Jharkhand Vidhansabha ElectionMain Slider

रघुवर दास ने कहा – उनकी सरकार पर दाग नहीं, सरयू राय ने कहा- रघुवर ‘दाग’ ने जो दाग लगाये उसे मोदी डिटर्जेंट व शाह लाउंड्री भी नहीं धो पायेंगे

Ranchi:  जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र से सोमवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास और सरयू राय ने नामांकन दाखिल किया. नामांकन दाखिल करने के बाद रघुवर दास ने जहां प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनायीं.

देखें वीडियो

उन्होंने विपक्ष को भ्रष्ट कहा. और अपनी सरकार को बेदाग सरकार बताया. वहीं सरयू राय ने रघुवर दास को रघुवर दाग कह कर संबोधित किया और कहा कि पांच साल की भाजपा की सरकार में जो दाग लगा है, उसे मोदी डिटर्जेंट और शाह लाउंड्री भी नहीं धो पायेंगे.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: झारखंड पार्टी ने रद्द किया पूर्व नक्सली कुंदन पाहन का टिकट, तमाड़ से मिला था टिकट

रघुवर ने सरकार की उपलब्धियां गिनायीं

नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनायीं.

देखें वीडियो

शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और रोजगार के क्षेत्र में किये गये कामों की जानकारी दी. 86 बस्ती को मालिकाना हक के मामले पर उठे सवालों का जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली और झारखंड की स्थिति अलग है.

वहां सीएनटी-एसपीटी एक्ट नहीं है. यहां है. इस कारण यहां पर इस मामले को जल्दी में नहीं सुलझाया जा सकता. खुद के बाहरी होने के सवाल पर कहा कि यहां के आदिवासी जागरूक हो गये हैं. वह भेद-भाव व जातपात की राजनीति के बहकावे पर नहीं आते.

उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार है. हमने अच्छा काम किया. हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई दाग नहीं है.

इसे भी पढ़ें – लगातार मुनाफा दे रही भारत पेट्रोलियम को आखिर क्यों बेचना चाह रही सरकार?

भगवा के दामन पर दाग लगा है

सरयू राय ने कहा पांच साल में जो दाग लगा है ना, आज उसे एक नया टर्म देता हूं. रघुवर दाग. रघुवर दास की जगह रघुवर दाग. इस रघुवर दाग को मोदी डिटरजेंट भी नहीं धो पायेगा. अमित शाह की लॉंड्री भी नहीं धो पायेगी. इस दाग को.

जो रघुवर दाग पांच साल में लगा है, वह भारतीय जनता पार्टी के दामन पर लगा है. भगवा के दामन पर लगा है. पहली बार बहुमत की सरकार आयी. उस सरकार पर लगा है. यह दाग ऐसा है कि मोदी डिटरजेंट-शाह लाउंड्री इस दाग को नहीं मिटा पायेंगे. जनता ही इस दाग पर अपना निर्णय देगी.

इसे भी पढ़ें – #Delhi की 1731 अवैध कॉलोनियां हुईं वैध, तो जमशेदपुर की क्यों नहीं : सरयू राय

इसे भी पढ़ें – बढ़ सकती है सीएम रघुवर दास की मुश्किलें, हाईकोर्ट ने मैनहर्ट मामले में कहा – निगरानी आयुक्त वाजिब समय में आईजी विजिलेंस की चिट्ठी पर फैसला लें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: