Skip to content Skip to navigation

Opinion

Article by our Columnists

काले धन पर कितने गंभीर हैं हम?

विदेशी बैंकों में जमा काले धन के मुद्दे पर जितना शोर हो रहा है, उससे यह आभास होता है, मानो सरकार, तमाम राजनीतिक दल और आम लोग भी मानते हैं कि अपने देश में कोई काला धन नहीं है। भारतीय नागरिकों ने अपनी सारी काली कमाई विदेशी बैंकों में जमा कर रखी है। जबकि सच इसके उलट है। विदेशों में कितने भारतीयों का

झारखण्ड: यानि ख्वाबों की सौदागिरी

झारखण्ड राज्य आदिवासियों के लिए एक हसीन सपना था जो राज्य बनते ही टूट गया. अब मोदी नया सपना बुन रहे हैं.

§ फ़रज़न्द अहमद

Relevance of Ministry of I & B!

With the outgoing Minister of Information and Broadcasting Manish Tewary in the UPA Government having broken ice over the irrelevance of the Ministry of I & B in the current media scenario, his successor Prakash Javadekar in the Narendra Modi Government having endorsed that, rumour is rife in

Pages

Subscribe to RSS - Opinion

मुंबई: अभिनेत्री ऋचा चड्ढा की पहली पंजाबी फिल्म 'खून आली चिट्ठी' 25 अप्रैल को रिलीज होने की उम्मी...

मुंबई: राकेश ओम प्रकाश मेहरा की फिल्म 'मिज्र्या' से अपने करियर की शुरुआत करने वाली अभिनेत्री सैया...

मराठी मुलगी श्रद्धा कपूर को अपनी भाषा और अपनी संस्कृति से खास लागाव है और इसकी खास झलक देखने मिली...

पुणे: दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले महेंद्र सिंह धौनी ने एक बार फिर बताया कि उन्हें...

Comment Box