Skip to content Skip to navigation

एथलीट प्रियंका पवार पर लगा 8 साल का प्रतिबंध, डोप टेस्ट में हुई फेल

News Wing

New Delhi, 12September: एशियाई खेल-2014 में महिला रिले में गोल्ड मेडल जीतने वाली धावक प्रियंका पवार पर डोप टेस्ट में असफल होने के कारण 8 साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है. प्रियंका को हैदराबाद में इंटर-स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशिप में प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया था. यह चैंपियनशिप पिछले साल 28 जून से दो जुलाई के बीच खेली गई थी. तब से उन पर अस्थायी प्रतिबंध था.

यह भी देखें:हॉकी: भारतीय महिला टीम ने बेल्जियम से 2-2 से ड्रा खेला

नाडा ने अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए सुनाया अपना फैसला सुनाया

प्रियंका को रियो ओलिंपिक-2106 में चार गुणा 400 मीटर रिले में चुना गया था, लेकिन बाद में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. उनकी जगह अश्विनी अकुंजी को टीम में शामिल किया गया था. राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए अपना फैसला सुनाया है.

लग सकता था अजीवन प्रतिबंध

नाडा के नियम के अनुसार अगर खिलाड़ी दो बार डोपिंग में पकड़ा जाता है, तो उस पर आठ साल से लेकर अजीवन प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है. खिलाड़ी के राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय पदक तत्काल प्रभाव से जब्त कर लिए जाते हैं.

यह भी देखें: कार दुर्घटना में बाल-बाल बचे टीम इंडिया के ऑलराउंडर सुरेश रैना

डोप टेस्ट में दो बार असफल रही प्रियंका

प्रियंका इससे पहले 2011 में भी डोप टेस्ट में असफल रही थीं. दो साल के प्रतिबंध के बाद वह 2013 में वापस आई थीं. उन्हें राष्ट्रीय शिविर में भी जगह मिली थी और इंचोन में खेले गए एशियाई खेलों में भी शामिल किया गया था.

 

Lead
Share

Add new comment

Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us