khas khabar

रिम्स का कैथलैब खराब, लोगों को दी जा रही सलाह- पैसे का मोह छोड़िये, जान बचानी है तो जाइये दूसरे अस्पताल

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 18:54

Saurabh Shukla

Ranchi : रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग में इनदिनों लोगों का इलाज नहीं हो रहा है. यहां पहुंचने वाले मरीजों को सिर्फ सलाह दी जा रही है. उन्हें समझाया जाता है कि पैसे के मोह माया को छोड़िये, जान बचानी है तो दूसरे अस्पताल की शरण लें. कार्डियो विभाग में बड़ी संख्या में भर्ती मरीजों का पलायन हो चुका है.

दारोगा को पत्रकार की धमकी : हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद गिरफ्तार पत्रकार को थाने से ही दे दिया बेल, वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा- पुलिस ने गलत किया

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 18:29

Ranchi/Pakur : पाकुड़ मुफस्सिल थाना में दिन भर हाईवोल्टेज ड्रामा देखने को मिला. 23 अप्रैल को पत्रकार कार्तिक रजक ने थाना प्रभारी संतोष कुमार को 24 घंटे के अंदर ट्रांस्फर करा देने की धमकी दी थी. 24 अप्रैल को थाना प्रभारी ने एसपी से इस मामले में शिकायत की. एसपी ने 25 अप्रैल को मामले में उचित कार्रवाई करने का निर्देष दिया. 27 अप्रैल की सुबह सात बजे केस के आईओ मोहन दास ने पत्रकार कार्तिक रजक को अरेस्ट किया और थाना ले आए. पत्रकार के थाना आते ही शुरू हुआ पुलिस अधिकारियों के बीच हाई वोल्टेड ड्रामा.

बढ़ गया बिजली का टैरिफ, शहर में प्रति यूनिट 3 रु. के बदले 5.50 रु. व गांव में 1.25 रु की जगह 4.40 रु प्रति यूनिट देना होगा, इंडस्ट्री की बिजली दर नहीं बढ़ी

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 18:15

Ranchi : लंबी बहस के बाद झारखंड राज्‍य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली का नया टैरिफ का ऐलान कर दिया है. नये टैरिफ में ग्रामीण घरेलू उपभोक्‍ताओं का खर्च साढ़े तीन गुणा से अधिक हुआ है. शहरी घरेलू उपभोक्‍ताओं के लिए टैरिफ 3 रुपये से बढ़ाकर 5.50 रुपये कर दिया गया है. वहीं दूसरी ओर नियामक आयोग ने इंडस्‍ट्रीयल उपभोक्‍ताओं को बिजली बिल में बड़ी छूट और रियायत दी है. शहरी कमर्शियल के एनडीएस-3 कैटेगरी में 6.80 रुपये से घटाकर 6 रुपये कर दी गई है, जबकि ग्रामीण कमर्शियल की टैरिफ 2.20 रुपये से बढ़ाकर 5.25 रुपये की गयी है.

हटिया डैम से नहीं मिलेगा रांचीवासियों को पानी, स्मार्ट सिटी व ग्रेटर रांची को होगी जलापूर्ति

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 14:55

Subhash Shekhar

Ranchi : आने वाले दो तीन सालों में रांचीवासी पानी के लिए तरसेंगे. रांची शहर में अभी कांके डैम, रुक्‍का डैम और हटिया डैम से वाटर सप्‍लाई होती है. गर्मियों में यहां वाटर लेवल कम होने की वहज से अक्‍सर जल-संकट की स्थिति रहती है. इस बीच झारखंड सरकार रांचीवासियों को मिलने वाले हटिया डैम के पानी को महत्‍वाकांक्षी योजना स्‍मार्ट सिटी और ग्रेटर रांची को मुहैया कराने की तैयारी कर रहा है.

न ऑफिस, न गाड़ी, ना स्टाफ का इंतजाम, बना दिया एससी आयोग

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 14:43
Ranchi : झारखंड में लम्बे समय से अनुसूचित जाति के लिए राज्य आयोग बनाने की मांग की जा रही थी. रघुवर सरकार आयोग के गठन को लेकर घोषणा पहले भी कर चुकी थी. 31 जनवरी 2018 को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गुरूनानक स्कूल परिसर में संत रविदास जंयती पर आयोजित महोत्सव में कहा था कि एक माह के अंदर अनुसूचित जाति आयोग का गठन कर दिया जाएगा. बाकायदा इसके लिए अध्यादेश लाकर गठन किया जाएगा. मुख्यमंत्री की घोषणा को 24 अप्रैल 2018 को आधे-अधूरे रूप में पूरा किया गया. जबकि इस संबंध में राज्य सरकार ने अनुसूचित जातियों के लिए राज्य आयोग के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी 20 फरवरी को ही दे दी थी.

झारखंड सरकार के सूचना एवं जन संपर्क विभाग के Whatsapp ग्रुप से सांप्रदायिक वीडियो प्रसारित

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/23/2018 - 10:27

Ranchi : झारखंड सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा नफरत फैलाने वाली सामग्री प्रसारित करने का मंच उपलब्ध कराने का एक और मामला सामने आया है. साइबर क्राइम तथा आईटी एक्ट के अंतर्गत ऐसी पोस्ट भेजने वाले सदस्य तथा एडमिन के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है.  लेकिन जब सरकार द्वारा संचालित WhatsApp ग्रुप में ही धार्मिक और जातीय नफरत वाली सामग्री आती हो, तब उसके खिलाफ कार्रवाई कौन करेगा ?

बच्चियों से रेप पर मौत की सजा वाले अध्यादेश को राष्ट्रपति ने किया मंजूर, 12 साल से दुष्कर्म पर फांसी और 16 साल से कम की लड़की से रेप पर 20 वर्ष की सजा

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 04/22/2018 - 12:30

New Delhi : केंद्र सरकार की ओर से बच्चियों से रेप के मामले (पॉक्सो ऐक्ट) में संशोधन को लेकर लाये गये अध्यादेश को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दे दी है. नये अध्यादेश के मुताबिक 12 साल से कम उम्र के मासूमों से रेप करने के दोषियों को मौत की सजा दी जाएगी. 16 साल से कम उम्र की लड़की से रेप करनेवाले की न्यूनतम सजा को 10 साल से बढ़ाकर 20 साल किया गया है.