तो जनता साथ देती है। गांधी, जेपी, वीपी से लेकर अब ‘आप’ का उदय इसी बात को फिर से प्रमाणित कर रहा है। भाजपा से अलग होकर झारखंड में झाविमो (झारखंड विकास मोर्चा) बनानेव

Share

योगेंद्र यादव होंगे हरियाणा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार : कुमार विश्वास

नई दिल्ली: दिल्ली में सरकार बनाने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) की नजर अब हरियाणा विधानसभा चुनाव पर है, जहां पार्टी अपने विचारक योगेंद्र यादव को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बनाएगी। पार्टी नेता कुमार विश्वास ने यह जानकारी दी। विश्वास खुद लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी में

Share

क्षेत्रीय दलों से मुक्ति पाइये!

(इंटरव्यू : झारखंड भाजपा अध्यक्ष डा रवीन्द्र राय)

- अलग अलग दलों से जुटे असंतुष्टों का जमावड़ा बाबुलाल की पार्टी झाविमो,

- नाकामियां छिपाने का (स्थापना) ‘पखवारा’,

- हक डीसी, बीडीओ का, मंत्री मुख्यमंत्री बांट रहे परिसंपत्तियां!

Share

बाहरी भाषाओं का अतिक्रमण अब बर्दास्त नहीं!

" जहां इनका (भोजुपुरी और मगही) उदगम स्थल है, बिहार, जो कभी उत्तरी बिहार कहा जाता था.. आजतक वहीं इनको सरकारी स्तर पर कोई मान्यता नहीं मिली.. वहां इस आधार पर अभी तक कोई नियुक्ति नहीं हुई, न ऐसा कोई पाठ्यक्रम है वहां.. तो फिर झारखंड में किस सोच के तहत इसे टेट में शामिल कर लिया गया?! "

Share

झारखंड मेरे लिए एक लैबोरेट्री, अवसर मिला तो देश को देंगे मॉडेल

झाविमो (झारखंड विकास मोर्चा) आनेवाले चुनावों के लिए कमर कस चुकी है। अपने दम खम पर चुनाव लड़ने की मंशा है। पार्टी सुप्रीमो बाबुलाल मरांडी दो टूक कहते हैं, हम गैरभाजपा और गैरकांग्रेस के हिमायती हैं। इन दोनों दलों से न राज्य का भला होगा और न देश का। वैसे, मरांडी अपनी पूरी राजनीति प्रदेश में केंद्रीत कर रहे हैं। वह कहते हैं, झारखंड मेरे लिए जनसमस्याओं के समाधान की एक लैबोरेट्री है। मैं खुद को इसका एक साइन्टिस्ट मानता हूं।

Share

'मैं झारखंड को कुछ देने आया हूं, लेने नहीं।'

झारखंड में ‘नथवाणी’ अब कोई नया नाम नहीं है। राज्यसभा सांसद बनने के बाद, पांच वर्षों में आपने अपने नाम को स्थापित कर दिया है। आपके बारे में कई तरह की बातें आती रहती हैं। हम सबकुछ आपकी जुबान से सुनना चाहते हैं और वही लोगों को बताना भी चाहते हैं.. आज आप सबसे बड़ा उद्यम घराना, अंबानी ग्रूप से जुड़े हैं। क्या आपका पारिवारिक इतिहास भी धनाढ़्य घराने का रहा है?

Share

यह सब राजनीतिकों की ओर से 'डिवाईड एंड रूल' है केवल! - कार्डिनल टोप्‍पो

यह कुछ राजनीतिकों का खेल है.. डिवाईड एंड रूल.. आखिर चुनाव जो सामने है!

Share

‘जांच होनी चाहिए लेकिन मानवीय पहलुओं की अनदेखी न हो’

साक्षात्कार : राज्य अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन डा शाहिद अख्तर से न्‍यूज विंग की खास बातचीत।
आतंकी मानचित्र पर रांची और झारखंड का नाम आना चिंता की बात है। और यह धब्बा जब किसी खास अल्पसंख्यक समुदाय पर लगे तो यह सवाल उठना लाजिमी हैः संस्थाएं, मशीनरी, संगठन क्या कर रहे हैं? इस घटना को लेकर कितना गंभीर हैं ये लोग। न्यूज विंग ने इसी सवाल को लेकर झारखंड राज्य अल्पसंख्यक आयोग के युवा चेयरमैन डा शाहिद अख्तर से लंबी बातचीत की। पेश है उस बातचीत के प्रमुख अंश।

Share

कांग्रेस बताए, जेल में बंद विधायकों से क्‍या डील हुई इस राज्‍यसभा चुनाव में- बाबूलाल मरांडी

|| बाबूलाल मरांडी से किसलय की की बातचीत ||
निर्णय में दूरदर्शिता और व्‍यवहार अडिग, नेता के कद को पहचान देती है। झारखंड के पहले मुख्‍यमंत्री रहे झाविमो सु्प्रीमो बाबूलाल मरांडी भी अडि़यल हैं। अड़ गए और 2003 में, भाजपा छोड़ा तो छोड़ दिया। अपनी पार्टी बनायी। आज झाविमो के पास 11 विधायक और 2 सांसद हैं। कहते हैं, बात वसूल की है। इसे अपनी बेबाकी का आधार मानते हैं। लेकिन याद कीजिए, डोमिसाइल का बवंडर, कितनी मुश्किल से थमा था। आज भी सीएनटी पर अपनी अलग राय से नहीं चूकते। अबतक इनके निशाने पर भाजपा थी। अब कांग्रेस भी है। और इस बार प्रेस-मीडिया भी। बातचीत में दावा करते हैं कि अभी चुनाव हो जाए तो सरकार इनकी होगी। तो चलिए इस दावे की थाह लेते हैं मरांडी जी की इस लंबी बातचीत में:-

Share

शीर्ष पुलिस अफसरों से नाखुश डीएन गौतम छोड़ेंगे झारखंड

झारखंड सरकार के सुरक्षा सलाहकार डा डी एन गौतम ने पद छोड़ने का मन बना लिया है. 29 फरबरी को वह इस्‍तीफा दे देंगे. उन्‍होंने आज एक विभागीय बैठक में इस बाबत घोषणा करते हुए सहकर्मियों से विदा ली. खबर है कि मुख्‍यमंत्री अर्जुन मुंडा के साथ उनकी फाइनल बातचीत अभी बाकी है. लेकिन, इस पत्रकार से बातचीत में डा गौतम इस बार मानने के मूड में नहीं दिखे.

Share

वंचित वर्ग की लड़कियों की बात नहीं करते नारीवादी : मृणाल

नई दिल्ली, 21 फरवरी | शहरों में भारतीय नारीत्व के विचारों में बदलाव आया है। अब महिलाओं के लिए 'पॉवर मॉम' जैसे विशेषण इस्तेमाल किए जाने लगे हैं। अब तक पुरुषों के गढ़ रहे क्षेत्रों में महिलाएं प्रवेश करने लगी हैं, लेकिन आज भी इन शहरी महिलाओं और ग्रामीण महिलाओं के बीच बातचीत के दरवाजे बंद हैं। यह कहना है प्रख्यात पत्रकार और लेखिका मृणाल पांडे का।

Share

भारतीय शिक्षा में लचीलेपन की आवश्यकता : श्रीनिवास

नई दिल्ली, 22 जनवरी | भारतीय मूल के अमेरिकी विशेषज्ञ श्रीनिवास वर्धन का मानना है कि भारतीय शिक्षा प्रणाली में लचीलापन नहीं हो पाने के कारण यहां अच्छे गणितज्ञों की कमी है।

Share

भारत से आध्यात्मिकता को खत्म नहीं किया जा सकता : अमेरिकन गुरु

पुणे, 1 जनवरी | आध्यात्मिकता भारत की जड़ों में इस कदर बसी है और उसे यहां से कभी खत्म नहीं किया जा सकता। यह कहना है क्रिया योग और सनातन धर्म के प्रसार में छह दर्शकों का समय गुजार चुके प्रमुख अमेरिकी योग गुरु स्वामी क्रियानंद का।

Share

हिमाचल में हम लोकायुक्त को सशक्त बनाएंगे : धूमल

शिमला, 30 दिसम्बर | हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने प्रभावी लोकायुक्त व्यवस्था के साथ राज्य को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि इस संस्था को अधिक प्रभावी बनाने के लिए वह अन्ना हजारे तथा उनके सहयोगियों से सुझावों के लिए उनके सम्पर्क में हैं।

Share

आर्थिक अपराध ही भ्रष्टाचार की जड़ : अभयानंद

पटना, 22 दिसम्बर | बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अभयानंद का मानना है कि आर्थिक अपराध ही भ्रष्टाचार की जड़ है। यदि इस पर लगाम लग जाए तो कई चीजें स्वत: ठीक हो जाएंगी।

Share

झारखंड की इंस्टीट्यूशनल मेमोरी तार-तार

|| डीएन गौतम से विशेष बातचीत || झारखंड पुलिस में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा. सवाल दक्षता पर नहीं, लेकिन महकमा लुंज-पुंज दिखाई देने लगे तो सांगठनिक क्षमता पर उंगली उठेगी. जहां मातहत हवलदार की गुहार लगाती विधवा अफ़सरों के दर पर सालों भटकती रहे, वहां बेचारी जनता की दशा का अंदाजा लगाइए.

Share

हम नंबर वन होंगे, बशर्ते..

|| जी के पिल्लई, (सीएमडी, एचईसी) से किसलय की बातचीत ||
दस साल में, बदहाली, ढुलमुल राजनीति, कुशासन, भ्रष्टाचार, जनµधन की बंदरबांट झारखंड की पहचान बन गयी है. ऐसा पहले नहीं था। इलाका उपेक्षित जरूर था लेकिन यह हाहाकार नहीं था. याद कीजिए, जब इस इलाके की पहचान एचईसी से होती थी. 1958 में स्थापित उन संस्थानों में से एक जिसने जवाहर लाल को युगद्रष्टा की उपाधि दिलायी थी.

Share

10 रूपये में हरिश्चन्द्र नहीं मिलने वाला.!

|| डा मुंडा से किसलय की बातचीत ||
राज्यसभा सांसद डा रामदयाल मुंडा को लोग राजनेता कम, शिक्षाविद् और झारखंड-मर्मज्ञ के रूप में अधिक जानते हैं. 14 साल अमेरिका में प्रोफेसर रह चुके सत्तर वर्षीय डा मुंडा आज भी टिपिकल आदिवासी सी सरलता और बेबाकी के लिये जाने जाते हैं. स्थानीय लोक संस्कृति और संगीत की चर्चा होते ही मुंडा केवल एक भावुक गंवई आदिवासी नजर आते हैं.

Share

Pages

Subscribe to RSS - Interview

News Wing
Mumbai, 19 August: बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा ने डिजाइनर जोड़ी शेन और फाल्गुन...

News Wing
Dambulla (Srilanka), 20 August: भारत तथा श्रीलंका की क्रिकेट टीमों के बीच पांच मै...

News Wing
Mumbai, 20 August: 'हैप्पी भाग जाएगी' रिलीज होने का एक वर्ष पूरा होने के बाद फिल्...

News Wing
Ranchi, 18 August: अगर आप बरसात के मौसम को खूब पसंद करती हैं, लेकिन इस मौसम में प...