Skip to content Skip to navigation

सोमवार 19 जून 2017

तिथि - दशमी - रात- 8 : 03 तक पक्ष- कृष्ण - मास - आषाढ , विक्रम सँवत्- 2074,शक् सँवत - 1939 हिजरी तारीख- 23 दिन - सोमवार ,महिना - रमजान ,वर्ष- 1438, , बगँला सँक्राति मास - मिथुन / आषाढ - तारीख- 4 बँगाब्द - 1424 / -----------------------------------------

सूर्योदय कालीन नक्षत्रादि
नक्षत्र - रेवती - दिन- 1 : 20 तक

योग- शोभन ,

****************************

राहुकाल - सुबह :07:05 से 09 :05 तक

.----------------------------------------

दिशाशूल - ( सोमवार)

पूरब ,वायव्य, अग्नि कोण जाना हो तो घी खाकर जाइए । -

-----------------------------------------------------------------

पर्व त्योहार- दशमी

मेष - आर्थिक मजबूती , रोजगार के साधन बढेगे , प्र॔म सम्बन्ध की प्रगाढता बढेगी ,
वृष- सरलता पुर्वक सफलता मिलेगी , घर गृहस्थी मे उन्नति होगी, योजना को पूरी होगी
मिथुन - अकारण उलझन , लाभ के अवसर मिलेगे ,मित्रो को सहयोग करगे ,सँघर्ष दिखेगा,
कर्क- प्रतियोगिता परीक्षाओ मे उन्नति ,जलीय पदार्थो से लाभ, गृहनियो को उपहार मिलेगा ,
सिह- नये आफर मिलेगे ,आत्म सन्तुष्टी , जनता मे आपके प्रति विश्वास जगेगा,
कन्या - मन अस्थिर रहेगा, मित्रो से दुरियाँ बढ सकती है, ,सँतान, मित्र और उपहार मिल सकते है.
तुला - चित मे चचँलता , परिजनो से विवाद , प्यार असफलता, महिलाओ से सावधान रहिए ,दुसरे की सेवा करेगे
वृश्चिक- उन्नति के अवसर , परिवार मे खुशहाली,नये मित्र मिलेगे, सुख का प्रयास और सफलता मिलेगी,
धनु - मानसिक असन्तोष और मन अस्थिर होगा, आत्म सम्मान मे चोट न लगे फकीरो की दुआ मिलेगी
मकर-- शरीर पीडा , उलझन , लेन देन मे होशियार रहिए , सावधानी से काम और यात्रा करे
कुम्भ - बेवकुफ मित्रो से लाभ लेगे , बडी खरीदारी होगी , नीले वस्तु से फायदा है
मीन - मन अस्थिर रहेगा, मित्रो से दुरियाँ बढ सकती है, यात्रा मे कष्ट के योग है ,सँतान, मित्र और उपहार मिल सकते है.

Role: author
पंडित रामदेव जी का परिचय: वर्तमान में रांची में निवास कर रहे पंडित रामदेव एक जाने माने ज्‍योतिषविद् हैं। सनातन संस्कृति के कर्णधार ,वैदिक और अध्यात्मिक व्यास परम्परा के प्राणधार,हमरी वैदिक चेतना के प्रहरी प्रतीक युवा सँत ,ज्योतिष,तंत्र , अध्यात्म के विद्यार्थी पँड़ित रामदेव पाण्डेय जी को पैतृक परम्परा से दादा पँ मुनीश्वर पाण्डेय जी के द्वारा ज्योतिष और कर्मकांड की शिक्षा मिली वही विद्या अध्यन के क्रम मे ही सोलहवे साल मे बाबा विश्वनाथ की कृपा से कचोडी गली वाराणसी मे रामायण पर प्रवचन कहने का सौभाग्य मिला , स्वँय विज्ञान के विद्यार्थी रहते हुऐ भी गृहस्थ अवधुत भैरवानन्द कापालिक चक्र तीर्थ उज्जैन ,बंगाल के तारासाधक आचार्य कल्याणी प्र चट्टोराज से तंत्र दीक्षा, श्री नारायण दत्त श्रीमाली जी जोधपुर , पँ शारदा प्र द्विवेदी मानस मर्मज्ञ (काशी -मिर्जापुर ) का साहचर्य बाल्यकाल से ही मिला , तो ज्योतिष-राशिफल, व्रत- त्योहार आदि से सम्बंधित हजारो लेख राष्ट्रीय अखबार एवँ मिडिया चैनल मे 2000 ई से प्रकाशित और प्रसारित हो रहा है ,पण्डित जी के द्वारा झारखंड, बिहार ,उत्तरप्रदेश, छतीसगढ,मे सँगीत मय श्री मद्द देवीभागवत ,भागवत, देव मन्दिर प्रतिष्ठा के कार्यक्रम हो रहे है ,माँ कामाख्या मन्दिर गोहाटी ,विन्ध्याचल, रज्जरपा छिन्नमस्ता मन्दिर मे कई तंत्र अनुष्ठान सम्पन्न हो चुके है ,कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंच को सम्बोधित कर चुके है।

मुंबई: मैक्सिम पत्रिका द्वारा किए गए सर्वेक्षण में दीपिका पादुकोण मैक्सिम हॉट 100 में पहले पायदान...

New Delhi: While many wait for the monsoon season to arrive, mucky roads and gloomy weather have...

अनीस बज्मी की मुबारकन अपनी रिलीज के करीब पहुंच रही हैं, और उत्साह को मंथन करने के लिए मुबारकन का...

डर्बी (इंग्लैंड): क्या आप जानते हैं कि महिलाओं के विश्व कप टूर्नामेंट का आयोजन पुरुषों के विश्व क...

loading...

Comment Box