Skip to content Skip to navigation

टेलर ब्रिदशी की हर पोशाक 2000 यूरो की होती है

वेनिस का कार्निवाल पूरी दुनिया में अपने रंगबिरंगे कॉस्ट्यूम्स और मुखौटों से सजे लोगों की परेड के लिए मशहूर है। लेकिन इन दिलफरेब पोशाकों को बनाता कौन है, चलिए जानते हैं।
पिआजा सान मार्को वेनिस में कार्निवाल की तैयारियों का केंद्र रहता है। इसी जगह के जरिये शहर सैलानियों के सामने सैकड़ों साल की पंरपरा पेश करता है। मुखौटों से लेकर लिबास और जूते बनाने वालों तक, सब कारीगर कार्निवाल के जरिये अपनी प्रतिभा दिखाते हैं।
डिजायनर फ्रांचेस्को ब्रिदशी बीते दो दशकों से ऐतिहासिक पोशाकें तैयार कर रहे हैं। कार्निवाल के दौरान वो खुद भी 17वीं शताब्दी के वेनिस वाली पोशाक में रहते हैं। वह कहते हैं, "यह इतिहास में कूदने जैसा है, इसकी मदद से वाकई पता चलता है कि फैशन कैसे बदलता है। हर ड्रेस बिल्कुल नयी होती है क्योंकि मैंने उसे पहले नही बनाया होता। मैं दो एक जैसी पोशाकें कभी नहीं बनाता।"
ब्रिदशी वेनिस के एक मशहूर टेलर हैं जिन तक पहुंचने के लिए भूलभुलैया जैसी गलियों से गुजरना पड़ता है। उनके स्टोर में करीब 400 कॉस्ट्यूम हैं, हर किसी का दाम दो हजार यूरो है। हर कट ऐतिहासिक पैटर्न के हिसाब से है, कपड़ा भी हाई क्वालिटी का है। ब्रिदशी ने अपने स्टोर का नाम बारोक काल के पेंटर पिएत्रो लोंगी के नाम पर रखा है। वेनिस के लोगों के दिल में पुरानी पेंटिंग्स के लिये खास जगह है। ब्रिदशी पोशाक किराये पर भी देते हैं, लेकिन नाप लेने के बाद।
वह कहते हैं, "लोगों को यहां आकर पता चलता है कि हम क्या कर रहे हैं। वे देखते हैं कि लोग इन्हें हाथ से बना रहे हैं, वे उनसे बात भी करते हैं। आज की दुनिया में ऐसा मुश्किल से मिलता है।"
ब्रिदशी के स्टोर पर आए मासिमिलानो फ्रात्सोनी एक ऐसी पोशाक चाहते थे जो उन्हें 16वीं सदी के संभ्रात पुरुष के किरदार में ढाल दे। और ब्रिदशी ने उनकी यह इच्छा पूरी कर दी और उनके लिए गॉर्जिएरा बनाया। वह बताते हैं, "यह आठ मीटर लंबे रेशे से हाथ से बनाई गई है। हाथ से ही सिली गई है। इसे बनाने में पूरे दो दिन लगते हैं।"
आखिर में तरह तरह के लिबासों में सजे लोग पूरे उत्साह से कार्निवाल मनाते हैं। शहर के कार्निवाल सेंटर में रंग बिरंगी पोशाकों में छिपे लोग जादुई शहर को और जीवंत बना देते हैं। (साभार: डीडब्‍लूकॉम)

Share
loading...