Skip to content Skip to navigation

Offbeat

Off Beat Stories

रोजाना शराब पीने से त्वचा कैंसर बढ़ने का खतरा

न्यूयॉर्क, 2 अगस्त : ज्यादा शराब पीने वाले व्यक्तियों में नॉन मेलोनोमा त्वचा कैंसर के होने का खतरा बढ़ जाता है.

Share

32 वर्षों के बाद होगा बंद पेंट

वाशिंगटन 2 अगस्त : माइक्रोसॉफ्ट अपने अगले विंडोज 10 अपडेट में कई नये फीचर्स शामिल करने जा रही है. इन फीचर्स को ऑटम क्रिएटर अपडेट कहा गया है. परंतु इसके साथ ही विंडोज बंद करने जा रहा है लंबे समय से चले आ रहे अपने लोकप्रिय सेग्मेंट माइक्रोसॉफ्ट पेंट को.

Share

72 देशों में अपराध है समलैंगिक संबंध : रिपोर्ट

लंदन, 30 जुलाई : दुनिया के 72 देशों समलैंगिक संबंध अभी भी अपराध की श्रेणी में हैं. इनमें से 45 देशों में महिलाओं के बीच के यौन संबंधों को गैर कानूनी करार दिया गया है. एक रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है.

Share

12वीं पास मॉडल पर आया था मारुति के फाउंडर का दिल, आज है केंद्रीय मंत्री

मधुर भंडारकर की फिल्म 'इंदू सरकार' शुक्रवार को रिलीज हुई. फिल्म में इंदिरा गांधी और उनके छोटे बेटे संजय गांधी के किरदार दिखाए गए हैं..

12वीं पास मॉडल पर हुए थे फिदा...

Share

सड़क पार करते वक्त भी बॉस के कॉल का जवाब देते हैं 18 प्रतिशत भारतीय

- दोपहयिा वाहन चलाते वक्त 60 प्रतिशत लोग करते हैं फोन का इस्तेमाल
- 14 प्रतिशत भारतीय सड़क पार करते वक्त सेल्फी लेते हैं.

Share

मानसून में रखें इन बातों का ख्याल

नई दिल्ली, 18 जुलाई : मानसून के दौरान कई तरह की त्वचा संबंधी या फिर सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों का भी अंदेशा बना रहता है. ऐसे में कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

Share

निठारी गांव का वह घर, जिसके पास से गुजरने से लगता है डर

नई दिल्ली : नोएडा के सेक्टर 31 के ब्लाक डी में एक घर है जिसे लोग भूत बंगला कहते हैं. यह घर चारों तरफ से झाड़ियों से घिरा हुआ है और कोई भी इसके आस-पास तक नहीं भटकता. एक बार कुछ कूड़ा बीनने वाले लड़के अंदर गए.

Share

लिव-इन में रहे 4 दशक, अब रचाया ब्याह

टीकमगढ़: बुंदेलखंड को देश और दुनिया के लोग भले ही पिछड़ा मानते हों, मगर यहां के लोग कई मामलों में दुनिया से आगे हैं। अब देखिए न, समाज अभी बमुश्किल एक दशक से लिव-इन (बिना शादी साथ रहना) की चर्चा करने लगा है, मगर टीकमगढ़ जिले में तो एक जोड़ा बीते चार दशक से बिना ब्याह के साथ रह रहा था। उनके बेटों स

Share

ज्यादातर डॉक्टर रहते हैं तनाव में : आईएमए सर्वेक्षण

नई दिल्ली: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के द्वारा हाल में कराए गए अखिल भारतीय सर्वेक्षण से उजागर हुआ है कि करीब 82.7 प्रतिशत चिकित्सक अपने काम को लेकर तनाव में रहते हैं। एक ओर जहां, 46.3 प्रतिशत डॉक्टरों को हिंसा के कारण तनाव रहता है, वहीं 24.2 प्रतिशत को मुकदमे का डर सताता है। 13.7 प्रतिशत डॉक

Share

दिल्‍ली के जंतर मंतर सहित देश के कई शहरों में प्रदर्शन: सांप्रदायिक विद्वेष के खिलाफ

रांची: देश के एक दर्जन शहरों में बुधवार शाम आम लोग इकठ्ठा हुए। नेता और पार्टी नहीं, केवल आम लोग जो देश भर में फैल रहे नफरत के माहौल से चिंतित हैं। इस आयोजन का एक ही नाम दिया गया : Not in my name.. देखिये इस आयो‍जन की कुछ झलकियां।

Share

राष्ट्रपति पद के लिए दलित उम्मीदवार : प्रतीकवाद जीता

इस मुकाबले का नतीजा सबको पता है। भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के लिए जो समर्थन जुटाया है, उसके जरिए वह आसानी से अपनी मंजिल राष्ट्रपति भवन पहुंच जाएंगे।

Share

बुजुर्गो के जीवन में खुशियां बिखेरने में जुटे हैं डॉ. प्रसून

नई दिल्ली: भारतीय समाज में बुजुर्गो को हमेशा सम्मान की नजरों से देखा गया है। उनसे एक मार्गदर्शक और परिवार के मुखिया के तौर पर हर तरह की सलाह ली जाती रही है, लेकिन आधुनिक समाज में ये परंपराएं धीरे-धीरे खत्म होती जा रही हैं और इसका असर बुजुर्गो के साथ ही समाज पर भी पड़ रहा है। यह कहना है गैर सरकारी

Share

नेशनल हेराल्ड से उम्मीद जगी

अख़बारों का काम ख़बरों और विचारों को जन मानस तक पहुंचाना होता है. सूचनाओं के इसी प्रसार-प्रचार को पत्रकारिता कहा जाता है. किसी ज़माने में मुनादी के ज़रिये हुकमरान अपनी बात अवाम तक पहुंचाते थे. लोकगीतों के ज़रिये भी हुकुमत के फ़ैसलों की ख़बरें अवाम तक पहुंचाई जाती थीं.

Share

किसान आंदोलन नेताओं के बहकावे पर नहीं होते

नई दिल्ली: देश में किसानों का गुस्सा उबाल पर है, तमिलनाडु, महाराष्ट्र के बाद अब मध्यप्रदेश के किसान सड़कों पर हैं और अपनी फसलों के वाजिब दाम पाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। इन किसान आंदोलनों को राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा है, लेकिन किसान संगठनों का दो टूक जवाब है कि किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहे

Share

लोकतंत्र, समाज को स्वतंत्र प्रेस की जरूरत : अंसारी

बेंगलुरू: भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में पत्रकारों की भूमिका का स्मरण करते हुए उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने सोमवार को यहां कहा कि लोकतंत्र व समाज को स्वतंत्र प्रेस की जरूरत होती है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रेस ने लोगों को शिक्षित, संतुष्ट तथा संगठित करने में अहम भूमिका निभाई है।

Share

सरसों का तेल दिल के लिए लाभकारी

नई दिल्ली: आवश्यक वसा अम्ल और प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट्स के आदर्श अनुपात वाला सरसों का तेल स्वास्थ्यवर्धक खाद्य तेलों में से एक है, जो दिल के लिए बेहद लाभकारी हो सकता है।

Share

2021 तक भारतीय मीडिया, मनोरंजन कारोबार 2,91,000 करोड़ रुपये का होगा

नई दिल्ली: देश के मनोरंजन और मीडिया क्षेत्र के साल 2021 तक 2,91,000 करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार तक पहुंचने तक उम्मीद है और इसकी साल 2017-21 के बीच वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) 10.5 फीसदी होगी। प्राइसवाटरहाउसकूपर्स की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। इसमें बताया गया कि टीवी सब्सक्रिप्शन राजस्व 2

Share

पर्यावरण अनदेखी का खामियाजा भुगतने को रहें तैयार

पर्यावरण को विकृत व दूषित करने वाली समस्त स्थितियों तथा कारणों के लिए हम मानव उत्तरदायी हैं। हताशा बढ़ती जनसंख्या की आवास तथा बेकारी की समस्या को दूर करने के लिए जंगलों, हरे-भरे खेतों, बाग-बगीचों को काटा जा रहा है। नगरों महानगरों में गंदगी का ढेर बन गया है। बड़े-बड़े कल-कारखानों की चिमनियों से नि

Share

चीन में 1,000 साल से लुप्त मंदिर की खोज

बीजिंग: चीन के चेंग्दू शहर में पुरातत्वविदों ने करीब 1,000 साल से लुप्त एक मंदिर की खोज की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, खोजे गए फुगान मंदिर का अस्तित्व ईस्टर्न जिन राजवंश (सन 317-420) से साउदर्न सांग राजवंश (सन 1127-1279) के दौरान माना जाता है।

Share

'गुस्से को सही मानते थे गांधी'

अपने शांत व संयत व्यक्तित्व के लिए जाने जाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी गुस्सा को सही मानते थे और कहते थे कि इससे 'हमें सही व गलत के बीच अंतर करने में मदद मिलती है।' यह दावा एक नई पुस्तक 'द गिफ्ट ऑफ एंगर' में किया गया है, जिसे उनके पांचवें पोते अरुण गांधी ने लिखा है। इसमें राष्ट्रपिता के जीवन

Share

बीफ की जगह बीन्‍स खायें ग्‍लोबल वार्मिंग कम होगी : शोध

बेंगलुरू: गोमांस व गोहत्या का मुद्दा इन दिनों भारत में जोरों पर है, लेकिन अमेरिकी शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक ताजा अध्ययन से पता चलता है कि यह वास्तव में ग्लोबल वार्मिग को कम करने में मददगार हो सकता है।

Share

मोदी सरकार के 3 वर्षो के दौरान बेरोजगारी बढ़ी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के मई, 2014 में केंद्र में सरकार बनाने के बाद से देश में बोरजगारी बढ़ी है। सरकारी आंकड़ों से यह खुलासा हुआ है।

Share

Pages

Subscribe to RSS - Offbeat

EDUCATION / CAREER

News Wing

Ranchi, 19 September: सचिवालय और इसके अन्य कार्यालयों में 104 सहायकों की न...

NATIONAL

News Wing

Baitul (MP), 19 September: आमला विकास खंड के गांव रंभाखेड़ी की ग्राम पंचायत ने ए...

UTTAR PRADESH

News Wing Balia, 16 September: शहीद बलिया निवासी बीएसएफ के जवान बृजेन्द्र बहादुर सिंह का आज उनके पैत...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us