Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

मानसून में आभूषणों का यूं रखें ख्याल

नई दिल्ली: मानसून के मौसम में नमी और सीलन के चलते आभूषणों के काले पड़ जाने या खराब होने की संभावना ज्यादा रहती है। बारिश के इस मौसम में जड़ाऊ सोने के आभूषण गंदे हो सकते हैं या उन पर धूल जम सकती है। आभूषणों के साथ सिलिका पैकेट रख कर इन्हें नमी से बचाया जा सकता है। मानसून में आभूषणों को सुरक्षित रखने के संबंध में 'जिनारिया डॉट कॉम' के सह-संस्थापक स्वप्निल एगा और 'एसआरएस ज्वैलर्स' के निदेशक राहुल अग्रवाल ने ये सुझाव दिए हैं :

* आभूषणों के बक्से का अंदरूनी हिस्सा सॉफ्ट इंटीरियर वाला होना चाहिए। बढ़िया स्टर्डी बॉक्स आपके कीमती आभूषणों को बाहरी दबाव और नमी से बचाता है। जबकि अंदर से सॉफ्ट होने के चलते आभूषण सुरक्षित रहते हैं और खरोंच आदि नहीं पड़ते।

अलग-अलग खाने वाले बॉक्स खरीदें, जिससे हर गहने को अलग-अलग रखा जा सके, इससे उनके आपस में रगड़ खाकर टूटने, खरोंच पड़ने आदि की संभावना नहीं रहेगी।

* चांदी, सोने, मोती और हीरे के आभूषण एक ही कंटेनर में न रखें। एक साथ आभूषण रखने से उनमें खरोंच पड़ने या काला पड़ने की संभावना ज्यादा रहती है। चांदी और मोती के आभूषण काले या पीले पड़ सकते हैं या उनका रंग उड़ सकता है।

इन्हें एक साथ रखने से ये आपस में उलझ सकते हैं और टूट भी सकते हैं, इसलिए जिप लॉक बैग का इस्तेमाल करें। आप इन्हें फोल्ड करके आसानी से अलमारी में कपड़ों के बीच रख सकती हैं और हार या अंगूठी आदि को टूटने से बचा सकती हैं।

* जूलरी बॉक्स में सिलिका पैकेट रखें, इससे आभूषण सुरक्षित रहेंगे। सिलिका पैकेट नमी को सोख लेता है। आप आभूषणों को एयर टाइट बैग या बॉक्स में भी रख सकती हैं।

* बारिश के दिनों में नाजुक गहने पहनने से बचें, क्योंकि आभूषण का रंग उड़ सकता है। अगर पहनना जरूरी है तो फिर उन्हें बॉक्स में रखने से पहले अच्छी तरह से सुखा लें। सोने या प्लेटिनम के आभूषणों को ज्यादा देखभाल की जरूरत नहीं होती है, लेकिन चांदी के आभूषण आसानी से प्रभावित हो जाते हैं।

* मानसून के दौरान आभूषणों का रंग काला पड़ने की संभावना होने के चलते इन्हें सावधानीपूर्वक साफ करें। अपने आभूषणों को गर्म पानी से साफ करें और साफ कॉटन से पोछ कर सुखाएं।

Top Story
Share
loading...