Skip to content Skip to navigation

आईपीएल : अय्यर ने दिलाई दिल्ली को जीत

कानपुर: मैन ऑफ द मैच श्रेयस अय्यर (96) की एकतरफा बल्लेबाजी के दम पर दिल्ली डेयरडेविल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण के 50वें मैच में रोमांचक मुकाबले में बुधवार को गुजरात लायंस द्वारा रखे गए 196 रनों के लक्ष्य को दो गेंद शेष रहते हासिल कर शानदार जीत दर्ज की। ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेले गए इस मैच में एक समय दिल्ली की जीत बेहद मुश्किल लग रही थी लेकिन विकेटों से गिरते सिलसिले के बीच अय्यर विकेट के एक छोर पर खड़े और अपनी टीम को जीत दिला ले गए।

हालांकि अंतिम ओवर में अय्यर के आउट होने के बाद मैच रोमांचक हो गया था। बासिल थंपी ने आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर अय्यर को बोल्ड किया। आखिरी ओवर में दिल्ली को नौ रन चाहिए थे। पहली गेंद पर अय्यर ने दो रन लिए लेकिन अगली गेंद पर आउट हो गए। दिल्ली को चार गेंदों में सात रनों की दरकार थी। अय्यर के बाद आए अमित मिश्रा (नाबाद 8) ने दो लगातार चौके मार दिल्ली को जीत दिलाई। अय्यर ने 57 गेंदों की अपनी आतिशी पारी में 15 चौके और दो छक्के जड़े।

हालांकि इस मैच का असर प्लेऑफ में नहीं पड़ेगा क्योंकि दोनों टीमों पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई हैं। इस जीत के बाद दिल्ली ने गुजरात को छठे स्थान से बेदखल कर दिया है।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को एक बार फिर अच्छी शुरुआत नहीं मिली। उसने अपना पहला विकेट 11 के कुल योग पर संजू सैमसन (10) के रूप में खो दिया। चार रन बाद दिल्ली के प्रमुख बल्लेबाज ऋषभ पंत एक चौका मार रन आउट हो गए।

करुण नायर (30) और अय्यर तीसरे विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी कर दिल्ली को जीत की उम्मीद दिलाई लेकिन नायर, जेम्स फॉल्कनर के धीमी गेंद को भांपने में गलती कर बैठे और गेंद हवा में गई जिसे ड्वायन स्मिथ ने अपने हाथों में लेने में कोई गलती नहीं की।

इसके बाद मार्लन सैमुएल्स (1) और कोरी एंडरसन (6) को रवींद्र जडेजा ने बेहतरीन रन आउट कर दिल्ली को बड़े झटके दिए साथ ही उसकी जीत की उम्मीदों को कमजोर कर दिया, लेकिन अय्यर ने अपने खेल में कोई बदलाव नहीं किया और लगातार तेजी से रन बनाते हुए दिल्ली को जीत के करीब ले गए। दिल्ली ने अंत के पांच ओवरों में 67 रन जोड़े।

इससे पहले, एरॉन फिंच (69) और दिनेश कार्तिक (40) ने बेहतरीन पारियां खेल गुजरात लायंस को खराब शुरुआत से उबारते हुए निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट खोकर 195 रन बनाए।

बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर पहले बल्लेबाजी करने उतरी गुजरात का रन औसत तो शुरू से ठीक रहा, लेकिन विकेट जल्दी गिर जाने से वह संकट में आ गई।

गुजरात ने सातवें ओवर तक 56 के कुल स्कोर पर स्मिथ (8), कप्तान सुरेश रैना (6) के साथ युवा बल्लेबाज ईशान किशन के रूप में तीन विकेट गंवा दिए थे।

स्मिथ और रैना एक छोर से संघर्ष करते दिखे लेकिन किशन ने दूसरे छोर से तेजी से रन बनाए और अपनी टीम के स्कोरबोर्ड को तेज रखा। उन्होंने 25 गेंदों में पांच चौके तथा एक छक्के की मदद से 35 रनों का पारी खेली।

किशन के जाने के बाद फिंच और कार्तिक ने चौथे विकेट के लिए 9.4 ओवरों में 9.51 की औसत से 92 रन जोड़े। कार्तिक अपना अर्धशतक पूरा नहीं कर पाए। 17वें ओवर की पहली गेंद पर कार्लोस ब्राथवेट ने उन्हें एंडरसन के हाथों कैच कराया। उन्होंने 28 गेंदों की पारी में चार चौके तथा एक छक्का लगाया।

अगली ही गेंद पर फिंच ने छक्का मार अपने पचास रन पूरे किए। इसी ओवर में जडेजा ने ब्राथवेट पर एक चौका और आखिरी गेंद पर फिंच ने भी चौका जड़ा। 39 गेंदों में चार छक्के और छह चौके लगाने के बाद फिंच 19वें ओवर में मोहम्मद शमी की गेंद पर बोल्ड हो गए।

जडेजा और फॉल्कनर ने अंत में क्रमश: 13 और 14 रनों की नाबाद पारी खेल टीम को 195 के स्कोर तक पहुंचाया।

Top Story
Share

आध्यात्म

News Wing

Ranchi, 25 September: रांची के हरिमति मंदिर में साल 1935 से ही पारंपरिक तर...

Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us