बिजली नहीं, रौशनी पैदा करता है यह पौधा

Submitted by NEWSWING on Wed, 01/17/2018 - 13:20

अमेरिका की मेसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी आॅफ टेक्नोलाॅजी के शोधकर्ताओं ने लैब में एक ऐसा पौधा विकसित किया है, जो रात में किसी प्रकाश स्त्रोत की तरह रोशनी पैदा करता है। दावा है कि भविष्य में इन पौधों को स्ट्रीट लाइट की तरह इस्तेमाल किया जा सकेगा। अभी इनका इस्तेमाल टेबल लैंप की तरह करना संभव है। इन पौधों को रोशनी के लिए बाहर के किसी ऊर्जा स्रोत की जरूरत नही होगी यह अपनी उर्जा से हि रोशनी पैदा करेगा शोधकर्ता रासायनिक इंजीनियर प्रोफेसर माइकल स्ट्रानो के मुताबिक इस पौधे को बनाने के लिए पत्तियों में लुसीफेसर नैनो पार्टिकल डाले गये है

बिना मिट्टी के पौधे उगाने की तकनीक (हाइड्रोपोनिक्स)

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 11:46

हो सकता है कि आपने कभी पानी से भरे ग्लास में या किसी बोतल में किसी पौधे की टहनी रख दी हो तो देखा होगा कि कुछ दिनों के बाद उसमें जड़ें निकल आती हैं और धीरे-धीरे वह पौधा बढ़ने लगता है। जबकि हम देखते आए हैं कि सामान्यतया पेड़-पौधे जमीन पर ही उगाए जाते हैं। ऐसा लगता है कि पेड़-पौधे उगाने और उनके बड़े होने के लिये खाद, मिट्टी, पानी और सूर्य का प्रकाश जरूरी होता है। लेकिन सच यह है कि पौधे या फसल उत्पादन के लिये सिर्फ तीन चीजों - पानी, पोषक तत्व और सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती है। इस तरह यदि हम बिना मिट्टी के ही पेड़-पौधों को किसी और तरीके से पोषक तत्व उपलब्ध करा दें तो बिना मिट्टी के भी पानी और सूर

इसरो ने पूरी की सेंचुरी , एक साथ भेज डाले 31 उपग्रह

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/12/2018 - 11:16

श्रीहरिकोटा : अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में तमाम कीर्तिमान अपने नाम कर चुके इसरो ने शुक्रवार को एक और बड़ा रेकॉर्ड कायम करते हुए सफलतापूर्वक 100वां उपग्रह लॉन्च किया. इसरो ने एक साथ सफलतापूर्वक 31 सैटलाइट्स लॉन्च किए। सभी सैटलाइट्स अंतरिक्ष की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित हो गये. इसरो की ओर से पीएसएलवी सी-40 रॉकेट के जरिये लॉन्च किए गये 31 सैटलाइट्स में 28 विदेशी और 3 स्वदेशी उपग्रह शामिल हैं. विदेशी सैटलाइट्स की बात की जाये तो इनमें कनाडा, फिनलैंड, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और अमेरिका के उपग्रह शामिल हैं.

पलामू: नव पाषाण और ताम्र पाषाण काल को समेटे कबरा कला में शुरू हुआ खुदाई कार्य, मिल सकते हैं पुरावशेष 

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/05/2018 - 14:25

Daltonganj : नवपाषाण काल से लेकर ब्रिटिश काल तक के पुरातात्विक अवशेषों का भंडार कहे जाने वाले कबरा कला में खुदाई कार्य शुरू किया गया. आर्केलऑजिक सर्वे ऑफ इंडिया रांची की टीम यहां पहुंची चुकी है. सोन और उतर कोयल के संगम पर स्थित यह गांव पलामू जिला मुख्यालय से करीब 95 किलोमीटर दूर और हुसैनाबाद अनुमंडल से करीब 15 किलोमीटर दूर है. दूसरी ओर दक्षिण-पश्चिम में बिहार के इतिहास प्रसिद्ध रोहतास किला से लगभग 20 किलोमीटर दूर है.

31 जनवरी को 150 साल में पहली बार दिखेगा ‘नीला चांद’

Submitted by NEWSWING on Thu, 01/04/2018 - 16:02

Washington : इस महीने की 31 तारीख को दुर्लभ पूर्ण चंद्रग्रहण होगा. जिसमें महीने में दूसरी बार पूर्णिमा होगी.

खगोलविदों ने ढूंढा सूर्य की तरह एक और तारा, जो निगल रहा है अपने ही ग्रहीय वंशजों को

Submitted by NEWSWING on Sat, 12/23/2017 - 12:45

New York : खगोलविदों ने सूर्य की तरह के एक तारे की खोज की है जो धीरे-धीरे अपने वंशजोंको निगल रहा है. यह तारा अपनी कक्षा में एक या अधिक ग्रहों को गैस और धूल की भारी घटाओं में तब्दील कर रहा है. यह तारा पृथ्वी से तकरीबन 550 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है. इस दूरस्थ तारे का नाम आरजेड पीसियम है.

नासा ने हमारे जैसा सौर मंडल खोजने में ली गूगल एआई की मदद

Submitted by ADMIN on Sat, 12/16/2017 - 13:19

Washington: अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा को एक बड़ी सफलता मिली है. NASA के केपलर स्पेस टेलिस्कोप ने हमारे जितना बड़ा ही एक और सोलर सिस्टम ढूंढ निकाला है. दरअसल, यह स्टार सिस्टम पहले ही खोजा गया था, अब वहीं पर आठवें ग्रह की भी पहचान कर ली गई है.

अब गूगल ऐप ‘तेज’ से भरिये बिजली-पानी का बिल

Submitted by ADMIN on Thu, 12/14/2017 - 17:22

New Delhi : गूगल के डिजिटल भुगतान एप ‘तेज’ के जरिए अब बिजली, पानी, मोबाइल व इंटरनेट जैसे बिलों का आनलाइन भुगतान भी किया जा सकेगा. गूगल ने इसके लिए टाटा पावर, एयरटेल एमटीएनएल व डिशटीवी सहित 17 कंपनियों से गठजोड़ किया है. गूगल ने अपने सालाना कार्यक्रम गूगल फोर इंडिया के तीसरे संस्करण में मंगलवार को यह घोषणा की.

loading...
Loading...