मात्र 30 ड्रग इंस्पेक्‍टरों के भरोसे झारखंड की 17500 दवा दुकानें

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 06/14/2018 - 21:27

Ranchi: राज्य में 17500 दवा दुकानें हैं और मात्र 30 ड्रग इंस्पेक्टर हैं. ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि दवा की गुणवत्ता की जांच कैसे होती होगी. इस क्रम में रांची शहर में 13 सौ से अधिक दवा की दुकानें हैं, जबकि दवा दुकानों में मिलने वाली दवा की जांच के लिए के लिए मात्र छह ड्रग इंस्पेक्टर ही नियुक्त हैं. ऐसे में शहर के लोगों को कैसी दवाई मिल रही है इसकी जांच सही तरीके से नहीं हो पा रही है. इस पर सरकार भी चुप्पी साधे है. ड्रग इंस्पेक्टरों की कमी होने की वजह से सभी दवा दुकानों की जांच नियमित रूप से संभव नहीं हो पाती है. जब कभी गलत या खराब दवा की सूचना मिलती है तभी जांच की जाती है. दवा दुकानों से सैंपल लेने के बाद आने वाली रिपोर्ट की जानकारी भी किसी को नहीं दी जाती है. ऐसे में फायदा दवा विक्रेता उठा रहे हैं और खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है.

इसे भी  पढ़ें  :  रांची जिले के के 22 अंचलों में राजस्व कर्मचारी के एक तिहाई से ज्यादा पद खाली, जनता परेशान   

  रांची में ब्रांडेड दवाओं के नाम पर लूट मची है

  राजधानी रांची में ब्रांडेड दवाओं के नाम पर लूट मची हुई है. लोगों को इस लूट से बचाने के लिए सरकार ने कई कदम भी उठाये हैं. डॉक्टर को बड़े अक्षरों में प्रिस्क्रिप्शन पर दवा का नाम लिखने का आदेश दिया गया है. वहीं जेनेरिक दवा के लिए विशेष दवा दुकान खोले गये है जहां लोगों को सस्ती दर पर दवाइयां मुहैया कराई जा रही है. मगर इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यह है कि राजधानी में जो दवा बिक रही है उसकी गुणवत्ता क्या होगी इसके लिए कोई तंत्र ही नहीं है.

इसे भी पढ़ें -   नगर निगम ने कुमार गर्ल्‍स हॉस्‍टल को 48 घंटे में खाली करने का दिया आदेश, ऑफिस और ग्राउंड फ्लोर सील

दवा की जांच में दो-तीन महीने का लगता है वक्त

राजधानी में दवा की असलियत जानने के लिए ऐसे तो कोई व्यवस्था नहीं है. ग्राहकों को क्वालिटी की जांच करनी हो तो इसके लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है. इसकी वजह यह है कि यहां जांच के दौरान दवाओं के जो सैंपल लिये जाते हैं वह सेंट्रल लैब में भेजे जाते हैं. जहां दवा की जांच के बाद रिपोर्ट आती है. इसमें दो  से तीन  महीने का समय लग जाता है. ऐसे में दवा की गुणवत्ता की जांच जब तक की जायेगी बाजार में नया सैंपल जांच के लिए आ जाता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा