khas khabar

बकोरिया कांड का सच-07ः कथित मुठभेड़ स्थल पलामू में, मुठभेड़ करने वाला सीआरपीएफ लातेहार का और लातेहार एसपी को सूचना ही नहीं

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 12/20/2017 - 11:57

Ranchi: आठ जून 2015 को पलामू के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में हुए कथित मुठभेड़ में 12 लोगों के मारे जाने की घटना नए तथ्य सामने आए हैं. नया तथ्य यह है कि मुठभेड़ पलामू जिला के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में हुआ और मुठभेड़ करने वाली पुलिस की टीम में लातेहार जिला के मणिका में तैनात सीआरपीएफ की टीम थी. वह भी तब जब इस बात की जानकारी लातेहार के तत्कालीन एसपी को थी ही नहीं.  इस तथ्य ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं. जब मणिका में तैनात सीआरपीएफ अभियान में गयी थी, तो उसके साथ पलामू के सतबरवा थाना की पुलिस टीम क्या कर रही थी. मणिका थाना की पुलिस क्यों नहीं थी.

गुमला के वनक्षेत्र में हो रहा अवैध खनन, हिंडाल्को के कारनामे पर वन विभाग बना धृतराष्ट्र (देखें वीडियो)

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 12/19/2017 - 18:31

Pravin Kumar, Gumla : गुमला जिले में हिंडाल्को दशकों से बॉक्साइट का खनन करता आ रहा है. जिस इलाके में खनन कार्य किया जाता है, वहां के लोगों की जीवनशैली ही बदल जाती है. परेशानी का सबब कुछ ऐसा है कि किसी से अपनी पीड़ा कह भी नहीं सकते. स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि खनन से पहले उनलोगों का जीवन बेहतर था. खनन शुरू होने के बाद इलाके का विकास तो नहीं हुआ, हां विनाश जरूर हो रहा है. आज इलाके के लोग टीबी जैसी बिमारी का दंश झेलने को मजबूर हैं.

20 दिसंबर को नक्सलियोंं का बिहार-झारखंड बंद, पुलिस अलर्ट

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 12/18/2017 - 19:31

बिहार-झारखंड : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माअोवादी के नक्सलियों ने 20 दिसंबर को बिहार-झारखंड बंद आहूत किया है. बंद 19 दिसंबर की आधी रात से शुरु होकर 20 जनवरी की रात 12 बजे तक प्रभावी रहेगा.  इस बाबत संगठन के बिहार-झारखंड स्पेशल एऱिया कमेटी के सचिव सूरज ने एक प्रेस बयान जारी किया है, जिसके मुताबिक अॉपरेशन ग्रीन हंट और मिशन-2017 के तहत जनता पर थोपा गया बर्बर युद्ध अभियान के खिलाफ में 18 व 19 दिसंबर को बिहार-झारखंड में संगठन दो दिवसीय विरोध के रुप में मनायेगा.

मुख्य सचिव राजबाला मुश्किल में, आधार से राशन कार्ड जोड़ने का आदेश मामले में UIDAI ने दिया जांच कर कार्रवाई का निर्देश

Publisher ADMIN DatePublished Sat, 12/16/2017 - 13:33

Ranchi: राज्य के मुख्य सचिव राजबाला वर्मा की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. भूख से हुई मौत के मामले में उनके स्तर से दिए गए एक आदेश पर यूनिक आइडेंटिफिकेशन अॉथोरिटी अॉफ इंडिया (UIDAI) ने जांच करने और कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. अॉथोरिटी के असिस्टेंट डाइरेक्टर जेनरल हिमांशु कुमार लाल ने राज्य के खाद्य आपूर्ति विभाग के प्रधान सचिव को पत्र लिख कर जांच करने और कार्रवाई करने का आदेश दिया है. कहा है कि यूआइडीएआइ के अधिनियम की धारा सात के मुताबिक आधार कार्ड नहीं रहने पर किसी व्यक्ति को किसी भी तरह के सरकारी लाभ से वंचित नहीं किया जा सकता है.

loading...
Loading...