‘तीन तलाक’ पर प्रस्तावित कानून नारी न्याय, गरिमा, सम्मान से जुड़ा है : रविशंकर प्रसाद

Publisher ADMIN DatePublished Mon, 12/18/2017 - 11:44
pd

Dehri-on-Son: केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ‘तीन तलाक’ पर प्रस्तावित कानून को नारी न्याय, नारी गरिमा तथा नारी सम्मान से जुड़ा मामला बताते हुए रविवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उन पीड़ित महिलाओं के साथ हैं. भाजपा के चार दिवसीय प्रदेश प्रशिक्षण शिविर के आज अंतिम दिन प्रसाद ने इस प्रस्तावित कानून को नारी न्याय, नारी गरिमा तथा नारी सम्मान से जुड़ा मामला बताते हुए कहा कि भाजपा उन पीड़ित महिलाओं के साथ हैं.

इसे भी पढ़ें- सरकारी दौरा या पीए अंजन की शादी में किराए के विमान से असम गए थे सीएम रघुवर दास !

आंतरिक चुनौतियों से जूझ रहा देश

उन्होंने कहा कि देश अनेक आंतरिक चुनौतियों से जूझ रहा है. वहीं बाहरी चुनौतियां भी कम नहीं हैं. बाहरी चुनौतियां पड़ोसी देशों से ज्यादा हैं. खासकर सामरिक दृष्टिकोण से चीन बड़ी चुनौतियां पेश कर रहा है. वहीं हमारी एकता तथा अखंडता पर पाकिस्तान लगातार चोट कर रहा है.

इसे भी पढ़ें- पलामू: सिर्फ बिजली कनेक्शन के अभाव में पांच वर्षों से बनकर पेंडिंग पड़ा है चैनपुर का सीएचसी, विस में उठा अस्पताल भवन मामला, स्वास्थ्य अधिकारियों में हड़कंप

अवैध घुसपैठ राजनीतिक व आर्थिक स्थिरता के लिए बड़ा खतरा

प्रसाद ने कहा कि पड़ोसी देशों से अवैध घुसपैठ भी हमारी राजनीतिक तथा आर्थिक स्थिरता के लिए बड़ा खतरा है. उन्होंने कहा कि यूरोप में जिस तरह से शरणार्थियों के नाम पर तेजी से घुसपैठ हो रही है उससे सबक लेते हुए हम संभले हुए हैं. प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव प्रताप रूढ़ी ने कहा कि बूथ स्तर को केन्द्रित करके योजना बनायी जानी चाहिए. बूथ स्तर तक पार्टी सशक्त हो इसके लिए कार्यकर्ताओं को तैयार रहना होगा. पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा सांसद गोपाल नारायण सिंह सहित कई अन्य वक्ताओं ने भी प्रशिक्षण शिविर को संबोधित किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.