interviews

गर्मियों में नवजात शिशु का रखें खास ख्याल : डॉ शैलेश चंद्र 

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 05/15/2018 - 12:10

Ranchi : रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ शैलेश चंद्र पिछले 14 साल से इस अस्पताल में अपना योगदान दे रहे हैं. इन्होंने एमबीबीएस की पढ़ाई 1999 में रांची के आरएमसीएच से पूरा किया. मास्टर इन पीडियाट्रिक की पढ़ाई 2003 में लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से किया.

सरकार ने जमीन से छेड़छाड़ शुरू की फिर ग्रामसभा ने पत्थलगड़ी शुरू की- जोसेफ पूर्ति

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 03/23/2018 - 12:20

Pravin kumar

Khunti: पत्थलगड़ी को जहां एक ओर ग्रामीण अपना संवैधनिक अधिकार बता रहे हैं, वही दूसरी ओर जिला प्रशासन इसे संविधान की गलत व्याख्या कह रहा है. आखिर क्यों खूंटी में पत्थलगड़ी को लेकर जिला प्रशासन और ग्रामसभा आमने सामने है, इस विषय पर न्यूज विंग के वरीय संवाददाता प्रवीण कुमार ने खूंटी के जोसेफ पूर्ति से बात की. बातचीत का अंश

देश के लोग राहुल गांधी को देश का अगला प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं: कांग्रेस

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 02/04/2018 - 18:47

News Delhi: आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को चुनौती देने के लिए विपक्षी एकजुटता को लेकर चल रहे प्रयासों के बीच कांग्रेस ने रविवार को कहा कि वही (कांग्रेस) विपक्षी दलों की ‘‘एकता की धुरी’’ बनेगी तथा केवल राहुल गांधी ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विकल्प होंगे. कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख और मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ‘भाषा’ को दिये साक्षात्कार में दावा किया कि नरेंद्र मोदी जी का विकल्प केवल और केवल राहुल जी हैं. कोई और नहीं हो सकता. कांग्रेस और देश के लोग राहुल गांधी को देश का अगला प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं.

युवक-युवतियों को प्रशिक्षित कर आठ से 45 हजार का रोजगार दे रहे हैं : निदेशक कौशल विकास मिशन

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/13/2018 - 18:50

स्किल समिट 2018 के आयोजन को लेकर उठ रहे कई सवाल, झारखंड कौशल विकास मिशन के निदेशक ने न्‍यूज विंग को दिया जवाब

बिगन सोय: बाधक नहीं बन सकी गरीबी, बुलंद हौसलों से भरी उड़ान (देखें वीडियो)

Publisher ADMIN DatePublished Thu, 12/14/2017 - 11:49

Manish Jha
हॉकी खिलाड़ी बिगन सोय आज किसी परिचय की मुहताज नहीं. छठी क्लास से ही हॉकी तरफ रूझान बढ़ा और फिर किसी गरीबी और कमी उनकी राह में बाधक नहीं बन सकी. जब हॉकी के मैच में खस्सी  प्रतियोगिता टूर्नामेंट होती थी तब स्कुल की तरफ से बहुत ही उत्सुकता से भाग लेती थी. इनकी मुलाकात रांची में फ़ुल्केरिया नाग से  2006  में  हुई जिन्होंने इनका दाखिला साई हॉकी सेंटर में करवाया. इन्होंने पहला मैच पश्चिम सिंहभूम और रांची के बीच खेला जिसमें इनकी टीम विजयी रही  और उसके बाद इनका सेलेक्शन मलेशिया से खेलने के लिए भारतीय जूनियर टीम में हुआ. जानें इनसी जुडी कुछ खास बातें