Skip to content Skip to navigation

कहां-कहां उठाएगा इदारे शरीया रोहिंग्या मुस्लिमों का दर्द (देखिये वीडियो)

News Wing

Ranchi, 13 September: रोहिंग्या मुस्लिम मामले को लेकर इदारे शरीया के बैनर तले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने डोरंडा स्थित रिसलादार बाबा दरगाह के बाहर प्रदर्शन किया. स्टॉप कीलिंग इन बर्मा, भारतीय सरकार बर्मा मुस्लिमों की मदद के लिए आगे आये, बौद्धिष्ठ आतंकवादियों के खिलाफ यूएनओ कार्रवाई करे जैसे कई नारे लिखे फ्लैग को लेकर लोगों ने बर्मा के खिलाफ नारेबाजी कर अपना आक्रोश जाहिर किया. लोगों ने कहा कि बर्मा के मुस्लिमों के लिए भारत सरकार को आगे आना चाहिए. उनपर पर हो रहे जुल्म के खिलाफ आवाज उठाना चाहिए और बर्मा से अपनी जान बचा कर भाग रहे शरणर्थीयों को भारत में पनाह दिया जाना चाहिए.

पीएमओ, बर्मा एम्बेसी और यूनएओ को दिया जायेगा मेमोरेंडम

इदारे शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने कहा कि बर्मा में मुस्लिमों को मारा जा रहा है. उनके बच्चों को गाजर-मूली के तरह कत्ल कर दिया गया. 50 हजार रोहिंग्या मुसलमानों को मार दिया गया. लाखों लोग बेघर हो गए. इन सभी मुद्दों पर आज इस्तामाई दुआ की गई. उनके कत्ल और हो रहे जुल्म अल्लाह रहम अता फरमाए, ये दुआएं मांगी गई. कुतुबुद्दीन रिजवी ने बताया कि इसके बाद इदारे शरीया के केंद्रीय अध्यक्ष सह जदयू नेता गुलाम रसूल बलियावी की मौजूदगी में बर्मा सरकार के खिलाफ निंदा प्रास्ताव पारित किया गया, जिसे मेमोरेंडम की शक्ल में पीएमओ, बर्मा एम्बेसी और यूनओ तक भेजा जायेगा.

रोहिंग्या शरणार्थियों को भारत में दिया जाये पनाहः मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी

इसमें मांग जी जायेगी कि शीघ्र ही रोहिंग्या मुस्लिमों के कत्ल पर रोक लगाया जाए. उनपर इसके लिए दबाव बनाया जाए. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया को बौद्धिष्ठ आतंकवाद के खिलाफ आवाज उठाना चाहिए. भारत को रोहिंग्या मुस्लिमों की मदद के लिए आगे आना चाहिए ,साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से अनुरोध किया कि रोहिंग्या शरणर्थीयों को भारत में रहना दिया जाए.

 

 

Top Story
Share

Add new comment

Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us