Skip to content Skip to navigation

लालू का नीतीश-मोदी पर आरोपः भागलपुर में हुआ है 1000 करोड़ का घोटाला

News Wing

Ranchi, 10 August: रांची सीबीआई कोर्ट में पेशी पर आए लालू यादव ने मीडिया के सामने बिहार के सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील पर संगीन आरोप लगाए. लालू यादव का कहना है कि भागलपुर में जो भी घोटाला हुआ है, वह नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने मिलकर किया है. दोनों की भूमिका इस घोटाले में संदिग्ध है. लालू यादव ने कहा कि यह सारे घोटाले 2005 और 2016 के बीच हुए हैं. अभी यह घोटाला 300 करोड़ का बताया जा रहा है. जो असल में 1000 करोड़ रुपया का है. जिस दौरान घोटाले हुए हैं, उस दौरान बिहार के सीएम की कुर्सी पर नीतीश थे और वित्त विभाग की जिम्मेदारी सुशील मोदी की थी. जब ये घोटाला उन दोनों के रहते हुआ है, तो कैसे मान लिया जए कि उनकी भूमिका नहीं है. लालू ने आरोप लगाने के बाद केंद्र सरकार से मामले की सीबीआई की जांच कराने की बात कही. लालू ने नीतीश पर आरोप लगाया कि जीरो टॉलरेंस की बात कह कर नीतीश सारे घोटाले कर रहे हैं. वो कंबल ओढ़ कर घी पीने का काम कर रहे हैं. 

क्या है पूरा मामला 

बिहार सरकार द्वारा भागलपुर जिला प्रशासन के तीन सरकारी बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर हुए थे.  इस सरकारी राशि को सृजन महिला संस्था नामक एक गैर सरकारी संगठन के छह बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया गया. सृजन संस्था का संचालन मनोरमा देवी करती थी. साल 2005 से चल रहे इस खेल में सरकार के स्तर से जितने भी चेक बैंक को सौंपे गए उन सभी चेक का भुगतान फरवरी तक होता रहा. फरवरी में मनोरमा देवी की मृत्यु के बाद बैंक ने सरकार के स्तर से जारी किए जा रहे चेक का भुगतान बंद कर दिए. फिलहाल सृजन महिला समिति एनजीओ की संचालक सरिता झा हैं. पुलिस सरीता झा समेत अन्य महिलाओं से भी पूछताछ कर रही है. साथ ही इंडियन ओवरसीज बैंक के मैनेजर व अन्य अधिकारियों से भी पूछताछ की जा रही है.

 

Slide
Breaking News
Share
loading...