Skip to content Skip to navigation

अश्लील साइटों के लिए अपने यौन कृत्यों का लाइव स्ट्रीमिंग करनेवाले भारतीय युगलों की बढ़ती संख्या- साइबर विशेषज्ञों की चेतावनी

दिल्‍ली/न्‍यूयार्क: एक अनुमान के मुताबिक, 2000 से ज्यादा वयस्क पोर्न पोर्टलों को सामग्री प्रदान कर रहे हैं और बदले में डिजिटल मुद्रा की जबरदस्‍त कमाई कर रहे हैं।
हैदराबाद के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को अश्लील रूप से लाइव स्ट्रीमिंग सेक्स करने के लिए छह महीने के लिए एक अश्लील साइट पर अपनी पत्नी के साथ गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद यह मुद्दा सामने आया।
एक वरिष्ठ प्रवर्तन एजेंसी अधिकारी ने कहा, इस मामले में पत्नी को कुछ भी पता नहीं था, लेकिन हजारों भारतीयों ने स्वेच्छा से इस अवैध व्यवसाय को अपना पूर्णकालिक नौकरी बना लिया है।
साइबर विशेषज्ञों के अनुसार, अश्लील सामग्री का ऑनलाइन कमाई में बड़ी भूमिका है और भारतीय सामग्री की भारी मांग है जो मांग पर सेक्स करने के लिए युवा जोड़े को खींच रही है।
इनमें से कई जोड़े दुनिया की शीर्ष अश्लील वेबसाइटों पर छाए हुए हैं, जिनके पास बड़ा कस्‍टमर बेस है जो मिलियन तक पहुंच गया है, न्‍यूयॉर्क के एक अखबार की टीम द्वारा कुछ वयस्क साइटों के विश्लेषण में पूरा मामला सामने आया है।
दिल्ली साइबर अपराध विशेषज्ञ किस्लाव चौधरी ने कहा, 'किसी भी समय, 2,000 से ज्यादा सक्रिय उपयोगकर्ता हैं और कुल संख्या बहुत अधिक हो सकती है क्योंकि कई लोग केवल त्वरित पैसे के लिए अंशकालिक आधार पर ही काम करते हैं।' उनके मामलों में लाइव स्ट्रीमिंग का उपयोग इस तरह किया जा रहा है कि उसे आभासी दुनिया के 'स्ट्रिप क्लब' कहा जा सकता है।
जोड़े अपने दर्शकों को चुंबन और सेक्स के खिलौने का उपयोग करके लुत्फ उठाते हैं और अंत में निजी उपयोगकर्ताओं के लिए भुगतान करते हैं।
पेड शो में, वे सशुल्क उपयोगकर्ताओं की मांग के मुताबिक यौन क्रियाओं को अनुकूलित करते हैं और यहां तक ​​कि उच्चतम टाइपर के नाम भी लेते हैं।
सभी पैसे क्रिप्कोर्जेन्सी में दर्शकों द्वारा आवंटित युक्तियों या टोकनों के माध्यम से भुगतान किया जाता है।
एक दिन में, एक जोड़ी 35,000-60,000 रुपये (£ 433- £ 743) के बीच कमाई कर सकती है।
दीप शंकर, एक साइबर विशेषज्ञ ने बताया, 'पोर्न इंटरनेट पर एक पैसा स्पिनर है। वहाँ लेखकों, वीडियो / तस्वीर अपलोडर और लाइव स्ट्रीमर्स हैं।'
'वे नवीनतम रुझानों के अनुसार अपनी सामग्री को कस्टमाइज़ करते हैं और ज्यादा आंखों की मांग की मांग करते हैं, जिसका मतलब है कि अधिक पैसा'।
शंकर ने दावा किया है कि एक महीने में करीब 1 लाख रुपये 1.25 लाख रुपये (1,240 रुपये पाउंड 1,550 रुपये) हो सकते हैं, लेकिन 'प्रो-इंडियन' उपयोगकर्ताओं को एक महीने में 15 लाख रुपये (18,575 रुपये) की कमाई कर सकती है, जिसने इसे स्थायी व्यवसाय बना दिया है। कई जोड़ों के लिए इस तरह के लाइव प्रसारण की मेजबानी वाली लोकप्रिय वैश्विक अश्लील वेबसाइटें ही नहीं हैं, बल्कि मांग में बढ़ोतरी ने कई भारतीय वेबसाइटों को इस तरह के वीडियो होस्ट किए हैं।
विशेषज्ञों का कहना है कि हालांकि ऑपरेटिंग अश्लील वेबसाइटें भारत में अवैध हैं, लोग इसे रजिस्टर करते हैं और इसे पुलिस नेट से बचने के लिए पनामा जैसे स्थानों में पंजीकृत करते हैं।

Top Story

लॉस एंजेलिस: पॉप गायिका ब्रिटनी स्पीयर्स के उस वक्त होश उड़ गए, जब वह रसोई में खड़ी थी और किसी ने...

नई दिल्ली: देश के खादी फैशन हाउस को मजबूती देने के लिए खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी), सूक्ष्म,...

मुंबई: अभिनेत्री तापसी पन्नू ने 'जुड़वां' फिल्म के सीक्वल की लंदन चल रही शूटिंग पूरी कर ली है। वह...

मुंबई: सचिन तेंदुलकर के जीवन पर बनीं फिल्म 'सचिन : अ बिलियन ड्रीम्स' देखकर लोग क्रिकेट के मास्टर...

loading...