Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

अखिलेश-राहुल ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी किया, निशाना पीएम पर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को जहां एक तरफ पहले चरण के तहत मतदान हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 10 बिंदुओं वाला न्यूनतम साझा कार्यक्रम जनता के बीच पेश किया। दोनों ने कहा कि सरकार बनने पर इस साझा एजेंडे को लेकर ही उप्र का विकास किया जाएगा। लखनऊ स्थित होटल ताज में संवाददाता सम्मेलन के दौरान अखिलेश और राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला।

अखिलेश ने पहले न्यूनतम साझा कार्यक्रम के 10 बिंदुओं का उल्लेख किया। उन्होंने उप्र में गठबंधन की सरकार बनने पर फ्री स्मार्ट फोन, किसानों के फसलों का उचित मूल्य दिए जाने का वादा किया। साथ ही एक करोड़ गरीब परिवारों को एक हजार रुपये मासिक पेंशन देने की बात भी कही।

अखिलेश ने कहा कि पंचायत में महिलाओं को 50 प्रतिशत और सरकारी नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। कक्षा नौ से 12 तक की मेधावी छात्राओं को नि:शुल्क साइकिल दी जाएगी। छह शहरों में मेट्रो का और विस्तार किया जाएगा। उप्र 100 सेवा को अधिक विस्तृत किया जाएगा।

उन्होंने कहा, "यदि मोदी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे से यात्रा करें तो वह खुद भी सपा-कांग्रेस गठबंधन को वोट देंगे।"

वहीं, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, "उप्र में हम युवाओं की सरकार चाहते हैं। एक दूरदर्शी सरकार चाहते हैं।"

उन्होंने कहा कि सपा और कांग्रेस ने मिलकर 10 बिंदुओं पर एक साझा कार्यक्रम तय किया है। सरकार इसी एजेंडे पर काम करेगी और उप्र का विकास करेगी।

राहुल ने कहा, "हम उप्र में भाईचारे और मोहब्बत की सरकार बनाना चाहते हैं। प्रधानमंत्री ने दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन एक लाख से कम लोगों को ही वह रोजगार दे पाए।"

Top Story
Share
loading...