Skip to content Skip to navigation

बाल अधिकार आयोग ने रिम्स से मांगा जवाब, पूछा पैसे के अभाव में इलाज और दवा की क्या है व्यवस्था

News Wing

Ranchi, 14 September: झारखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर ने  रिम्स प्रबंधन से जांच के लिए 50 रुपये कम होने के कारण जांच नहीं होने से बच्चे की मौत के मामले में जानकारी मांगी है और कहा कि जगन्नाथपुर निवासी संतोष कुमार के एक साल के पुत्र श्याम की जांच किन परिस्थितियों में नहीं हो पायी थी. साथ ही ये भी पूछा है कि पैसे के अभाव में किसी व्यक्ति की जांच, इलाज और दवा की क्या व्यवस्था है?

इसे भी पढ़ें- कुपोषित होता झारखंड, शर्मिंदगी का सबब, चार लाख बच्चे कुपोषित

       

बता दे कि आयोग ने रिम्स प्रबंधन से चार सितंबर को इस संबंध में पत्र जारी कर यह जानकारी मांगी है, जिसके बाद रिम्स के निदेशक ने उपाधीक्षक डॉ गोपाल श्रीवास्तव को इस संबंध में जवाब तैयार करने को कहा है.

इसे भी पढ़ें- यह कैसा राज्य जहां इलाज के बिना रोज मासूम मर रहे... गुमला में फिर एक बच्चे की मौत

गौरतलब है कि 20 अगस्त  को रिम्स में एक वर्षीय श्याम की मौत हो गयी थी. श्याम के पिता संतोष उसे इलाज के लिए रिम्स लेकर आये थे. जिसके बाद चिकित्सक ने सीटी स्कैन कराने को कहा गया था लेकिन 50 रुपये कम होने की वजह से उसका जांच नहीं किया गया, और महज 50 रुपये के कारण उसकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें- रिम्स में ब्लड नहीं मिला, गर्भवती महिला की जान गई, दोषी कौन...?

Top Story
Share

Add new comment

Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us