Skip to content Skip to navigation

शरद यादव को लेकर जेडीयू सख्त, दिखाया जा सकता है बाहर का रास्ता

News Wing

Patna, 11 August: महागठबंधन से नाता तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने के बाद नीतिश कुमार और शरद यादव के बीच खटास जगजाहिर है. शरद यादव के पक्ष में राजेडी चीफ लालू यादव अब खुल कर बोल रहे हैं. ऐसे में जेडीयू पार्टी के अंदर का माहौल काफी गर्म है. बात अब यह चल रही है कि शरद यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. ऐसा हुआ तो पार्टी शरद यादव से राज्यसभा सांसद का भी पद छीन लेगी. 

शरद यादव ने शुरू कर दी है बगावत  

नीतीश कुमार और शरद यादव के बीच तनातनी के बीच शरद यादव ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. शरद यादव ने बिहार की तीन दिवसीय यात्रा शुरू करने की योजना बनायी है. साथ ही उन्होंने समान विचार वाले नेताओं यानि एंटी बीजेपी मानसिकता वाले नेताओं के साथ 17 अगस्त को दिल्ली में बैठक करने वाले हैं.  

अहमद पटेल को बधाई दे चुके हैं शरद 

गुजरात के राज्यसभा चुनाव में जेडीयू के एकमात्र विधायक छोटू भाई का अहमद पटेल के पक्ष में वोट डालने का समर्थन शरद यादव कर चुके हैं. साथ ही राज्यसभा सीट जीतने के बाद शरद यादव ने अहमद पटेल को बधाई भी दी. बिहार में महागठबंधन से नाता तोड़ने की नीतीश की नीति की शरद यादव खुलकर विरोध कर चुके हैं. ऐसे में जाहिर है  लालू के साथ शरद यादव की नजदीकी नीतीश कुमार को खटक रही होगी. अब देखना ये होगा कि पार्टी से नाता टूटने के बाद शरद यादव किसका हाथ थामते हैं. 

 

Top Story
Share
loading...