khas khabar

सुनिये माननीय, पूर्व विधायक आपके बारे में क्या कह रहे हैं...

Submitted by NEWSWING on Sat, 01/20/2018 - 20:39

विधानसभा में जो कुछ हो रहा है, उस पर न्यूज  विंग ने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी, पूर्व मंत्री समरेश सिंह, पूर्व मंत्री माधवलाल सिंह,  उमाकांत रजक, सुकुर रविदास, लक्ष्मण स्वर्णकार, गीताश्री उरांव समेत नौ पूर्व विधायकों से बात की. प्रस्तुत है बातचीत के अंश..

News Wing Team

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र इस बार फिर हंगामे की भेंट चढ़ता दिख रहा है. सीएस-डीजीपी मामले पर न विपक्ष पीछे हटने को तैयार है और न सरकार, लिहाजा लगातार सदन बाधित हो रहा है. पक्ष-विपक्ष के अड़ियल रवैये के कारण इस बार भी विधानसभा से जनसरोकार के मुद्दे गायब हो गये हैं.

सीआइडी ने कोर्ट को झूठ कहा है कि इंस्पेक्टर हरीश पाठक ने  NHRC को क्या बयान दिया, जानकारी नहीं

Submitted by NEWSWING on Sat, 01/20/2018 - 16:35

- 04 दिसंबर 2017 को हरीश पाठक ने सीआइडी को जो बयान दिया है, उसमें एनएचआरसी को दिए बयान का है जिक्र.

- हरीश  पाठक ने अपने बयान के साथ एनएचआरसी को दिए बयान की प्रति भी उपलब्ध करायी थी सीआइडी को.

बकोरिया कांड का सच-11 : जब्त हथियार से फायरिंग कर सार्जेंट मेजर ने मुठभेड़ का साक्ष्य बनाया, फिर जांच के लिए एफएसएल भेजा

Submitted by NEWSWING on Sat, 01/20/2018 - 13:55
Ranchi : आठ जून 2015 की रात पलामू जिला के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में हुए कथित पुलिस मुठभेड़ में नया तथ्य सामने आया है. इस कथित मुठभेड़ में नक्सली अनुराग और 11 निर्दोष लोग मारे गए थे. ताजा तथ्य यह है कि पलामू जिला के उस वक्त के सार्जेंट मेजर ने जब्त हथियारों से एक-एक फायर किया था. newswing.com के पास उपलब्ध दस्तावेज के मुताबिक पलामू के तत्कालीन सार्जेंट मेजर ने अपने ज्ञापांक-2909/रक्षित कार्यालय दिनांक 07.072015 के माध्यम से पलामू के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी को जांच प्रतिवेदन भेजा था. जिसमें सार्जेंट मेजर ने कहा है कि उन्होंने स्वयं ही फायरिंग करके हथियारों को सील किया है. जिसके बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने 10 जुलाई 2015 को जांच के लिए हथियारों को फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) भेजा.

उग्रवादी गोपाल ने JJMP के जिस पप्पू लोहरा दस्ता पर बकोरिया कांड को अंजाम देने की बात कही थी, उसी दस्ते का गुडडू यादव लातेहार में मारा गया

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/19/2018 - 18:58

Ranchi : लातेहार के सदर थाना क्षेत्र के जैर पहाड़ी पर 18 जनवरी को झारखंड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) का उग्रवादी गुडडू यादव मारा गया. पुलिस ने दावा किया है कि गुडडू यादव को एक मुठभेड़ में मार गिराया गया. मुठभेड़ के बाद पुलिस को जेजेएमपी के एक उग्रवादी का शव मिला, जबकि दस हथियार बरामद किए गए. गुडडू यादव जेजेएमपी का कुख्यात उग्रवादी था और वह पप्पु लोहरा दस्ते में था. जानकार बताते हैं कि गुडडू यादव, पप्पु लोहरा का दाहिना हाथ था.

कहीं पप्पु लोहरा भी तो नहीं मारा गया !

सांसद रामटहल के गोद लिये गांव में दो कमरे में दो शिक्षकों के भरोसे होती है नौ कक्षाओं की पढ़ाई (देखें वीडियो)

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/19/2018 - 18:33

Kumar Gaurav

Ranchi : अच्छे दिन के वादे के साथ सरकार का आना देशवासियों को एक नया सपना दिखाने जैसे था. एक सपना जो गांव, शहर, देश और समाज को बदलने की तस्वीर के साथ आया था. सरकार बनने के बाद जब सभी सांसदों को अपने संसदीय क्षेत्र के एक पिछड़े गांव को गोद लेकर उसे बदलने के आदेश दिये गये तो लगा कि अब पिछड़ेपन को दूर करने का यह सबसे बेहतर कदम है. पर सरकार के तीन साल पूरे हो जाने के बाद भी अनेकों गोद लिए गांवों की हालत जस के तस है.

देश के पांच वर्ष की उम्र के बच्चों में हर तीसरा बच्चा कुपोषण का शिकार, झारखंड के सबसे ज्यादा बच्चे हैं अंडरवेट

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/19/2018 - 12:45
नीति आयोग की पौष्टिक भारत ट्वीट ने देश में बच्चों के पोषण की स्थिति पर अहम खुलासा किया है. नीति आयोग के अनुसार हमारे देश में पांच वर्ष की उम्र के बच्चों में हर तीसरा बच्चा कुपोषण का शिकार है. कुपोषण के कारण ही देश के विभिन्न राज्यों के बच्चों में वजन की कमी, उंचाई की कमी, रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी जैसे विकार उत्पन्न हो रहे हैं.

जहां बकरियों के भाव बिकते हैं बच्चे-बच्चियां

Submitted by NEWSWING on Wed, 01/17/2018 - 13:02

Pravin Kumar, Ranchi: दिल्ली में खूंटी की बच्ची के हाथ जलाये गये, गर्म पानी फेंका गया यह राज्य के लिए पहली घटना नहीं है.

रांची के पहाड़ी मंदिर पर संकट, होता रहा निर्माण कार्य तो मिट जायेगा अस्तित्व

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 21:29

Asghar Khan, Ranchi: रांची के ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर के अस्तित्व पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. वैज्ञानिक मानते हैं कि पहाड़ी मंदिर लगभग 4500 मिलियन वर्ष पुराना है, जबकि कई जानकारों के अनुसार यह 900-1200 मिलियन वर्ष पुराना है. स्वतंत्रता आंदोलन के समय कई स्वतंत्रता सेनानियों को इसी स्थान पर फांसी दी गयी थी, जिसकी वजह से इसे फांसी टुंगरी भी कहा जाता है. इसी जगह पर 23 जनवरी 2016 को विश्व का सबसे बड़ा और उंचा तिरंगा झंडा फहराया गया.

हाल पूर्व सीएस सजल चक्रवर्ती का: जिसके आगे-पीछे कभी लगी रहती थी अफसरों की लाइन, आज वही ‘बेचारा’ अपनी हालत पर रिम्स में बहा रहा आंसू (देखें वीडियो)

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 19:10

Ranchi: चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता पूर्व मुख्य सचिव सजल चक्रवर्ती इन दिनों डिप्रेशन की हालत से गुजर रहे हैं. रिम्स के कार्डियक विभाग के कॉटेज में सजल 24 नवंबर 2017 से इलाजरत हैं. उन्हें सीने में दर्द व सांस लेने में तकलीफ की भी शिकायत है.

डीजीपी डीके पांडेय ने एडीजी एमवी राव से कहा था कोर्ट के आदेश की परवाह मत करो !

Submitted by NEWSWING on Fri, 01/12/2018 - 12:21

Ranchi: डीजीपी डीके पांडेय ने सीआइडी के तत्कालीन एडीजी एमवी राव से कहा था कि वह कोर्ट के आधेश की परवाह ना करें और बकोरिया कांड की जांच पर ज्यादा ध्यान ना दें. जबकि 24 नवंबर 2017 को झारखंड हाई कोर्ट ने बकोरिया कांड से संबंधित शिकायतवाद में सीआइडी को आदेश दिया था कि वह जांच पूरी करें. कोर्ट ने जांच से संबंधित कई निर्देश दिए थे. एमवी राव ने सरकार को जो पत्र लिखा है, उसके अंतिम पारा में इस बात का जिक्र है. उन्होंने लिखा है कि जब डीजीपी के इस गैरकानूनी आदेश को उन्होंने मानने से इंकार कर दिया और कहा कि मामले की जांच अभी चल रही है.

loading...
Loading...