Skip to content Skip to navigation

बिहार में आंधी-बारिश से जनजीवन प्रभावित, 15 की मौत

पटना: बिहार के कई जिलों में मंगलवार की सुबह आई तेज आंधी और बारिश से अब तक 15 लोगों की मौत हो गई, वहीं फसलों को भी नुकसान पहुंचने की सूचना है। इस बीच बिहार सरकार ने आंधी व बारिश से हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश प्रभावित जिले के अधिकारियों को दिया है। इधर, राज्य सरकार ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये बतौर मुआवजा देने की घोषणा की है।

आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मंगलवार सुबह आई तेज आंधी तूफान से राजधानी पटना समेत बिहार के अधिकांश जिलों में जान माल का नुकसान हुआ है। आंधी और बारिश के दौरान कुल 15 लोगों की मौत हुई है, जिसमें सात लोगों की मौत वज्रपात से हुई है। अन्य लोगों की मौत दीवार, इमारत, पेड़ गिरने से हुई है।

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार, आंधी और बारिश के दौरान सबसे अधिक मधुबनी जिले में तीन लोगों की मौत हुई है, जबकि बेगूसराय, औरंगाबाद, लखीसराय और सुपौल जिले में दो-दो लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा भी कुछ जिलों में आंधी-बारिश लोगों के मरने की खबर है।

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मृतक परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए मृतक के शोकसंतप्त परिवारों को जल्द से जल्द चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने तूफान के दौरान राज्य के खेत-खलिहान में हुए फसलों के नुकसान का सर्वेक्षण कर उसके नुकसान की भरपाई का निर्देश दिया है।

उन्होंने बताया कि 15 मृतकों में से 14 के परिजनों को मुआवजे की राशि उपलब्ध करा दी गई है।

इधर, बिहार राज्य आपदा प्राधिकरण के उपाध्यक्ष ब्यास जी ने कहा कि आंधी और बारिश के कारण आम और लीची की फसल को भी काफी नुकसान हुआ है।

इधर, अपुष्ट खबरों के मुताबिक राज्यभर में आंधी बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने सहित कई कारणों से 17 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

सुबह करीब साढ़े पांच बजे अचानक तेज आंधी चलने लगी और तेज गरज से साथ बारिश होने लगी। तेज धूल भरी आंधी के कारण कई घरों के शीशे भी टूट गए तथा कई जगहों पर पेड़ गिर गए, जिससे कई जगहों पर आवागमन प्रभावित हुआ। अचानक आई आंधी और तेज बारिश से पटना के कई इलाकों में घंटों बिजली गुल रही।

उल्लेखनीय है कि मौसम विभाग ने पूर्व में ही आंधी और बारिश को लेकर चेतावनी जारी की थी।

Lead
Share

More Stories from the Section

Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us