Skip to content Skip to navigation

महिला विश्व कप में भारत 7 बार शीर्ष-4 में रहा

डर्बी (इंग्लैंड): क्या आप जानते हैं कि महिलाओं के विश्व कप टूर्नामेंट का आयोजन पुरुषों के विश्व कप टूर्नामेंट के आयोजन से दो साल पहले शुरू हुआ था।

जी हां, 1973 में महिला क्रिकेट विश्व के सफर की शुरुआत हुई थी और और तब से अब तक 10 बार इस टूर्नामेंट का आयोजन किया जा चुका है।

अब बारी है 11वें विश्व कप की, जिसका आयोजन 24 जून से इंग्लैंड में किया जा रहा है। उम्मीद है कि इस बार भारतीय महिला टीम इस खिताब को अपने नाम करने में सफल रहेगी।

इस 44 साल के सफर में आस्ट्रेलिया टीम का पुरुषों की तरह ही महिला क्रिकेट विश्व कप में भी दबदबा रहा है। उसने यह खिताब छह बार जीता है और तीन बार उसकी टीम दूसरे स्थान पर रही है, वहीं इंग्लैंड बेशक पुरुषों में आईसीसी टूर्नामेंटों में भाग्यशाली न रही हो लेकिन महिलाओं में वह विश्व कप टूर्नामेंट में आस्ट्रेलिया के बाद दूसरी सबसे सफल टीम रही है।

इंग्लैंड ने यह खिताब तीन बार अपने नाम किया है, जबकि इतनी ही बार उसे दूसरा स्थान हासिल हुआ। तीसरी सबसे सफल टीम न्यूजीलैंड की है, जिसने 2000 में अपनी मेजबानी में खिताब हासिल किया।

भारतीय टीम के लिए खिताब जीतने का सबसे अच्छा मौका 2005 में था, जब वह फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हारने के बाद दूसरे स्थान पर रही थी। हालांकि, भारत के लिए संतोष की बात यह है कि वह सात मौकों पर शीर्ष चार टीमों में जगह बनाने में कामयाब रही।

कभी पुरुष वर्ग के टूर्नामेंट में वेस्टइंडीज का दबदबा हुआ करता था, लेकिन आज उसकी टीम दुनिया की आठ चोटी की टीमों में भी नहीं है । हालांकि, विंडीज की महिला टीम ने देश में क्रिकेट को जिंदा रखा है। पिछले विश्व कप में उसकी टीम फाइनल तक पहुंची थी, लेकिन यहां भी ऑस्ट्रेलिया ने उसके बढ़ते कदमों को रोक दिया।

जहां तक मेजबानी का सवाल है, भारत तीन बार इसकी मेजबानी करके सबसे ऊपर है। इस बार इंग्लैंड की टीम इस रिकॉर्ड की बराबरी करेगी। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने दो-दो बार इसकी मेजबानी की है। ऑस्ट्रेलिया को केवल एक बार इसकी मेजबानी का अवसर मिला है।

अब तक चार मौकों पर मेजबान को चैम्पियन होने का अवसर मिला है। 1973 और 1993 में इंग्लैंड ने अपनी मेजबानी में खिताब अपने नाम किया, जबकि 1988 में यही कमाल ऑस्ट्रेलिया ने और सन 2000 में न्यूजीलैंड ने किया।

भारत ने 1978, 1997 और 2013 में इस विश्व कप की मेजबानी की। पहले मौके पर भारत को चौथा स्थान हासिल हुआ, जबकि 1997 में भारतीय टीम सेमीफाइनल तक पहुंची, लेकिन विश्व कप के पिछले पड़ाव में भारत अपनी मेजबानी में निराशाजनक प्रदर्शन के साथ सातवें स्थान पर लुढ़क गई। -सुनील कालरा

Top Story
Share

UTTAR PRADESH

News WingGajipur, 21 October : उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मोटरसाइकिल पर आए हमलावरों ने राष्ट्रीय स्...
News Wing Uttar Pradesh, 20 October: धनारी थानाक्षेत्र में पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक इनामी बदमाश औ...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us