Skip to content Skip to navigation

छग में चिकित्सक से ANM तक की होगी भर्ती

रायपुर: छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग में इस बार चिकित्सक से लेकर एएनएम तक के विभिन्न पदों पर नई भर्ती की स्वीकृति दी गई है। प्रदेश के मुख्यसचिव विवेक ढांढ ने सोमवार को हुए एक बैठक का हवाला देते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बैठक में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ नए बजट पर चर्चा और आगे की कार्ययोजना पर विस्तार से विचार मंथन किया गया।

मुख्यसचिव ने मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित बैठक में जानकारी दी कि वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए 1483 करोड़ 82 लाख रुपये की नवीन वार्षिक कार्ययोजना का अनुमोदन किया गया है।

बैठक में मुख्य सचिव ने राज्य के विभिन्न चिकित्सालयों में विशेषज्ञों, चिकित्सा अधिकारी, स्टाफ नर्स, लैब टेक्निशियन, एलएचवी एवं एएनएम के रिक्त पदों की शीघ्र पूर्ति करने के निर्देश दिए। उन्होंने बस्तर संभाग के जिलों में प्राथमिकता से स्टाफ नर्स और लैब टेक्निशियन की भर्ती पर विशेष जोर दिया।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने प्रस्तुतिकरण के जरिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के वर्ष 2016-17 की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आगामी वित्तीय वर्ष की कार्ययोजना में शामिल किए गए विभिन्न प्रावधानों से भी अवगत कराया। इसमें मुख्य रूप से जननी सुरक्षा योजना के तहत संस्थागत प्रसव, टीकाकरण, पल्स पोलियो, राष्ट्रीय आयोडीन अल्पता विकृति नियंत्रण कार्यक्रम, राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय कुष्ट उन्मूलन कार्यक्रम, पुनरीक्षित टी.बी. नियंत्रण कार्यक्रम, राष्ट्रीय अंधत्व नियंत्रण कार्यक्रम, राष्ट्रीय वयोवृद्ध कार्यक्रम और राष्ट्रीय कैंसर, मधुमेह, हृदयाघात जैसे रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण आदि शामिल हैं।

साहू ने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में बेहतर सुधार हुआ है। इसके फलस्वरुप मात् मृत्युदर एवं शिशु मृत्युदर में काफी कमी आई है। साहू ने बताया कि प्रदेश में मातृमृत्यु दर वर्ष 2001 में प्रति एक लाख पर 407 थी, जो वर्ष 2011 से 2013 के बीच घटकर 221 रह गई। शिशु मृत्युदर वर्ष 2001 में प्रति एक हजार जीवित जन्म पर 76 थी, जो वर्ष 2015 में घटकर 41 रह गई।

बैठक में प्रमुख सचिव (श्रम) आर.पी. मंडल, सचिव (महिला एवं बाल विकास) डॉ. एम. गीता, सचिव (खाद्य) ऋचा शर्मा, सचिव (समाज कल्याण) सोनमणि बोरा सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Share
loading...