Skip to content Skip to navigation

सीएम रघुवर ने गुमला में कार्तिक उरांव की प्रतिमा का किया अनावरण

गुमला: मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि राज्य से गरीबी को खत्म करने के लिये शिक्षा के क्षेत्र में विकास आवश्यक है तथा राज्य के प्रत्येक नागरिक को शिक्षित होना जरूरी है। उन्होंनें गुमला में पढ़ने की अभिलाषा रखने वाली बच्चियों की तारीफ करते हुए कहा कि अगर पढ़ार्इ में किसी भी प्रकार की परेशानी आती है तो सरकार पूरी तरह से सहयोग करने को तैयार है। वे गुरूवार को गुमला के सदर प्रखंड के फोरी पंचायत के आदिवासी विकास उच्च विद्यालय में आयोजित किसान मेला में आरर्इओ की 24 योजनाओं के उद्घाटन एवं शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे।

श्री दास ने विद्यालय प्रांगण में कार्तिक उरांव की प्रतिमा के अनावरण के दौरान कहा कि कार्तिक बाबा के विचार को फैलाएं और बतायें कि 20 वर्ष की काली रात जो बाबा द्वारा लिखी गर्इ थी वह कितनी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कार्तिक बाबा को सामाजिक कार्र्य की प्रतिमूर्ति बताते हुए कहा कि मूर्ति अनावरण का मुख्य उद्देश्य आने वाली पीढ़ी को प्रोत्साहित करेगा कि कैसे कार्तिक बाबा मुश्किल दौर में भी पढ़ार्इ तथा समाज सुधार के प्रति प्रतिबद्ध थे। केन्द्रीय सरना समिति के हाथों को मजबूत करे क्योंकि इनलोगों ने कार्तिक बाबा के सपना को पूरा करने का बीड़ा उठाया है। श्री दास ने बताया आने वाले समय में क्वालिटी एजुकेशन दिया जाएगा।

विद्यालय में मैने देखा है बच्चे बोरा लेकर स्कूल जाते है इन परेशानी को दूर करने के लिए सरकार ने फैसला लिया है कि लोकल मिस्त्री से जितना हो सके बेंच डेस्क बनवा कर आस पास के स्कूलों में सप्लार्इ किया जाय ताकि बच्चों को बेंच डेंस्क भी मिल सके और लोगों को रोजगार भी मुहैया करार्इ जा सके। विद्यार्थियों की पठन-पाठन की सुविधा के लिए विद्युतिकरण पूरे गांव एवं स्कूलों में 2018 तक पूरा करने का सरकार का लक्ष्य है। सभी जगहों पर बिजली या सोलर द्वारा विद्युत सप्लार्इ हेतु कार्य किया जा रहा है।

म्ाुख्यमंत्री ने कहा कि गुमला में शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए सरकार ने 95 विद्यालयों को +2 करने का निर्णय लिया है। जिससें यह विद्यालय भी अपग्रेड हो जाएगी। गुमला सिमडेगा के युवक-युवतियां खेल के क्षेत्र में बहुत आगे रहते है उन्हें खेलने के लिए स्टेडियम की आवश्यकता होगी जिसके लिए सरकार तेजी से कार्य कर रही है आने वाले अगले तीन माह में कार्य शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने सभी अभिभावकों को गांव के युवक-युवतियों को पलायन नहीं करने की अपील करते हुए कहा कि सरकार झारखण्ड में ही रोजगार उपलब्ध करायेगी। श्री दास ने बताया सरकार सभी गरीब-गुरबा को साथ लेकर चल रही है। उन्होंने सभी जरूरतमंद विधवाओं को पेंशन के साथ घर भी उपलब्ध कराने की बात कही।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री के द्वारा लघ्ाु सिंचार्इ विभाग, आर.र्इ.ओ. की कुल 24 योजनाओं का शिलान्यास एवं उदघाटन किया गया। विशेष प्रमण्डल गुमला के लगभग 11 करोड़ राशि की लागत की तीन योजनाओं, लघ्ाु सिंचार्इ प्रमण्डल गुमला की 36.5 करोड़ लागत वाली 19 योजनाओं, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की 6 करोड़ लागत वाली एक योजना तथा आर.र्इ.ओ. विभाग से दो करोड़ की तीन योजनाओं का शिलान्यास। कल्याण विभाग की ओर से चयनित 216 बेरोजगार युवक-युवतियों को स्वरोजगार अपनाने हेतु दो-दो लाख रूपये का चेक वितरण किया गया। करीब 250 लाभ्ाुकों के बीच वनाधिकार भ्ाू-स्वामित्व पट्टा का वितरण किया गया। साथ ही 100 राजस्व कर्मियों एवं अधिकारियों के बीच टैब का वितरण किया गया। इसके अलावे महिला सशक्तिकरण एवं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए विभिन्न प्रखण्डों से आए लगभग 500 सखी मण्डलों को एक-एक लाख रूपये का लोन चेक के माध्यम से मुख्यमंत्री के हाथों वितरित किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा 10 करोड़ रूपये से निर्मित घाघरा प्रखण्ड स्थित नवनिर्मित स्वास्थ्य केन्द्र के नये भवन का ऑनलाइन उदघाटन मुख्यमंत्री द्वारा किया गया।

Share
loading...