today's top nw news

चतरा एसपी के तबादले को लेकर रांची की दौड़ लगा रहे टीपीसी के उग्रवादी और उससे जुड़े कोयला कारोबारी

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 05/05/2018 - 12:54
Ranchi: चतरा के एसपी अखिलेश बी वारियर की वजह से उग्रवादी संगठन टीपीसी और उससे जुड़े कोयला के कुछ कारोबारियों की परेशानी बढ़ गयी है. टीपीसी और कोयला कारोबार से जुड़े कुछ लोग इन दिनों रांची की दौड़ लगा रहे हैं. खबर है कि टीपीसी से जुड़े कोयला कारोबारी चार मई को रांची में जुटे थे. यहां एसपी के तबादले को लेकर करोड़ों रुपये तक खर्च करने पर विचार किया गया. इसके लिए चंदा करने का भी निर्णय लिया गया. जो लोग एक साथ बैठे थे, उनमें एक पूर्व मंत्री, एक सेना का जवान, टीपीसी से जुड़े विनोद गंझू, अर्जुन गंझू समेत अन्य लोग शामिल थे.

आदिवासी इलाकों में पत्थलगड़ी आंदोलन की जड़ें

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 05/05/2018 - 12:20
पत्थलगड़ी ने डरा दिया है. राजसत्ता, संघ परिवार (भाजपा-आरएसएस), मीडिया, ठेकेदार और बाहरी दिकुओं को. आदिवासी कह रहे हैं कि अनुमति लेकर हमारे गांवों में घुसना है. ठीक उसी तरह जिस तरह से गांवों से तब्दील किये गये शहरों में बने काॅपरेटिव काॅलोनी, अपार्टमेंट और सरकारी दफ्तरों में हमलोग पहरेदारों से अनुमति लेकर प्रवेश करते हैं. उन्होंने अपने-अपने गांवों के सामने पत्थरों से बनाये गये शिलापटों में अपना संदेश स्पष्ट लिख दिया है भारतीय संविधान का संदर्भ देकर. उनके पास संविधान की मोटी पुस्तक भी है. क्या इसे असंवैधानिक कहा जा सकता है ? राजसत्ता, संघ परिवार और मीडिया तो ऐसे ही कह रहे हैं. देश के कोने-कोने से लोग यह ढ़ूढ़ने के लिए आ रहे है कि क्यों आदिवासियों ने दिकुओं के लिए गांवों में प्रवेश निषेध लगा रखा है. यह देखना दिलचस्प है कि जिन दिकुओं का आदिवासी गांवों में प्रवेश वर्जित है वे अब जंगल का अस्तित्व खत्म करने वाले कुल्हाड़ी में लगे लकड़ी के बेंत की तरह पढ़े-खिले आदिवासियों का सहारा लेकर इन गांवों में प्रवेश कर रहे हैं और आदिवासियों से सवाल पूछ रहे हैं. आदिवासियों से पूछे गये सवालों में सबसे अहम सवाल यह है कि पत्थलगड़ी की जड़ें कहां हैं ? 

रास के नवनिर्वाचित सांसद धीरज साहू ने ग्रहण किया शपथ, कहा- बीपीएल कंबल घोटाले की हो सीबीआई जांच

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 20:26
Lohardaga : झारखण्ड से राज्यसभा के लिए निर्वाचित सांसद धीरज प्रसाद साहू को उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने संसद भवन में शुक्रवार को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी. मीडिया से मुखातिब होते हुए श्री साहू ने झारखंड की जनता का आभार प्रकट किया. उन्होंने कहा कि झारखंड में गोमिया और सिल्ली में होने वाले उपचुनाव में महागठबंधन के उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित है. वहीं झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास पर जमकर बरसते हुए कहा कि एजी की रिपोर्ट में कंबल घोटाले सामने आये हैं. बीपीएल कंबल घोटाले की सीबीआई जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को इस घोटाले की नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए और उन्हें जनता को जबाब देना चाहिए. श्री साहू ने कहा कि झारक्राफ्ट द्वारा जिस तरह सुनियोजित तरीके से इस भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया है यह असहनीय है.

न्यूज विंग में खबर चलने के चार घंटे बाद सरकार ने मंजूर किया लंबोदर का VRS, अब चुनाव लड़ने में नहीं कोई परेशानी

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 18:53
Ranchi :  गोमिया विधानसभा चुनाव को लेकर हर घंटे एक बड़ी खबर आ रही है. इस बार जो खबर आ रही है उससे लंबोदर महतो के समर्थकों के बीच खुसी की लहर दौड़ जाएगी. दरअसल लंबोदर महतो का वीआरएस सरकार ने मंजूर कर लिया है. उन्हें एक मार्च 2018 से व्यक्तिगत, पारिवारिक और स्वास्थ संबंधी कारणों से स्वैच्छिक सेवानिवृति दे दी गयी है. अब उनके चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है. वीआरएस नामंजूर होने की सूरत में उन्होंने अपनी पत्नी के नाम पर भी नोमिनेशन पेपर ले लिया था. अगर कोई पेंच फंसता तो लंबोदर की जगह उनकी पत्नी कौशल्या देवी चुनाव लड़तीं.

गोमिया उपचुनावः सीएम ने माधव लाल सिंह के समर्थकों से कहा चुनाव की तैयारी करें, शनिवार शाम तक बीजेपी कर सकती है घोषणा

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 18:27
Ranchi: गोमिया उपचुनाव को लेकर लोगों के बीच ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है. इसकी सबसे बड़ी वजह बीजेपी के उम्मीदवार की घोषणा ना होनी मानी जा रही है. अभी तक जो स्थिति है उससे यह साफ है कि बीजेपी इस उपचुनाव में माधव लाल सिंह को ही उम्मीदवार बनाने जा रही है. इसी सिलसिले में माधव लाल सिंह अपने कुछ समर्थकों के साथ प्रोजेक्ट बिल्डिंग में सीएम रघुवर दास से मुलाकात के लिए पहुंचे. सीएम से हुई आधे घंटे की मुलाकात में रघुवर दास ने माधव लाल सिंह के समर्थकों से कहा कि वो चुनाव की तैयारी करें. बाकी औपचारिकता जल्द पूरी कर ली जाएगी.

मौसम चेतावनी : झारखंड समेत देश के कई राज्‍यों में होगी भारी बारिश, आयेगा भयानक आंधी तूफान

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 18:23
Ranchi : भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को झारखंड समेत कई राज्‍यों के लिए तूफान और बारिश को लेकर डरा देने वाली चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग चेतावनी जारी कर कहा है कि 5 से 7 मई के बीच कभी भी भयानक तूफान और तेज बारिश आ सकती है.

गढ़वा पुलिस-वकील मामलाः गृह विभाग मंगलवार को सौंपे रिपोर्ट, एफआईआर नहीं कंप्लेन केस होगा दर्ज, हाईकोर्ट खुद करेगा जांच

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 17:55
Ranchi: गढ़वा में वकील की पिटाई झारखंड पुलिस को काफी महंगी पड़ने वाली है. मामले के लेकर सीनियर एडवोकेट राजीव कुमार की पीआईएल पर सुनवाई करते हुए झारखंड हाईकोर्ट में जज एससी मिश्रा और बीबी मंगलमूर्ति की बेंच ने गृह विभाग को आठ मई को कोर्ट में एजी अजित कुमार के जरिए रिपोर्ट पेश करने को कहा है. मामले को लेकर पीआईएल करते वक्त सीनियर एडवोकेट राजीव कुमार ने गृह सचिव और डीजीपी को पार्टी बनाया था.

हजारीबाग : प्रतिबंधित मांस बरामद करने कसाई मुहल्ले में गयी पुलिस टीम पर पथराव, तीन पुलिसकर्मी व एक पत्रकार घायल

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 11:55
Hazaribag: हजारीबाग के कसाई मुहल्ले में प्रतिबंधित मांस बरामद करने गयी पुलिस पर स्थानीय लोगों ने जमकर पथराव किया. पथराव में  तीन पुलिसकर्मी और एक पत्रकार सुबोध को चोट लगी है. पुलिस ने करीब पांच ट्रैक्टर प्रतिबंधित मांस बरामद किया है. जिसे कसाई मुहल्ले में ही जमीन के नीचे गाड़ने की कार्रवाई की जा रही है. कार्रवाई को और तेज करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को कसाई मुहल्ले में बुलाया गया है. हालांकि कसाई मुहल्ले के ही कुछ प्रबुद्ध लोगों को हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो गया है. मुहल्ले में पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है.

मंत्री चंद्रप्रकाश जी, कभी नागरिकों की बफ शीट भी पढ़ लीजिए

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 11:35
मंत्री, चंद्रप्रकाश जी आप और आपकी पार्टी सत्ता में रहने के हुनर में माहिर हैं और स्वाभाविक है कि चुनाव के लिए और अपने लिए धनोपार्जन में भी निपुण ही होंगे. अभी आपने तो बफ शीट जारी किया. लेकिन हुजूर कभी-कभी नागरिकों का बफ शीट भी पढ़िए. - पिछली बार 1955  में जलाशय बना था और उसके बाद कोई नए जलाशय के लिए योजना नहीं बनी. तो बढ़ते आबादी के लिए पानी कहां से आएगा ? केवल जलमीनार और पाइप लगवाने से ही आपलोग और आपके ठीकेदार संतुष्ट हो जाते हैं. लेकिन जनता को पानी कौन देगा और कहां से देगा ?

साथी नक्सलियों के मारे जाने के विरोध में भाकपा माओवादी का भारत बंद, झारखंड सहित कई राज्यों में असर

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/04/2018 - 10:00
Ranchi: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी द्वारा आहूत भारत बंद का झारखंड के कई जिलों में असर देखा जा रहा है. गुमला, सिमडेगा, खूंटी, पलामू, लातेहार, चाईबासा के ग्रामीण इलाकों की सड़कों पर आम दिनों से कम वाहन चल रहे हैं. ग्रामीण इलाकों के हाट बाजार भी बंद हैं. नक्सलियों ने महाराष्ट्र में कथित पुलिस मुठभेड़ में 42 नक्सलियों के मारे जाने की घटना के विरोध में बंद का आह्वान किया है. नक्सलियों के मारे जाने के बाद संगठन की ओर से  एक प्रेस बयान जारी करके दावा किया गया है कि पुलिस फोर्स ने पहले सभी को जहर दे दिया. फिर ठंडे दिमाग से उनकी हत्या कर दी गयी.