Skip to content Skip to navigation

अब बकाएदारों के खिलाफ शुरू हो सकेगा दिवालिया प्रक्रिया

नई दिल्ली: बैंकिंग विनियमन अधिनियम में संशोधन के लिए शुक्रवार को अध्यादेश की घोषणा से बैंकों को दिवालियापन संहिता के तहत कर्ज नहीं चुकाने वालों के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने का अधिकार मिला है। इस अध्यादेश पर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने शुक्रवार को हस्ताक्षर किए, जिसमें यह प्रावधान है कि केंद्र सरकार भारतीय रिजर्व बैंक को किसी भी बैंकिंग कंपनी को यह निर्देश देने के लिए अधिकृत करती है कि वह कर्ज नहीं चुकाने वाले के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करे।

आरबीआई इसके बाद एक या इससे अधिक अधिकारियों या समितियों का गठन कर सकती है जो फंसे हुए कर्ज से जूझ रहे बैंकों को उसके समाधान का तरीका सुझाएगी।

अध्यादेश में कहा गया है कि बैंकिंग प्रणाली में फंसे हुए कर्ज अस्वीकार्य रूप से उच्च स्तर पर पहुंच चुके हैं और इसके समाधान के लिए आपात कदम उठाने की आवश्यकता है।

इस अध्यादेश को बुधवार को मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी थी, जिसके बाद इसे राष्ट्रपति के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा गया।

वित्त राज्यमंत्री संतोषकुमार गंगवार ने बताया, "यह अध्यादेश आरबीआई की ताकत बढ़ाएगा ताकि वह फंसे हुए कर्जो से निपट सके।"

Top Story

मुंबई: मैक्सिम पत्रिका द्वारा किए गए सर्वेक्षण में दीपिका पादुकोण मैक्सिम हॉट 100 में पहले पायदान...

New Delhi: While many wait for the monsoon season to arrive, mucky roads and gloomy weather have...

नई दिल्ली: बॉलीवुड और सरकार के बीच करीबी बढ़ती जा रही है। सरकारी विज्ञापन में फिल्मी हस्तियां नजर...

डर्बी (इंग्लैंड): क्या आप जानते हैं कि महिलाओं के विश्व कप टूर्नामेंट का आयोजन पुरुषों के विश्व क...

loading...