Skip to content Skip to navigation

उप्र के सोनौली बोर्डर से हिजबुल आतंकी नसीर गिरफ्तार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने महाराजगंज की नेपाल सीमा पर सोनौली बॉर्डर पारकर भारत में घुसने की कोशिश कर रहे आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी नसीर अहमद वानी उर्फ सादिक को गिरफ्तार किया। कड़ी सुरक्षा के बीच एसएसबी के हेड क्वार्टर लाए गए इस आतंकी से शनिवार देर रात चली पूछताछ में कई अहम जानकारी मिली है। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के प्रवक्ता दीपक सिंह ने रविवार को आईएएनएस से कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के डोलगाम गांव का निवासी नसीर अहमद (34) कश्मीरी कालीन और कश्मीरी सामान के विक्रेता के रूप में भारत में घुसपैठ का प्रयास कर रहा था, जब एसएसबी की प्रथम बटालियन ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

सिंह ने बताया कि अहमद जम्मू एवं कश्मीर के बुतपुरा गांव निवासी अपने साथी मोहम्मद शफी के साथ 10 मई को शारजाह के रास्ते पाकिस्तान के फैसलाबाद से नेपाल स्थित काठमांडू पहुंचा था।

आतंकी के खिलाफ सोनौली थाने में मुकदमा दर्ज कर मामले की विवेचना एंटी टेररिस्ट स्क्वायड (एटीएस) को सौंप दी गई है। अब एटीएस नसीर को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी और उसके साथियों के बारे में पता लगाएगी। आतंकी नसीर को हिजबुल मुजाहिदीन का खास स्लीपर सेल बताया जा रहा है।

एसटीएस प्रवक्ता के मुताबिक, पूछताछ में पता चला कि वह मूलत: जम्मू एवं कश्मीर राज्य के रामबन जिला के बनिहाल का निवासी है।

बताया गया है कि नसीर बनिहाल (कश्मीर) से पाकिस्तान चला गया और 2002-2003 में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ, जिसके बाद वह हिजबुल मुजाहिदीन के साथ कई आतंकवादी घटनाओं में शामिल रहा।

एटीएस ने बताया, "पूछताछ में पता चला कि नसीर वर्ष 2002 में बनिहाल में सेना के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हुआ, उसे दो 2 गोलियां लगी थीं। ठीक होने के बाद उसने पाकिस्तान में ऐके 47, एके 56, एसलएआर और असाल्टराइफल चलाने की तीन महीने की ट्रेनिंग ली। आतंकी नासिर में 2009 में पाकिस्तान के गुजरात राज्य के तहसील खारियन के लालामुसा की रहने वाली लड़की आशानईम से शादी की। यही पता उसके पाकिस्तानी पासपोर्ट में भी दर्ज है।"

पूछताछ में नसीर ने बताया कि उसके साथ एक और व्यक्ति भी आया था। ये फैसलाबाद से शारजाह पहुंचे और शारजाह से काठमांडू आए। वे लोग गोरखपुर में रुकने वाले थे। इसलिए वे सोनौली के रास्ते गोरखपुर जा रहे थे।

पकड़े गए आतंकी के खिलाफ सोनौली थाना (महाराजगंज) में मुकदमा दर्ज किया गया है। अब यह मामला एडीजी कानून व्यवस्था आदित्य मिश्रा के आदेश पर एटीएस को स्थानांतरित कर दिया गया है। अब इस मामले की विवेचना एटीएस करेगी।

प्रवक्ता ने बताया, "एटीएस गिरफ्तार आतंकी नसीर अहमद को पुलिस रिमांड पर ले कर पूछताछ करेगी। एटीएस आतंकी से उसके साथियों के बारे में पता करेगी। साथ ही उससे उसकी आतंकी गतिविधियों और भारत में वह किस मकसद से आया था, इस बारे में पूछताछ करेगी।"

Top Story
Share
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us