offbeat

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से हाहाकार, सोशल साइट पर जोक्स की भरमार

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/23/2018 - 12:41

NewsWing Desk: पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों से लोगों में हाहाकार है. लगातार बढ़ रहे दामों से आम और खास त्रस्त हैं. हर कोई अपने-अपने तरीके से नाराजगी दर्ज करा रहा है. वही सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों पर कई जोक्स पढ़े और शेयर किये जा रहे हैं. आप भी पढ़िये और बढ़ती कीमतों पर ठहाके लगाईये...

महिलाएं तेजी से बन रही अरबपति, 2017 में फीमेल बिलेनियर की संख्या में 18 % की बढ़ोतरी

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 05/18/2018 - 16:22

NewsWing Desk: कहा जाता है कि बदलते वक्त के साथ आज की महिलाएं भी बदल रही हैं और हर क्षेत्र में पुरुषों से बेहतर प्रदर्शन कर रही है. अब ये बात अरबपति बनने के मुकाबले में भी लागू हो रही है. एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल महिलाएं पुरुषों के मुकाबले ज्यादा तेजी से बिलेनियर बनी हैं. 2017 में महिला अरबपतियों की संख्या में 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई, जबकि पुरुषों के लिए ये आंकड़ा 14.5 प्रतिशत ही रहा.

गोरिल्ला का बिस्तर मानव के बिस्तर से ज्यादा साफ-सुथरा होता है : शोध

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 15:10

NewDesk :  यह खबर पढ़ कर आप अपना भ्रम तोड़ सकते हैं कि मानव जाति धरती के अन्य जीवों से हर मामले में कहीं आगे है. शारीरिक शक्ति में तो वह जीवों के मुकाबले कमजोर है ही,  एक और मुकाबले में वह भारी भरकम जीव वनमानुष यानी गोरिल्ला से मात खाता नजर आ रहा है. वह मामला है स्वच्छता का.

मैडम तुसाद संग्रहालय के लिए 200 माप लिए जाने के बाद बनता है मोम का हूबहू बुत

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 12:38

New Delhi : अगर आप सूट बनवाने के दौरान दर्जी को एक यो दो बार नाप देने में खीझ जाते हैं तो आपके लिए यह जानना दिलचस्प होगा कि मैडम तुसाद के संग्रहालय में अगर आपका पुतला लगाना हो तो विशेषज्ञों की एक टीम तकरीबन आपके 200 नाप लेगी. दिल्ली के 84 साल पुराने जिस रीगल थिएटर में कभी अमिताभ बच्चन की चलती फिरती फिल्में दिखाई जाती थीं, वहां आज मैडम तुसाद का विशवप्रसिद्ध वैक्स संग्रहालय है, जहां बहुत से पुतलों के बीच सदी के महानायक का खामोश बुत भी खड़ा है.

17 मई को मिला था चार्ली चैपलिन का चोरी हुआ शव

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 16:32

NewDelhi  :  इतिहास में कई ऐसे नाम दर्ज हैं, जो किसी एक देश के नहीं बल्कि सारी दुनिया में चाहे और सराहे जाते हैं.  चार्ली चैपलिन भी उनमें से एक हैं.

न्यूयोर्क : न्यूड महिला की पेंटिंग 10 अरब 60 करोड़ में नीलाम हुई

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 16:19

New York : एक ऩ्यूड पेंटिंग और उसकी कीमत 157 मिलियन डॉलर यानी लगभग 10 अरब 60 करोड़ रुपए.  बता दें कि मशहूर चित्रकार इटली के एमेडियो मोदीग्लियानी ने साल 1917 में एक न्यूड महिला की पेंटिंग बनाई थी.

मिलिए 86 वर्षीय रिवाल्वर दादी से, 25 राष्ट्रीय शूटिंग चैंपियनशिप जीत चुकी है

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 05/15/2018 - 16:09

Bagpat :  बागपत के जोहड़ी गांव की निवासी 86 वर्षीय चंद्रो तोमर इंडिया की शूटर दादी या रिवाल्वर दादी  के नाम से

हिटलर की मौत और भारतीय सिनेमा के ‘पितामह’ दादा साहेब फाल्के के जन्म के नाम दर्ज है 30 अप्रैल

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/30/2018 - 16:33

Newswing Desk: इतिहास में 30 अप्रैल की तारीख हिटलर की मौत और बांग्लादेश में चक्रवात से सवा लाख लोगों की मौत जैसी घटनाओं के नाम दर्ज है. साथ ही भारतीय सिनेमा के जनक

खौफनाक : पेरू में 140 बच्चों के कंकाल मिले, 550 साल पहले बलि दी गयी थी

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/28/2018 - 18:12

Peru :  आर्कियोलॉजिस्ट की एक टीम को खुदाई के दौरान लैटिन अमेरिकी देश पेरू के उत्तरी तट पर लगभग 140 बच्चों के कंकाल मिले हैं.  आर्कियोलॉजिस्ट इसे मानव इतिहास का सबसे बड़ा केस बता रहे हैं. पूर्व में इतनी भारी मात्रा में कंकाल कभी पाये नहीं गये हैं. आर्कियोलॉजिस्ट रिसर्च टीम के अनुसार इनकी पसलियां तोड़कर इनके दिल बाहर निकाल लिये गये थे. यह किसी धार्मिक बलि जैसा है. साथ ही रिसर्च टीम को खुदाई के क्रम में 200 लामा (एक तरह का जानवर) के अवशेष भी मिले हैं.

म्यांमार बन गया है हाथियों की कब्रगाह, चीन में हाथियों की खाल का बड़ा बाजार

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/27/2018 - 18:32

Myanmar : म्यांमार हाथियों की कब्रगाह बनता जा रहा है. यहां के जंगलों में मृत हाथियों की पाये जाने की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. माना जाता है कि म्यांमार में अब सिर्फ 2000 हाथी बचे हैं. म्यांमार में थाईलैंड के बाद यह दूसरी सबसे बड़ी संख्या है. बताया जाता है कि देखभाल की कमी और सीमावर्ती इलाकों में केंद्रीय सरकार का असरदार नियंत्रण नहीं होने की वजह से म्यांमार वैश्विक वन्य जीव तस्करी का अड्डा बनता जा रहा है. हाथियों की हत्या के पीछे वन्यजीव संरक्षक हाथियों के शरीर से मिलने वाली चीजों के कारोबार को जिम्मेदार ठहराते हैं.