Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

डेविस कप : भारत ने उजबेकिस्तान को 4-1 से हराया

बेंगलुरु: भारत ने डेविस कप एशिया-ओसेनिया ग्रुप-1 सेकेंड राउंड मुकाबले में रविवार को उजबेकिस्तान को 4-1 से हरा दिया। रविवार को भारत को एक उलट एकल मुकाबले में हार मिली। इसके साथ भारत वल्र्ड ग्रुप प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर गया है। भारत को वल्र्ड ग्रुप प्ले ऑफ मैच अपने घर में सितम्बर में खेलना है।

रविवार को रामकुमार रामनाथन ने सांजार फेजीव को सीधे सेटों में हराते हुए भारत को 4-0 की बढ़त दिला दी थी लेकिन प्रजनेश गुनेश्वरम को दूसरे उलट एक मुकाबले में हार मिली।

प्रजनेश गुनेश्वरम को उजबेक खिलाड़ी तेमुर इस्मैलोव ने 7-5, 6-3 से हराया। यह मैच 70 मिनट चला।

तेमुर ने मैच के बाद कहा, "मैं अपनी टीम के लिए जीत चाहता था, फिर चाहे वह एक ही मैच में ही मिली हो। यहां की परिस्थिति काफी मुश्किल हैं। यहां गर्मी है। अपने घरेलू मैदान पर हम 20 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर खेलते हैं और यहां हमने 35 डिग्री सेल्सियस के तापमान में खेला है।"

इससे पहले, रामनाथन ने 22 साल के उजबेक खिलाड़ी को लगभग एक घंटे तक चले मुकाबले में 6-3, 6-2 से हराया था।

जीत के बाद रामानाथन ने कहा, "मैं आज घबराया हुआ नहीं था। मैंने आज और भी बेहतर प्रदर्शन किया। जिस प्रकार मैं चाहता था, मैंने उसी प्रकार खेला।"

भारतीय खिलाड़ियों ने पांच में चार मैच जीत लिए हैं। भारत ने इसके साथ ही वल्र्ड ग्रुप प्ले ऑफ के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

रोहन बोपन्ना और श्रीराम बालाजी की जोड़ी ने फारुख दुस्तोव और सांजार फेजीव को युगल वर्ग के मुकाबले में शनिवार को 6-2, 6-4, 6-1 से मात दी थी।

इससे पहले शुक्रवार को रामानाथ के अलावा प्रजनेश गुनेश्वरम ने अपनी अपने एकल वर्ग के मुकाबले में जीत हासिल की थी और भारत को 2-0 से बढ़त दिलाई थी। इस मैच में रामकुमार ने तेमूर इस्मेलोव को 6-2, 5-7, 6-2, 7-5 से और प्रजनेश ने फेजीव को 7-5, 3-6, 6-3, 6-4 से मात दी थी।

भारत ने शुक्रवार को 2-0 से बढ़त ली थी और इसके बाद शनिवार को युगल वर्ग का मैच जीतने पर वह 3-0 से आगे हो गया।

रामानाथन की जीत ने भारत को 4-0 से बढ़त दिला दी। एकल वर्ग में फेजीव के खिलाफ खेले गए मुकाबले में जीत के लिए उन्हें अधिक मेहनत नहीं करनी पड़ी।

फेजीव के खिलाफ अपना पहला सेट रामानाथ ने 37 मिनट के अंदर जीत लिया था। इसके बाद दूसके सेट में अच्छी शुरूआत करते हुए उन्होंने मुकाबले में 6-2 से जीत हासिल की।

Share
loading...