बिना पढ़ाये परीक्षा लिए जाने पर भड़के परीक्षार्थी, घेरा नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 06/11/2018 - 17:57

Daltonganj : बिना पढ़ाये परीक्षा लेने के नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय के निर्णय के खिलाफ सोमवार को एमबीए और एमसीए के परीक्षार्थियों ने विश्वविद्यालय परिसर में जमकर हंगामा मचाया. करीब एक घंटा तक परीक्षार्थियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन और परीक्षा नियंत्रक के विरूद्ध नारेबाजी की. परीक्षार्थियों के उग्र प्रदर्शन को देखते विश्वविद्यालय ने शहर थाना से पुलिस बल मंगवाकर उन्हें नियंत्रित करने का प्रयास किया, लेकिन परीक्षार्थी किसी की नहीं सुन रहे थे. परीक्षार्थियों का कहना था कि विश्वविद्यालय जब पढ़ाई की व्यवस्था नहीं दे सकता है, तो वह छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना बंद करे. परीक्षार्थी अब किसी भी सूरत में परीक्षा नहीं देंगे. विश्वविद्यालय ने परीक्षार्थियों से परीक्षा के नाम पर जो पैसा लिया है उसे वापस कर दे. स्टूडेंट्स के प्रदर्शन के बाद परीक्षार्थियों के समर्थन में एनएसयूआई भी उतर गया. एनएसयूआई के छात्र नेताओं ने परीक्षार्थियों की मांगों का समर्थन करते हुए परीक्षा की घोषित तिथि को तत्काल वापस लेने की मांग की. एनएसयूआई के नेताओं का कहना था कि विश्वविद्यालय स्टूडेंट्स के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है. पढ़ाई तो एमबीए और एमसीए की शुरू कर दी गयी है, लेकिन लैब, लाईब्रेरी, किताब और यहां तक की शिक्षक भी नहीं है, तो आखिर छात्र परीक्षा कैसे देंगे.

इसे भी पढ़ें : शिबू सोरेन के आवास पर दावत-ए-इफ्तार, विपक्षी एकजुटता का कलेवर दिखा, 2019 में भाजपा को पटखनी देने के बुने गये सपने

वार्ता विफल

परीक्षार्थियों के हंगामे को देखते हुए रजिस्ट्रार राकेश कुमार सिंह, परीक्षा नियंत्रक गंगा प्रसाद सिंह ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थे. परीक्षार्थियों की मांग थी कि उनका पैसा विश्वविद्यालय वापस कर दे. विश्वविद्यालय के अधिकारियों का कहना था कि छात्र लिखित में शिकायत करें तो उनकी बातों को कुलपति के समक्ष रखा जायेगा और उसके बाद उचित निर्णय लिया जायेगा. पर विश्वविद्यालय के अधिकारियों और छात्रों के बीच वार्ता विफल रही.

इसे भी पढ़ें : कुरमी मूलत: आदिवासी हैं, इतिहास पढ़ें राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपने वाले विधायक प्रकाश राम : कुरमी संघर्ष मोर्चा

नामधारी महिला कॉलेज में बनाया गया था सेंटर

विश्वविद्यालय की ओर से एमबीए और एमसीए के लिए 11 से 22 जून तक परीक्षा की तिथि घोषित की गई है. परीक्षा केंद्र योधसिंह नामधारी महिला कॉलेज में बनाया गया है. सोमवार को निर्धारित समय पर एमबीए और एमसीए के परीक्षार्थी परीक्षा देने महिला कॉलेज गए भी थे. इसके बाद सभी परीक्षार्थियों ने निर्णय लिया कि परीक्षा का बहिष्कार किया जाये. इसके बाद योधसिंह नामधारी महिला कॉलेज से ही परीक्षार्थी नारेबाजी करते विश्वविद्यालय पहुंचे और हंगामा करना शुरू कर दिया.

इसे भी  पढ़ेंं :  करों में कटौती से पेट्रोल और डीजल के दाम कम होना संभव  : एसोचैम

सभी सेमेस्टर का हो चुका है भुगतान

एमबीए की परीक्षा छह सेमेस्टर की और एमसीए की परीक्षा चार सेमेस्टर की होती है.  प्रत्येक सेमेस्टर छह-छह माह का होता है.  प्रत्येक सेमेस्टर के लिए विश्वविद्यालय स्टूडेंट्स से फीस के रूप में 22 हजार रूपये लेता है. छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय सभी सेमेस्टर का पैसा छात्रों से वसूल चुका है, बावजूद पढ़ाई की कोई भी व्यवस्था नहीं दी गयी. यह सीधे-सीधे स्टूडेंट का करियर बर्बाद करने का तरीका है. छात्रों का कहना है कि रांची विश्वविद्यालय में एमबीए और एमसीए की पढ़ाई के लिए मात्र 17 हजार रूपये निर्धारित है, जबकि यहां ज्यादा फीस ली जा रहीी है.

एमबीए और एमसीए की परीक्षा स्थगित

नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय अंतर्गत विभिन्न महाविद्यालयों में आयोजित एमबीए और एमसीए सत्र 2017-20 प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा स्टूडेंट्स के आंदोलन को देखते हुए रद्द कर दिया है, लेकिन अधिकारिक रूप से इसे अपरिहार्य कारण बताया गया है. विवि प्रबंधन की ओर से जानकारी दी गयी है कि परीक्षा अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दी गयी है. नई तिथि निर्धारित कर परीक्षा की घोषणा बाद में की जायेगी. मौके पर एनएसयूआई के अभिषेक तिवारी, अमरनाथ तिवारी, सौरव पांडेय, मणिकांत सिंह, बिपिन सिंह, देवान शुक्ला, रूचि कुमारी सहित करीब दो दर्जन परीक्षार्थी उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा