Skip to content Skip to navigation

निवेशक जमीन पसंद कर आगे बढ़ें, प्रक्रिया राज्य सरकार पूरा करेगी : CM

- निवेशकों के लिए झारखंड में लाल कालीन बिछी रहेगी
- मोमेंटम झारखण्ड सफल, वही करार हुए जो जमीन पर उतरेंगे
रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि मोमेंटम झारखण्ड वैश्विक निवेशक सम्मेलन को आशातीत सफलता मिली है और इस आयोजन में दुनिया भर की उद्योग – व्यापार बिरादरी, भागीदार राष्ट्रों, भारत सरकार और राज्य की जनता ने हमारी सरकार के संकल्प को मजबूती दी है|रांची के खेलगांव परिसर में आयोजित दो दिवसीय मोमेंटम झारखण्ड वैश्विक निवेशक सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस निवेशक सम्मेलन में 3 लाख 10 हजार 287 करोड़ रुपये के निवेश के कुल 210 करार हुए जिनके धरातल पर उतरने से 6 लाख 3 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा| उन्होंने स्पष्ट कहा कि राज्य सरकार ने अपने वादे के अनुरूप वही एमओयू हस्ताक्षरित किये हैं जो जमीन पर उतरनेवाले हैं|
प्रथम मोमेंटम झारखण्ड वैश्विक निवेशक सम्मेलन की विशेषताओं को रेखांकित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस निवेशक सम्मेलन में जो एमओयू हुए हैं उनमे से 79 हजार 496 करोड़ रुपये के 172 एमओयू ऐसे हैं जिन पर एक साल के भीतर काम शुरू हो जाएगा और दो साल के भीतर काम पूरा हो जाएगा, उत्पादन शुरू हो जाएगा| इस आरंभिक निवेश से ही राज्य के 1 लाख 56 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा| श्री दास ने कहा कि यह निवेशक सम्मेलन इस दृष्टिकोण से भी ख़ास था कि इसमें खनन और खदानों की चर्चा न के बराबर थी| ज्यादातर निवेश के करार कृषि, खाद्य प्रसंस्करण, टेक्सटाइल, पर्यटन आदि से ही सम्बंधित हैं| इस निवेशक सम्मेलन में बड़े उद्योगों की तुलना में मध्यम व लघु उद्योगों को प्राथमिकता दी गयी है| उन्होंने बताया कि झारखण्ड में शीघ्र ही मदर डेयरी का केंद्र भी खुलेगा और रांची व जमशेदपुर के बीच इसका संयंत्र लगेगा| चीन का एक प्रतिनिधिमंडल भी आज मिला है और 1200 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है| सम्मेलन में जूता निर्माण के संयंत्र लगाने का भी करार हुआ है| ख़ास बात यह भी है कि हर निवेश के साथ प्रशिक्षण की व्यवस्था का भी प्रावधान किया गया है|
मुख्यमंत्री ने कहा कि टेक्सटाइल से संबंधित निवेश के करारों पर 2 से 3 महीने में ही काम शुरू हो जाएगा और झारखण्ड के लोहरदगा जैसी जगहों की जो बालिकाएं गुडगांव जैसे बड़े औद्योगिक केन्द्रों में काम कर रही हैं, वे अपने घर लौटेंगी| श्री दास ने कहा कि झारखण्ड सरकार की पूरी प्रशासनिक मशीनरी पिछले एक साल से इस निवेशक सम्मेलन की तैयारी में लगी हुई थी| हमारा मानना है कि एक बेहतर सरकार वादों और नारों से नहीं बल्कि जन हितकारी नीतियों से चलती है| इसी सूत्रवाक्य को ध्यान में रखकर हमने नीतियों का सरलीकरण किया, नई नीतियां बनाईं| हिन्दुस्तान के बड़े शहरों और विदेशों में भी रोड शोज कर निवेशकों को झारखण्ड में निवेश का आमंत्रण दिया| अब जबकि दुनिया भर के निवेशकों ने झारखण्ड में निवेश करने की प्रतिबद्धता दिखाई है, हम उन्हें आश्वस्त करते हैं कि उन्हें हर प्रकार का सहयोग मिलेगा, सरकार का दरवाजा निवेशकों के लिए 24 घंटे खुले रहेंगे| निवेशकों की सुविधा के लिए ही मुख्यमंत्री निवेश प्रोत्साहन बोर्ड का गठन किया गया है| हर महीने निवेशकों की समस्याओं के निदान के लिए बैठक होगी और वे खुद उनकी समस्याएं सुनेंगे, उनका निराकरण करेंगे| उन्होंने कहा कि झारखण्ड में सदैव निवेशकों के लिए लाल कालीन बिछी रहेगी| उन्होंने स्पष्ट किया कि झारखण्ड में जमीन की कोइ समस्या नहीं है| जिन निवेशकों ने करार किया है उन्हें फ़ौरन जमीन देखने को कह दिया गया है, जैसे ही वे जमीन तय करेंगे राज्य सरकार सारी औपचारिकताएं पूरी कर उनके निवेश को अमली जामा पहनाने की प्रक्रिया शुरू करा देगी| मुख्यमंत्री ने पूरे उद्योग – व्यापार जगत से झारखण्ड के विकास में और इसके जरिये देश की समृद्धि में योगदान की अपील की|
(आईपीआरडी)

Share

UTTAR PRADESH

News WingGajipur, 21 October : उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मोटरसाइकिल पर आए हमलावरों ने राष्ट्रीय स्...
News Wing Uttar Pradesh, 20 October: धनारी थानाक्षेत्र में पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक इनामी बदमाश औ...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us