Skip to content Skip to navigation

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन रोके जाने से 30 बच्चों की मौत

News Wing
Gorakhpur, 11 August: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन रोके जाने जाने से 30 बच्चों की मौत हो गयी. मरने वालों में 13 बच्चे एनएनयू वार्ड और 17 इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती थे. बताया जा रहा है कि 69 लाख रुपये का भुगतान न होने की वजह से ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी ने ऑक्सीजन की सप्लाई गुरुवार की रात से ठप कर दी थी. इसके कारण इन बच्चों की जान चली गयी. बीआरडी मेडिकल कालेज में दो साल पहले लिक्विड ऑक्सीकजन का प्लांनट लगाया गया था. इसके जरिए इंसेफेलाइटिस वार्ड सहित करीब तीन सौ मरीजों को पाइप के जरिए ऑक्सी जन दी जाती है. शुक्रवार सुबह सात बजे ऑक्सीसजन पूरी तरह खत्मि हो जाने के चलते इंसेफेलाइटिस वार्ड में करीब दो घंटे तक मरीजों को अम्बूस बैग के सहारे रहना पड़ा. 12 बजे कुछ सिलेंडर पहुंचे लेकिन इंसेफेलाइटिस इमरजेंसी वार्ड में अभी भी सिलेंडरों की क्राइसिस बनी हुई है. इंसेफेलाइटिस के वार्ड नंबर 100 में हर डेढ़ घंटे में 16 सिलेंडर खर्च हो रहे हैं, चारों तरफ अफरातफरी मची हुई है. गौरतलब है कि यह अस्पताल प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद में आता है. पिछली 9-10 तारीख को खुद मुख्यमंत्री ने इस अस्पताल का दौरा किया था. उसके बाद भी इस तरह की लापरवाही सामने आई है.

Slide
Share
loading...