opinion

बेटा हूं मैं भारत का, इटली का नवासा हूं

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/14/2018 - 13:57

" कहते हैं शब्द एक ऐसी शक्ति है, जिसका क्षय नहीं होता. इसका सार्थक प्रयोग सृजनशीलता का रूप ले लेता है. शब्द अगर काव्य का रूप लेता है तो गागर में भी सागर समा सकता है. काव्य के माध्यम से जीवन के विविध पहलुओं की सहज अभिव्यक्ति होती है. पत्रकार व लेखिका शायरा फिरदौस ख़ान ने राजनीतिक पृष्ठभूमि से जुड़ी एक शख्सियत को अपने काव्य का विषय बनाया है और वो शख्स हैं राहुल गांधी, जिनके जीवन, उनके वजूद, राजनीतिक संघर्ष और भावनात्मक पक्ष को शब्दों के जरिए गजल में ढाला है.