National

#KarnatakaCongress ने #SC  से अयोग्यता मामले में सीएम येदियुरप्पा की आडियो क्लिप रिकार्ड पर लेने का अनुरोध किया   

NewDelhi : कर्नाटक कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट से सोमवार को अनुरोध किया कि प्रदेश के 17 विधायकों को अयोग्य ठहराये जाने के मामले में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा का आडियो क्लिप रिकार्ड पर लिया जाये. जिसमें वह बागी विधायकों के त्याग का जिक्र करते हुए कथित रूप से अपनी पार्टी के नेताओं को खरी खोटी सुना रहे हैं.

Jharkhand Rai

न्यायमूर्ति एन वी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि वह कर्नाटक कांग्रेस की ओर से पेश ताजा सामग्री पर विचार करने के लिए पीठ के गठन के बारे में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई से बात करेगी.

येदियुरप्पा का वह कथित ऑडियो क्लिप शुक्रवार को सामने आया था जिसमें वह पार्टी के उन नेताओं के प्रति नाराजगी जता रहे थे जो अयोग्य ठहराये गये कांग्रेस-जद (एस) के विधायकों को पांच दिसंबर को 15 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए टिकट दिये जाने का विरोध कर रहे थे. यह क्लिप हुबली में पार्टी की बैठक का है.

उक्त ऑडियो में येदियुरप्पा कथित तौर पर कह रहे हैं कि बागी विधायकों को गठबंधन सरकार के अंतिम दिनों में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की निगरानी में मुंबई में रखा गया था.

Samford

इसे भी पढ़ें : #Fadnavis भाजपा अध्यक्ष #AmitShah से  मिले,  विश्वास जताया, महाराष्ट्र में जल्द ही नयी सरकार बनेगी

अयोग्य घोषित  17 में से 15 विधायकों की सीटों पर पांच दिसंबर को उपचुनाव  

अयोग्य घोषित किये गये 17 में से 15 विधायकों की सीटों पर पांच दिसंबर को उपचुनाव होगा. इन विधायकों के त्यागपत्र और विश्वास मत के दौरान सदन से अनुपस्थित रहने की वजह से कुमारस्वमाी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार का पतन हो गया था और येदियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा सरकार सत्ता में आयी.

इन 15 निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी के स्थानीय नेताओं के विरोध के बीच येदियुरप्पा ने हाल ही में यह आश्वासन दिया था कि अयोग्य घोषित किये गये विधायकों को टिकट दिये जायेंगे, यदि वे भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहेंगे.

येदियुरप्पा ने चुनाव में भाजपा की जीत या हार को एक अलग मामला बताते हुये कहा था कि अयोग्य घोषित किये गये विधायकों ने ही पार्टी को सत्ता में आने का अवसर प्रदान किया है.

सुप्रीम कोर्ट  ने इन विधायकों को अयोग्य घोषित करने के विधानसभा के तत्कालीन अध्यक्ष के आर रमेश कुमार के आदेश को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर 25 अक्टूबर को सुनवाई पूरी की थी. इन याचिकाओं पर फैसला जल्द आने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें : #JammuKashmir : श्रीनगर के भीड़भाड़ वाले बाजार में #Terrorists-attack, ग्रेनेड हमले में एक की मौत, 12 घायल

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: