Skip to content Skip to navigation

Lifestyle

Articles on Lifestyle, Societies

नोकझोंक से खुशहाल रहता है वैवाहिक जीव

नई दिल्ली, 11 जनवरी | भारत के 44 फीसदी दम्पत्तियों का मानना है कि हफ्ते में एक से अधिक बार की नोकझोंक वैवाहिक जीवन को लम्बा और खुशहाल बनाती है। यह बात एक सर्वेक्षण में सामने आई है।

Share

5 साल बाद ठगा महसूस कर रही नंदीग्राम की जनता

नंदीग्राम, 3 जनवरी | पश्चिम बंगाल का नंदीग्राम पांच साल पहले भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आंदोलन के बाद राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में आया था, जो राज्य में 34 साल पुराने वामपंथियों के शासन के अंत की शुरुआत के रूप में भी देखा गया। लेकिन पांच साल बाद क्षेत्र की जनता आज खुद को ठगा महसूस कर रही है।

Share

पेट भरा हो तो ही मनाया जाता है नया साल

भोपाल, 1 जनवरी | पूरी दुनिया नए साल के स्वागत के जश्न में डूबी है, खुशियां मनाई जा रही हैं, एक-दूसरे को शुभकामनाएं देने का सिलसिला जारी है। लेकिन समाज में एक ऐसा वर्ग है, जो इन सबसे बेखबर है, क्योंकि उन्हें पेट भरने की चिंता होती है। भूखे पेट किसी को खुशियों में शरीक होना नहीं सुहाता।

Share

खास होता है कोलकाता का क्रिसमस

- शशि गोयला - 
कोलकाता, 24 दिसम्बर (आईएएनएस)| दिसम्बर की 25 तारीख को क्रिसमस का उत्सव सम्पूर्ण विश्व में मनाया जाता है। कोलकाता भी इसका अपवाद नहीं। पर कुछ अपने महानगरीय प्रभाव के कारण, कुछ अपनी उदार सभ्यता के कारण और कुछ अंग्रेजी राज के प्रभाव के चलते कोलकाता का क्रिसमस अन्य जगहों से भिन्न है।

Share

Buddha Poornima

17th May is Buddha Jayanti  also known as Buddha Purnima which is the most sacred festivals of Buddhist. Buddha Purnima (Buddha Birthday) is celebrated in remembrance Lord Buddha. Lord Buddha is the founder of Buddhism. This day is the birth anniversary of Lord Buddha. This day commemorates three important events of Buddha's life

Share

Prisoners or Software Designers?

The jail authority has also been a constant support. The Dhanbad Jail superintendent, Hamid Akhtar said that the computer training programme has encouraged the inmates for constructive work. They are helping the jail authority in different office jobs like data creation and designing.

Share

How Does One Become A Millionaire Billionaire?

by Stan Swamy
The print media has reported that from among the 946 billionaires in the world 36 are Indians. The total assets of these Indians is reported to be $191 billion ($191,000 crores or Rs. 85,95,000 crores) which is about 25% of India’s Gross Domestic Produce (GDP). That means the rest of the 100 crore Indians have the remaining 75% to share among them. Another study reveals that whereas in China the better off 50% of the population own 14 % of the nation’s wealth, in India the better off 50% Indians own 92% of India’s wealth. That means, the worse off 50% Indians have only 8% to share among themselves.

Share

The Armed Forces And Our Society

by Brig (Retd) PT Gangadharan
The personnel of Armed Forces are enrolled from our society purely on a volunteer basis, without any distinction in class, colour, creed, cast and religion. The Armed Forces are also open to women in certain select categories; the only exception in this case hitherto was the Army Medical Corps. .. It is emphasized that there are no reservations of any kind in the Armed Forces and all selections are based on merit. In every sense, the Armed Forces are an all India service and a true depiction of national honor, pride and unity.

Share

Pages

Subscribe to RSS - Lifestyle

UTTAR PRADESH

NEWSWING Ayodhya, 18 October : श्री राम कि नगरी अयोध्या बुधवार को हनुमान जयंती व छोटी दीपावली के पाव...
News WingLucknow, 17 October : अयोध्या में भगवान राम की प्रतिमा के निर्माण को गर्व का विषय बताते हुए...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us